• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • No Relief From Fog Expected For 24 Hours; For The First Time, Mercury Below 10 In All Areas

MP में 2-3 दिन ऐसी ही रहेगी ठंड:ग्वालियर-जबलपुर सहित 20 जिलों में 20 डिग्री रहा दिन का पारा, रतलाम-सागर में चली शीतलहर

भोपाल7 महीने पहले

मप्र में सोमवार सुबह भी मौसम में ठंडक घुली रही। प्रदेश के 20 जिलों में दिन सबसे ठंडा रहा। इन जिलों में दिन का तापमान 20 डिग्री से नीचे रहा। वहीं 11 जिलों में कोल्ड डे रहा। तीन जिलों में शीतलहर चली। कुछ जिलों में आसमान में बादल छाए रहे। पाकिस्तान से आ रहीं हवाओं और कुछ रोज पहले हुई बारिश ने मौसम में ठंडक घोल दी है। उत्तर प्रदेश में भी कड़ाके की ठंड होने की वजह से मप्र में इसका असर हो रहा है। एक नया सिस्टम मंगलवार से एक्टिव हो सकता है। दिन में अभी दो-तीन दिन इसी तरह ठंडक बनी रहेगी। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि अगले 24 घंटे तक मौसम इसी तरह रहेगा। इससे पहले रविवार को शहरों में रात का पारा 10 डिग्री से नीचे आ गया था। सीजन में यह पहली बार है, जब प्रदेश के ज्यादातर शहरों में न्यूनतम तापमान एक डिजिट (यानी 10 से कम) में आ गया था। सिर्फ होशंगाबाद और सतना में पारा 10 डिग्री रहा। दो दिन से कोहरा और बादल छाए हुए हैं।

  • यहां दिन सबसे ठंडे रहे: भिंड, ग्वालियर, विदिशा, शिवपुरी, टीकमगढ़, छतरपुर, शिवपुरी, सीधी, दमोह, अशोकनगर, रायसेन, सिवनी, राजगढ़, जबलपुर, गुना, सतना, खजुराहो, रीवा, शहडोल और सागर का रहा। यहां पर तापमान 20 डिग्री से नीचे रहा।
  • सीवियर क्लाउडी दिन: भिंड, ग्वालियर, विदिशा, राजगढ़, शिवपुरी, टीकमगढ़ और सिवनी में सीवियर क्लाउडी रहा।
  • यहां रहा कोल्ड डे: रायसेन, गुना, अशोकनगर, मुरैना, छतरपुर, सीधी, दमोह, जबलपुर, शहडोल, शाजापुर और नीमच में कोल्ड डे रहा।
  • यहां चली शीतलहर: रतलाम, सागर और विदिशा में शीतलहर चली।
भोपाल में लेक व्यू की शाम।
भोपाल में लेक व्यू की शाम।
फोटो रायसेन का है। कुदरत ने मकड़ी के जाले में ओस की बूंदें पिरो दीं।
फोटो रायसेन का है। कुदरत ने मकड़ी के जाले में ओस की बूंदें पिरो दीं।
अशोकनगर में सरसों के फूल ओस की बूंदों के वजन से झुक गए।
अशोकनगर में सरसों के फूल ओस की बूंदों के वजन से झुक गए।
कोहरे में लिपटा दतिया शहर।
कोहरे में लिपटा दतिया शहर।
मंदसौर में भी कड़ाके की ठंड पड़ रही है।
मंदसौर में भी कड़ाके की ठंड पड़ रही है।
खबरें और भी हैं...