NEET: कॉन्सेप्ट और मैथमेटिक्स पर करें प्रॉपर होमवर्क:फिजिक्स के सवालों को रटने की जगह समझने पर फोकस करें, अच्छा स्कोर कर सकेंगे

ग्वालियरएक महीने पहले

NEET में फिजिक्स (भौतिक विज्ञान) में स्टूडेंट को सबसे ज्यादा परेशानी आती है। एक्सपर्ट कहते हैं कि फिजिक्स में स्कोर करने का तरीका बहुत आसान होता है। फिजिक्स एक ऐसा सब्जेक्ट है, जो कॉन्सेप्ट और मैथमेटिक्स दोनों बेस पर होता है। स्टूडेंटस इसे रटने की कोशिश करते हैं। फिजिक्स के सवालों को रटने की जगह समझने पर फोकस करें तो स्कोर करने में कोई परेशानी नहीं होगी।

फिजिक्स में 65 से 67% सवाल कम कठिन होते हैं। ऐसे में यदि इन सवालों पर भी फोकस कर लिया जाए तो अच्छे नंबर लाए जा सकते हैं। फिजिक्स में 110 नंबर से अधिक लाने वाले स्टूडेंट्स का लगभग स्कोर 600 से ज्यादा होता है। कुछ इस तरह की एडवाइज मिली है हमारे एक्सपर्ट पंकज चाहर (रेजोनेंस इंस्टीट्यूट की ग्वालियर ब्रांच के फिजिक्स हैड) से...

कॉन्सेप्ट और न्यूमेरिकल्स पर टिका है फिजिक्स का फॉर्मूला

एक्सपर्ट कहते हैं कि NEET में फिजिक्स सब्जेक्ट को हल्के में नहीं लिया जा सकता। इसमें स्कोर करना बेहद जरूरी है। फिजिक्स का स्कोर ही स्टूडेंट का टोटल स्कोर प्रभावित करता है। फिजिक्स में 100 प्लस मार्क्स बहुत अच्छे माने जाते हैं। फिजिक्स को आमतौर पर छात्र कठिन मानते हैं, लेकिन रटने की जगह समझा जाए तो यह कठिन की जगह आसान लगने लगता है। फिजिक्स के पेपर कॉन्सेप्ट और मैथमेटिक्स पर आधारित होता है। अन्य विषयों की तुलना में फिजिक्स सब्जेक्ट की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें 65 से 67% सवाल सबसे आसान होते हैं, जबकि 33 से 35 % सवाल कठिन और अति कठिन की श्रेणी में आते हैं। ऐसे में आसानी सवालों पर फोकस कर अच्छा स्कोर किया जा सकता है।

NCERT की 11वीं और 12वीं की किताबों से आते हैं प्रश्न

NEET में फिजिक्स में पूछे जाने वाले ज्यादातर सवाल फार्मूलों पर आधारित होते हैं। यह वह फॉर्मूला होते हैं जो आपको NCERT की 11वीं और 12वीं की बुक में आसानी से मिल जाएंगे। साफ शब्दों में कहें तो NEET में सफलता का मूल मंत्र NCERT की 11वीं और 12वीं का कोर्स है। इन दो क्लास की बुक को अच्छे से समझ लिया जाए तो परीक्षा के समय काफी हेल्प मिलेगी साथ ही अच्छा स्कोर भी किया जा सकेगा।

मास्टर फॉर्मूला

जब NEET में फिजिक्स की बात आती है, तो फॉर्मूले तैयारी का एक अभिन्न हिस्सा होते हैं| यह आवश्यक है कि उम्मीदवार सभी फॉर्मूले को जानें और सीखें| नीट फिजिक्स के सभी महत्वपूर्ण फॉर्मूले और उनसे जुड़ी अवधारणाओं के साथ एक नोटबुक बनाए रखने की आदत विकसित करनी चाहिए|

लगातार अभ्यास करें

सभी जानते हैं कि NEET निकालने के लिए फिजिक्स की तैयारी के लिए कड़े अभ्यास की आवश्यकता होती है| सूत्रों से लेकर संख्यात्मक तक हर चीज का अच्छी तरह से अभ्यास करना होता है| नियमित अभ्यास व्यक्ति को विभिन्न प्रकार के प्रश्नों से परिचित कराता है और प्रश्नों को हल करते समय अवधारणाओं को लागू करना सीखने में भी मदद करता है|

टाइम योरसेल्फ

नीट फिजिक्स की तैयारी में समय एक प्रमुख भूमिका निभाता है| उम्मीदवारों को एक सीमित समय सीमा के भीतर भौतिकी के लिए NEET प्रश्न पत्र को हल करने का प्रयास करना चाहिए| यह उम्मीदवार की बढ़ती गति और वास्तविक परीक्षा के दिन के लिए मनोबल बढ़ाने में मदद करेगा|

रिवीजन के लिए रास्ता बनाएं

फिजिक्स की तैयारी करने वाले उम्मीदवारों के लिए नियमित रिवीजन की आदत विकसित करना जरूरी है| यह देखते हुए कि नीट भौतिकी के पाठ्यक्रम में कई अवधारणाएं और सूत्र हैं, परीक्षा तक विषयों को ताज़ा रखने का एकमात्र तरीका नियमित संशोधन है|

खबरें और भी हैं...