• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Pro Jyotiraditya Scindia Minister Pradyumna Singh Tomar Tyaag Shoes and Chappal

राजनीति / सिंधिया समर्थक पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने जूते-चप्पल त्यागे, 45 डिग्री तापमान के बीच घूम रहे नंगे पैर

कांग्रेस से भाजपा में आए पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर नंगे पैर जनसंपर्क कर रहे हैं।
X

  • प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा- शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान भी नंगे पैर मंच पर शपथ लेने जाएंगे
  • जयभान सिंह पवैया ने भी करीब 22 साल पहले ऐसे ही जूते-चप्पल त्याग दिए थे, पवैया इस बार प्रद्युम्न सिंह का प्रचार करेंगे

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 07:09 PM IST

ग्वालियर. कमलनाथ की सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे प्रद्युम्न सिंह तोमर ने 45 डिग्री तापमान के बीच चप्पल-जूते का त्याग कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि इसके पीछे की वजह जनता की कठिनाई को दूर करने के लिए लिया गया उनका संकल्प है। तोमर का कहना है कि शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान भी नंगे पैर मंच पर शपथ लेने जाएंगे। इससे पहले करीब 22 साल पहले भाजपा नेता जयभान सिंह पवैया भी जूते-चप्पल त्याग चुके हैं। तोमर ने पिछले विधानसभा चुनाव में पवैया को शिकस्त दी थी।

जानकारी के अनुसार, इस समय प्रद्युम्न सिंह तोमर के विधानसभा क्षेत्र में पेयजल की गंभीर समस्या है। 3 दिन पहले जब क्षेत्र के लोग उनके पास पहुंचे और समस्या बताई तो वे नंगे पैर ही अधिकारियों से मिलने पहुंच गए। उन्होंने कहा कि जब तक पेयजल की समस्या खत्म नहीं हो जाती, वे जूते-चप्पल नहीं पहनेंगे। पेयजल की समस्या तो दो दिन में खत्म हो गई। इसके बाद उन्होंने क्षेत्र में अन्य समस्याओं को लेकर भी यही रुख अपना लिया है। 

प्रद्युम्न सिंह तोमर का नंगे पैर रहने का संकल्प पहले पेयजल की समस्या के लिए था। लेकिन, उन्होंने अब इसे अन्य समस्याओं के समाधान नहीं होने तक बढ़ा दिया है।

नालों और शौचालय की सफाई करते भी आ चुके हैं नजर

तोमर नंगे पैर ही लोगों के बीच जा रहे हैं। उनकी समस्याओं को सुन रहे हैं और हल कराने का प्रयास भी कर रहे हैं। आने वाले महीनों में उन्हें ग्वालियर से उपचुनाव भी लड़ना है और वे इस दौरान नंगे पैर ही लोगों से मिलजुल रहे हैं। तोमर अपने अलग अंदाज के लिए जाने ही जाते हैं। जनता के बीच कभी नालों की सफाई करती हुई तस्वीर की बात हो या सड़क और शौचालयों को साफ करना रहा हो, तोमर यह सब करते हुए पहले भी देखे गए हैं।  इस बार उन्होंने संकल्प लिया है कि जब तक उनके क्षेत्रवासियों की समस्याओं का निदान नहीं हो जाता, वह नंगे पैर रहेंगे। अब शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल में सिंधिया खेमे की ओर से मंत्री बनने की लिस्ट में तोमर का नाम भी चल रहा है। ऐसे में शिवराज मंत्रिमंडल के विस्तार में तोमर नंगे पैर ही राजभवन पहुंचेंगे। उन्होंने कहा कि जो भी दायित्व मिलेगा, वह उसे पूरी निष्ठा के साथ निभाएंगे।

इससे पहले जयभान सिंह पवैया ने भी त्यागे थे जूते-चप्पल
पिछले विधानसभा चुनाव में प्रद्युम्न सिंह तोमर ने भाजपा के दिग्गज नेता जयभान सिंह पवैया को शिकस्त दी थी। पवैया ने भी करीब 22 साल पहले ऐसे ही जूते-चप्पल त्याग दिए थे। पवैया उस समय हर दिन पांच लोगों के यहां नंगे पैर जाकर जनसंपर्क करते थे। इस बार पवैया उपचुनाव में तोमर का प्रचार करते भी नजर आएंगे। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना