पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • New Year As Well As Entry Into The Mata Temples Of The State Restricted; Devotees Will Have To Do Pooja archana And Havan At Home

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नवरात्र उत्सव में कोराेना:दतिया के पीताम्बरा पीठ, मैहर में शारदा मंदिर, नलखेड़ा का बगला मुखी मंदिर समेत दूसरे माता मंदिर बंद, घर पर ही करें मां की भक्ति

मध्यप्रदेशएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
देवास टेकरी पर माताजी मंदिर में श्रद्धालुओं के दर्शन-पूजन पर राेक रहेगी। - Dainik Bhaskar
देवास टेकरी पर माताजी मंदिर में श्रद्धालुओं के दर्शन-पूजन पर राेक रहेगी।

प्रदेश के प्रमुख माता मंदिरों में नवरात्र में श्रद्धालु दर्शन-पूजन नहीं कर सकेंगे। कोरोना संक्रमण की वजह से अधिकांश मंदिरों में पहले से ही भीड़ पर प्रतिबंध लगा हुआ है। 13 अप्रैल से चैत्र नवरात्र शुरू हो जाएंगे। इसी दिन हिंदू नववर्ष का नया संवत्सर भी शुरू हो जाएगा। नवरात्र होने से पूरे हफ्ते देवी पूजा और व्रत-उपवास रहेंगे। श्रद्धालुओं को यह सब घर पर ही करना होगा। प्रदेश के प्रमुख माता मंदिरों में श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। निमाड़ के गणगौर पर्व पर भी कोरोना की पाबंदियों के चलते सार्वजनिक आयोजन नहीं होंगे।

सिद्धपीठ पीताम्बरा मंदिर
दतिया स्थित सिद्धपीठ पीताम्बरा मंदिर पर अनुष्ठान की तैयारियां पूरी हो चुकी है। इस बार चैत्र नवरात्र में शतचंडी अनुष्ठान और विशेष अनुष्ठान होगा। इन अनुष्ठान में 11-11 पंडित भाग ले सकेंगे। इन पंडितों के अतिरिक्त मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश वर्जित है। ट्रस्ट के प्रबंधक महेश दुबे का कहना है कि लॉकडाउन के कारण एक बार फिर से नवरात्र में श्रद्धालुओं का प्रवेश वर्जित किया गया है। यह निर्णय प्रबंधन कमेटी द्वारा लिया गया है। नौ दिन तक लगातार दोनों अनुष्ठान मंदिर में किए जाएंगे। नियमित साधकों को मंदिर में प्रवेश रोका गया है।

मां बीजासन देवीधाम सलकनपुर
मां बीजासन देवीधाम सलकनपुर मंदिर के पट नौ दिन 13 से 21 अप्रैल तक बंद रहेंगे। मां बीजासन देवी की पूजा अर्चना, आरती, श्रंगार आदि मंदिर के पुजारियों द‌वारा पूर्ववत किए जाएंगे। मंदिर समिति ने श्रद्धालुओं से निवेदन किया है कि मंदिर बंद होने से इस अवधि में आम दर्शनार्थियों के लिए दर्शन लाभ संभव नहीं हो पाएंगे।

मां बगलामुखी मंदिर
आगर मालवा जिले के नलखेड़ा तहसील में स्थित बगला मुखी का मंदिर 12 अप्रैल 2021 सोमवार शाम आरती के बाद से आगामी आदेश तक श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ बंद रहेगा। 7 अप्रैल को बैठक में यह निर्णय लिया गया था। 7 अप्रैल से पहले तक यहां दर्शन पूजन के साथ ही हवन भी हो रहा था। मंदिर समिति ने नवरात्र के लिए यहां कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए श्रद्धालुओं को दर्शन कराने की व्यवस्था कर ली थी। मंदिर की रंगाई-पुताई के साथ ही बैरिकेडस लगाकर गोले भी बना दिए गए थे। सोमवार को रजत श्रंगार किया गया। मंदिर प्रबंध समिति के सचिव व तहसीलदार आशीष अग्रवाल ने आम श्रद्धालुओं के दर्शन पर प्रतिबंध की बात की पुष्टि की।

आगर मालवा की नलखेड़ा तहसील में मां बगलामुखी का सोमवार को रजत श्रृंगार किया गया।
आगर मालवा की नलखेड़ा तहसील में मां बगलामुखी का सोमवार को रजत श्रृंगार किया गया।

मैहर का शारदा मंदिर
सतना जिले का प्रसिद्ध मैहर शारदा मंदिर लगातार दूसरे साल कोरोना के कारण बंद रहने वाला है। कलेक्टर अजय कटेसरिया ने प्रदेश सरकार के निर्देश पर चैत्र माह के मैहर नवरात्र मेले पर प्रतिबं​ध लगा दिया है। मंदिर का संचालन मैहर शारदा प्रबंध समिति करती थी। विंध्य क्षेत्र के साथ महाकौशल, यूपी, बिहार और झारखंड के भारी संख्या में भक्त आते थे। 9 दिन के अंदर करीब दो करोड़ भक्त मेले में शामिल होते थे। वहीं 1 करोड़ प्रदेश सरकार को इस मंदिर से राजस्व मिलता था। बता दें कि यह मंदिर 52 श​क्ति पीठों में एक शारदा शक्ति पीठ है।

माता टेकरी देवास
देवास में माता टेकरी पर श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। यहां मां चामुंडा देवी और मां तुलजा भवानी मंदिर है। चैत्र नवरात्र में देवास के साथ ही इंदौर, उज्जैन और देशभर के श्रद्धालु दर्शनार्थ पहुंचते हैं। इस बार दर्शन पर प्रतिबंध रहेगा। श्रद्धालुओं को रोकने के लिए बैरिकेडस लगा दिए गए है। कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला ने बताया कि लॉकडाउन का पालन करते हुए मंदिर में नित्य पूजा-अर्चना होगी।

रानगिर में बंद रहेगा मां हरसिद्धि का गर्भगृह
बुंदेलखंड के प्रसिद्ध मां हरसिद्धि माता मंदिर रानगिर में इस नवरात्र पर मेले का आयोजन नहीं होगा। मां हरसिद्धि देवी ट्रस्ट रानगिर ने निर्णय लिया कि 12 अप्रैल से 23 अप्रैल तक माता मंदिर का गर्भगृह पूर्ण रूप से बंद रहेगा। केवल मंदिर के पुजारी द्वारा माता की निर्धारित समयानुसार आरती की जाएगी। वहीं मंदिर परिसर के चेनल गेट वाले तीनों मुख्य द्वार भी पूर्णतः बंद रहेंगे। श्रद्धालुओं को मंदिर के बाहर एलईडी स्क्रीन लगाकर दर्शन कराए जाएंगे। यहां नवरात्र पर रोज हजारों भक्त पहुंचते हैं।

चित्रकूट का सोमवती अमावस्या मेला भी रद्द

मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश की आस्था का केन्द्र धर्म नगरी चित्रकूट में हर अमावस्या को मेला लगता है, लेकिन सोमवती अमावस्या की महिमा ही निराली है। भक्तों का मानना है कि चाहे एक सोमवती अमावस्या को स्नान कर लो अथवा वर्ष भर नदी सरोबर में स्नान करो बराबर पुण्य मिलता था। इसी उम्मीद से 10 लाख से ज्यादा श्रद्दालु मां मंदाकिनी में डुबकी लगातार मेले की शुरूआत करते थे। मान्यता है, पुण्य सलिल मां मंदाकिनी में स्नान करने के बाद कामदगिरी पहाड़ की परिक्रमा की जाती है। लेकिन इस वर्ष कोरोना के कारण यह मेला रदद रहा। बता दें​ कि ये वही चित्रकूट है जहां भगवान राम ने 11 वर्ष 11 माह और 11 दिन बिताए थे।

निहाल देवी और बीस भुजा माता मंदिर आगामी आदेश तक बंद
गुना जिले के दो प्रमुख माता मंदिर नवरात्र के दौरान बंद रहेंगे। पिछले वर्ष भी यहां कोरोना के कारण मेला नहीं लग पाया था। इस वर्ष भी कोरोना की दूसरी लहर के कारण जिले के सभी मंदिरों सहित निहाल देवी और बीस भुजा माता मंदिर बंद रहेगा। मेले के आयोजन को भी प्रतिबंधित किया गया है। कलेक्टर के आदेश अनुसार मंदिरों में दर्शन पूरी तरह बंद हैं। केवल पुजारियों को पूजा करने की अनुमति है।

रतलाम के कालिका माता मंदिर और सातरुंडा के कवलका माता मंदिर पर दर्शन करने और पूजा अर्चना के लिए श्रद्धालु नहीं जा सकेंगे। लॉकडाउन की वजह से धार्मिक स्थलों और मंदिरों में प्रवेश पर रोक लगाई गई है।
बड़वानी के बीजासन माता मंदिर में प्रवेश रहेगा। बुरहानपुर जिले में इच्छादेवी माता मंदिर, आशा देवी मंदिर में प्रवेश पर रोक रहेगी।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें