• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Madhya Pradesh Weather Update; Rainfall Alert In Bhopal Indore Jabalpur Sagar Including 11 Districts

MP में बारिश:भोपाल में दोपहर बाद तेज बरसात; अशोकनगर में बिजली गिरने से महिला की मौत; इंदौर समेत 20 जिलों में रिमझिम

भोपाल9 महीने पहले
भोपाल में दोपहर बाद तेज बारिश हुई।

वातावरण में लगातार नमी के कारण मध्यप्रदेश में अब भी बारिश हो रही है। गुरुवार को दोपहर बाद भोपाल में बिजली की गड़गड़ाहट के साथ बारिश हुई। दिन में तेज धूप ने लोगों को परेशान किया, लेकिन दोपहर 3 बजे के बाद मौसम ने करवट ली। इधर, अशोकनगर में बिजली गिरने से एक महिला की मौत हो गई। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के दौरान इंदौर, सागर समेत 11 जिलों में गरज-चमक के बारिश होने की संभावना जताई है। इसे साथ ही जबलपुर और इंदौर समेत 10 जिलों में कहीं-कहीं हल्की बारिश होगी।

यहां बारिश होने संभावना
मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने बताया कि अगले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के करीब 11 जिलों में हल्की से मध्यम बारिश होगी। बालाघाट, सिंगरौली, सीधी, सागर, नरसिंहपुर, डिंडोरी, उमरिया, दमोह, अशोक नगर, गुना और विदिशा जिलों में कहीं-कहीं बारिश होने की संभावना है। वहीं, प्रदेश के करीब 10 जिलों में भी गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। रीवा, सागर, शहडोल, जबलपुर, ग्वालियर, चंबल, भोपाल, होशंगाबाद, उज्जैन, और इंदौर संभागों के जिलों में कहीं-कहीं बारिश रहेगी।

यहां पानी गिरा
मध्यप्रदेश में बीते 24 घंटों के दौरान अनूपपुर के बेनीबारी और मंडला में 1.5-1.5 इंच, बिछिया, डिंडोरी के सिटी, मेहदवनी, कटनी के बड़वारा में 1 इंच तक पानी गिरा। वहीं, पन्ना, सागर, छतरपुर, सतना, रीवा, जबलपुर, उमरिया, निवाड़ी, दमोह, शहडोल, नरसिंहपुर और टीकमगढ़ में बारिश हुई।

5 अक्टूबर तक बारिश होगी
गुजरात और राजस्थान से लगे 5 जिलों में मध्यम से तेज बारिश होगी। इसके साथ ही 1 अक्टूबर से 5 अक्टूबर के बीच प्रदेश भर में बारिश होगी। हालांकि यह सिस्टम ज्यादा मजबूत नहीं है। कुछ जिलों में तेज बारिश जरूर हो सकती है, लेकिन भोपाल, जबलपुर और होशंगाबाद जिलों में पानी गिरने की ज्यादा उम्मीद नहीं है। यहां देर रात गरज-चमक के साथ रिमझिम की संभावना है।

अरब सागर में स्ट्रांग सिस्टम बन रहा
वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने बताया कि अरब सागर के तट पर एक स्ट्रांग सिस्टम बन रहा है। इसके कारण 1 अक्टूबर से 5 अक्टूबर के बीच प्रदेश भर में बारिश होगी। इससे गुजरात और राजस्थान से सटे जिलों में ही पानी गिरेगा। इसके साथ ही बंगाल की खाड़ी में एक सिस्टम बन रहा है। इसके कारण 3 अक्टूबर तक ग्वालियर, चंबल, सागर और रीवा संभागों में बारिश होगी, लेकिन बहुत ज्यादा बारिश नहीं होगी।

अब सिर्फ 9 जिले रेड जोन में
लगातार रिमझिम के कारण प्रदेश की स्थिति पहले से बेहतर हो रही है। अब प्रदेश के 9 जिले ही रेड जोन में हैं। इसमें धार, होशंगाबाद, छतरपुर, दमोह, पन्ना, जबलपुर, सिवनी और बालाघाट में ही स्थिति ठीक नहीं हैं। शेष प्रदेश में अब सामान्य से अधिक बारिश जिलों की संख्या बढ़ी है। प्रदेश में अब तक सामान्य 38 इंच बारिश हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...