MP में ओलों की बारिश:सागर, गुना और अशोकनगर में शाम को गिरे ओले; होशंगाबाद में बारिश; भोपाल, ग्वालियर में छाए बादल

भोपाल5 महीने पहले

मध्यप्रदेश में बादल-बारिश का मौसम अगले दो दिन और रह सकता है। शनिवार शाम प्रदेश के कई हिस्सों में ओले गिरे। गुना, अशोकनगर, छिंदवाड़ा और सागर जिले के कई क्षेत्रों में जबर्दस्त ओले गिरे। ओलों के कारण खेत में फसलों को नुकसान पहुंचा है। होशंगाबाद में शाम को बारिश हुई। इससे कृषि उपज मंडी में रखा धान भीग गया। वहीं, भोपाल, इंदौर और ग्वालियर में शाम तक बादल छाए रहे।

मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने बताया कि प्रदेशभर में कहीं-कहीं भारी बारिश और ओले गिर सकते हैं। भोपाल के साथ ही ग्वालियर और बुंदेलखंड बेल्ट में इसका ज्यादा असर रहेगा। 12 जनवरी तक प्रदेश में इसी तरह मौसम रहने की संभावना है। पाकिस्तान से आई नमी भरी हवाओं का दूसरा सिस्टम एक्टिव होने से यह स्थिति बनी है।

मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि पोस्ट मानसून के बाद अब तक का यह सबसे स्ट्रांग सिस्टम है। इसी कारण प्रदेशभर में ज्यादा पानी गिर रहा है। इसका सबसे ज्यादा असर भोपाल, ग्वालियर और बुंदेलखंड पर पड़ रहा है। इसी कारण इन इलाकों में ज्यादा पानी गिर रहा है। रतलाम के तीतरी, कलोरी, सेमलिया, नेगडदा, बांगरोद, जड़वासा और सरसी गांव में ओले गिरे हैं। अशोकनगर के शाढ़ौरा क्षेत्र में भी शुक्रवार रात बारिश के साथ चने के आकार के ओले गिरे।

गुना के आरोन में शनिवार शाम ओले गिरे। इससे फसल भी खराब हो गई।
गुना के आरोन में शनिवार शाम ओले गिरे। इससे फसल भी खराब हो गई।

यहां तेज पानी गिरने का अलर्ट
अगले 6 घंटे के दौरान भोपाल, रायसेन, विदिशा, सागर, दतिया, श्योपुरकलां, मुरैना, भिंड, टीकमगढ़, निवाड़ी, छतरपुर और पन्ना में कहीं-कहीं तेज बारिश के साथ ओले गिर सकते हैं। हवाओं की रफ्तार 45 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है।

यहां हल्की बारिश
मौसम विभाग का अनुमान है कि श्योपुर, सीहोर, अशोकनगर, गुना, होशंगाबाद, नरसिंहपुर, दमोह, कटनी, रीवा और सतना में कहीं-कहीं हल्की बारिश हो सकती है। यहां पर हवाएं 30 किलोमीटर की रफ्तार से चल सकती हैं।

रतलाम के ग्रामीण इलाकों में रात में ओले गिरने के बाद सुबह इस तरह का नजारा दिखा।
रतलाम के ग्रामीण इलाकों में रात में ओले गिरने के बाद सुबह इस तरह का नजारा दिखा।

यहां पर बूंदाबांदी
प्रदेश के अन्य इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। खंडवा, जबलपुर, देवास, हरदा, खरगोन और रीवा समेत कुछ जगहों पर हल्की बौछारें पड़ सकती हैं। धार, बड़वानी, खरगोन, हरदा, खंडवा, शाजापुर, सीधी, दमोह और टीकमगढ़ में कहीं-कहीं हल्की बारिश हो सकती है।

9 और 10 जनवरी को यहां पानी गिरेगा
बैतूल, निवाड़ी, टीकमगढ़, छतरपुर, पन्ना, दमोह, बिलासपुर, रीवा और शहडोल संभागों में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना है।

शुक्रवार को सीहोर जिले में 8.5 mm बारिश रिकॉर्ड हुई।
शुक्रवार को सीहोर जिले में 8.5 mm बारिश रिकॉर्ड हुई।
शाजापुर में गुरुवार दोपहर से बारिश शुरू हुई, जो शुक्रवार रातभर रुक-रुककर होती रही।
शाजापुर में गुरुवार दोपहर से बारिश शुरू हुई, जो शुक्रवार रातभर रुक-रुककर होती रही।