• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Madhya Pradesh Weather Update; Rainfall In Pachmarhi Bhopal Indore Jabalpur Sagar Last 24 Hours

MP में बारिश:पचमढ़ी में ढाई और सागर में एक इंच से ज्यादा पानी गिरा; भोपाल में तीन घंटे तक रिमझिम, अब 5 तक इसी तरह रहेगा मौसम

भोपाल9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल में बीते चौबीस घंटों के दौरान करीब 2 मिमी बारिश हुई। यह फोटो गुरुवार शाम करीब 4.30 बजे भदभदा पुल का है। फोटो - अनिल दीक्षित - Dainik Bhaskar
भोपाल में बीते चौबीस घंटों के दौरान करीब 2 मिमी बारिश हुई। यह फोटो गुरुवार शाम करीब 4.30 बजे भदभदा पुल का है। फोटो - अनिल दीक्षित

मध्यप्रदेश में मानसून की विदाई का दौर चल रहा है, हालांकि अब भी कहीं-कहीं रिमझिम और कुछ जगहों पर तेज बारिश हो रही है। बीते चौबीस घंटों के दौरान पचमढ़ी में सबसे ज्यादा करीब ढाई इंच बारिश हो गई, तो सागर में एक इंच से ज्यादा पानी गिर गया। भोपाल में दोपहर बाद पानी गिरा। करीब तीन घंटे तक रिमझिम होती रही। सुबह 8.30 बजे तक करीब 2 मिमी बारिश हुई। प्रदेश के अन्य इलाकों जैसे छिंदवाड़ा, मलजखंड, भोपाल शहर, सीधी, बैतूल, रायसेन, रतलाम, शाजापुर और होशंगाबाद में कहीं-कहीं पानी गिरा। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा के अनुसार अभी 5 अक्टूबर तक प्रदेश में इसी तरह मौसम रहेगा।

यह सिस्टम करा रहा बारिश

वैज्ञानिक साहा ने बताया कि वर्तमान में पूर्वोत्तर अरब सागर के ऊपर अत्यधिक निम्न दाब क्षेत्र प्रभावशाली होने के बाद चक्रवातीय तूफान में बदल सकता है। पाकिस्तान-मकरान तटों की ओर विस्थापित होने की संभावना बनी हुई है। वहीं उत्तरी झारखंड/ बिहार के क्षेत्रों में सुस्पष्ट निम्न दाब क्षेत्र सक्रिय है। दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी से लेकर आन्ध्र प्रदेश तक पूर्वी हवाओं के बीच एक ट्रफ लाइन गुजर रही है। इसी कारण प्रदेश में नमी आ रही है। यह सिस्टम अगले चार-पांच दिन बारिश कराएगा। हालांकि बहुत ज्यादा बारिश की उम्मीद अब नहीं है।

इसी तरह रिमझिम होगी

वैज्ञानिक साहा ने बताया कि दोनों तरफ से नमी आने से गुजरात और राजस्थान से लगे 5 जिलों में कहीं-कहीं मध्यम से तेज बारिश हो सकती है। इसके साथ ही 1 अक्टूबर से 5 अक्टूबर के बीच प्रदेश भर में बारिश होगी। हालांकि यह सिस्टम ज्यादा मजबूत नहीं है। कुछ जिलों में तेज बारिश जरूर हो सकती है, लेकिन भोपाल, जबलपुर ओर होशंगाबाद जिलों में पानी गिरने की ज्यादा उम्मीद नहीं है। दिन में तेज धूप और दोपहर बाद बादल छाने के साथ ही हल्की बौछारें पड़ सकती हैं। कहीं-कहीं तेज बारिश हो सकती है।

बुंदेलखंड में संकट

लगातार रिमझिम के कारण प्रदेश की स्थिति पहले से बेहतर हो रही है। अब प्रदेश के 9 जिले ही रेड जोन में हैं। इसमें धार, होशंगाबाद, छतरपुर, दमोह, पन्ना, जबलपुर, सिवनी और बालाघाट में ही स्थिति ठीक नहीं हैं। शेष प्रदेश में अब सामान्य से अधिक बारिश जिलों की संख्या बढ़ी है। प्रदेश में बारिश का कोटा पूरा हो चुका है, लेकिन कई इलाके खासतौर पर बुंदेलखंड के इलाके संकट में हैं।

खबरें और भी हैं...