• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • PM Narendra Modi Talked To 4 Beneficiaries Of Madhya Pradesh, Said Daughters Did Amazing In Hockey In Tokyo, If You Teach Children, They Will Show Them By Growing Up

MP में अन्न उत्सव:PM मोदी ने होशंगाबाद की माया से कहा- ओलिंपिक में बेटियों ने कमाल कर दिया, आप भी बच्चों को पढ़ाएंगे तो वे बड़ा करके दिखाएंगे

मध्यप्रदेश2 महीने पहले
पीएम नरेंद्र मोदी ने अन्न उत्सव के दौरान मप्र के 4 लोगों से बात की।

PM नरेंद्र मोदी ने अन्न उत्सव के दौरान MP के 4 लोगों से बात की। सबसे पहले उन्होंने हितग्राहियों से उनकी रोजी-रोटी और बच्चों की पढ़ाई के बारे में पूछा। होशंगाबाद में लेडीज सामान की शॉप चलाने वाली माया उईके से बोले- टोक्यो ओलिंपिक में हॉकी में बेटियों ने कमाल कर दिया। इनमें से कई बेटियां गरीब परिवार से थीं, लेकिन पढ़े और आगे बढ़े। आप भी बच्चों को पढ़ाएंगे, तो वे बड़ा करके दिखाएंगे। PM मोदी ने मध्यप्रदेश के बुरहानपुर, होशंगाबाद, सतना और निवाड़ी जिलों के लोगों से करीब 20 मिनट बात की।

MP में अन्न उत्सव:PM मोदी बोले- पहले MP से बड़े-बड़े घोटालों की खबरें आती थीं; अब यहां के शहर स्वच्छता जैसे नए कीर्तिमान गढ़ रहे

जानिए, उनके बारे में, जिन्होंने PM से की बात

ऑटो चालक राजेंद्र बोले- मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि कभी पीएम से बात करूंगा
राजेंद्र शर्मा (बुरहानपुर) से पीएम ने पूछा कि राजेंद्रजी क्या करते हैं? राजेंद्र ने बताया कि ऑटो चलाता हूं। PM ने पूछा कि बेटों की पढ़ाई कहां तक करवाई? राजेंद्र ने कहा कि बड़ा बेटा 12वीं तक पढ़ा है। छोटे बेटे का कॉलेज में एडमिशन करा रहे हैं। पीएम ने कोरोना के समय काम व परिवार पर असर पड़ने और राशन के बारे में भी पूछा। इस पर राजेंद्र ने राशन मिलने में परेशानी नहीं होने की बात बताई।

न्यू इंदिरा कॉलोनी निवासी राजेंद्र ने बताया- मुझे जब पता चला कि मुझसे PM बात करेंगे तो मैं, परिवार और करीबियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। इससे मैं काफी खुश हूं। जीवन में ऐसा अवसर दोबारा नहीं आएगा, मैं पीएम से बात कर सकूं। उनसे बात करने के लिए काफी उत्साहित रहा। मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि कभी पीएम से बात करूंगा। अच्छा लगा पीएम ने मेरे परिवार की जानकारी ली, सरकारी योजना की जानकारी ली। मुझे जो लाभ मिला है वह उन्हें बताया। BPL कार्ड, एक रुपए किलो राशन, PM योजना के तहत राशन, पीएम जन-धन योजना का लाभ लिया। हमें तो ऐसे सपने भी नहीं आते। मैं बयां नहीं कर सकता कि मुझे कितनी खुशी हुई है।

पीएम नरेंद्र मोदी से बात करते बुरहानपुर के ऑटो चालक राजेंद्र शर्मा।
पीएम नरेंद्र मोदी से बात करते बुरहानपुर के ऑटो चालक राजेंद्र शर्मा।

लेडीज सामान की दुकान है माया की, बोलीं- पीएम ने कहा है कि बच्चों को पढ़ाएं
माया उईके (होशंगाबाद) से PM ने पूछा- आप मजदूरी करती हैं। परिवार को भी चलाती हैं। माया ने कहा- हां सर। PM ने उनकी पढ़ाई, किन गांवों में सामान बेचने जाती है, के बारे में पूछा तो माया ने कहा कि आठवीं तक पढ़ाई की है। आसपास के गांवों में ही सामान बेचने जाती हूं। पीएम ने पूछा कि घर में बिजली-पानी की सुविधा है और पक्का घर है या नहीं। या फिर मुसीबत से गुजरना पड़ रहा है। अंधेरे में तो नहीं रहना पड़ रहा। इस पर माया ने कहा कि लाइट नहीं जाती।

पानी के लिए हैंडपंप है। कोई दिक्कत नहीं है। दो बेटे हैं। दोनों सरकारी स्कूल में पढ़ रहे हैं। पढ़-लिखकर बड़े आदमी बनेंगे। यह सुन पीएम ने कहा कि टोक्यो में हॉकी में बेटियों ने कमाल कर दिया। कई गरीब थीं। बच्चों को पढ़ाएंगी, तो वे बड़ा करके दिखाएंगे।

होशंगाबाद जिले के ग्राम सवाईखेड़ा में रहने वाली माया की लेडीज सामान की दुकान है। माया ने बताया कि पीएम से बात कर मुझे अच्छा लगा। मुझसे पीएम ने परिवार और कामकाज के बारे में बात की। उन्होंने बच्चों को पढ़ाने की बात कही है। मैं और मेरे पति बच्चों को अच्छी शिक्षा देंगे।

होशंगाबाद की माया उईके पीएम से संवाद करते हुए।
होशंगाबाद की माया उईके पीएम से संवाद करते हुए।

सतना के दीपकुमार से पूछा- केरोसिन की जरूरत क्यों होती है
दीपकुमार कोरी (सतना) से भी पीएम ने बात की। उन्होंने पहले दीपकुमार से उनकी पढ़ाई के बारे में पूछा। फिर कहा कि राशन प्राप्त करने में दिक्कत तो नहीं आती। बीच में बिचौलिए, तो परेशान नहीं करते। राशन के अलावा और कुछ भी मिलता है दुकान से। इस पर दीपकुमार ने शक्कर, नमक और केरोसिन मिलने की बात कही। केरोसिन के बारे में सुनकर पीएम ने दीप से सवाल किया कि बिजली-गैस की सुविधा है, तो केरोसिन की जरूरत क्यों होती है। दीप ने कहा कि कभी-कभी बिजली कट हो जाती है, इसलिए जरूरत पड़ती है।

सतना के दीपकुमार कोरी ने पीएम से बात की।
सतना के दीपकुमार कोरी ने पीएम से बात की।

निवाड़ी के चंद्रभान से पूछा- मैं 2 हजार रुपये भेजता हूं, मिलते हैं या नहीं?
चंद्रभान विश्वकर्मा (निवाड़ी) से पीएम ने उनके व्यवसाय के बारे में पूछा। चंद्रभान ने बताया कि खटिया व अन्य किसानी सामान बनाते हैं। आधा हेक्टेयर जमीन है, उस पर गेहूं-मूंग उगाते हैं। परिवार के 4 सदस्यों का भरण-पोषण करते हैं। इसके बाद पीएम ने पूछा कि मैं जो 2 हजार रुपये भेजता हूं, वो आपको मिलते हैं या नहीं। पीएम आवास योजना का लाभ मिला है? इस पर चंद्रभान ने हां में जवाब दिया।

पीएम ने निवाड़ी के चंद्रभान विश्वकर्मा से भी बात की।
पीएम ने निवाड़ी के चंद्रभान विश्वकर्मा से भी बात की।
खबरें और भी हैं...