• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Radha Swami Satsang Beas Full, 600 Beds In Second Phase, More Than Half Ready

अध्यात्म के सहारे कोरोना से मुकाबला:राधा स्वामी सत्संग न्यास में योगा के साथ रामायण-महाभारत और आईपीएल से मरीजों को स्वस्थ्य करने का प्रयास

इंदौर6 महीने पहले

ये तस्वीर राधास्वामी सत्संग व्यास कोविड केयर सेंटर की है। यहां अध्यात्म के सहारे आत्मविश्वास बढ़ाया जा रहा है, जिसकी मदद से कोविड से जंग लड़ी जा रही है । इसका फायदा ये हो रहा है कि यहां हंसते खेलते ‘खतरनाक वायरस’ से मुकाबला कर पेशेंट घर लौट रहे हैं। इससे ये बात तो साफ हो गई है कि कोविड से हम जीत जाएंगे। एक दिन कामयाब होंगे और कोरोना रूपी दानव को खत्म कर देंगे।

यहां रोजाना पेशेंट से उनके स्वास्थ्य को लेकर वन टू वन चर्चा करते हैं और आत्मविश्वास बढ़ाते हैं। सीईओ विवेक श्रोत्रिय के नेतृत्व में ही पेशेंट के लिए नई गतिविधियां हो रही हैं, ताकि मरीजों में सकारात्मक भाव पैदा हो। सेंटर में योग के सहारे, संगीत व डांस के साथ ही ग्रुप एक्टीविटी करवाई जा रही हैं। सीईओ विवेक श्रोत्रिय ने बताया कि मरीजों का आत्मविश्वास बढ़ाने में कई गतिविधियां आयोजित हो रही हैं। ये लड़ाई मन की है और मन से मजबूत रहेंगे और दिमाग से मजबूत रहेंगे तो जंग जीत जाएंगे। इसके कई उदाहरण देखने को मिले है। जिसमें 95 साल के मरीज भी इच्छा शक्ति और आत्मविश्वास के दम पर ठीक हुए हैं।

कोविड केयर सेंटर में पहले फेज के सभी 600 बेड फुल हो गए हैं। अब दो से तीन दिन में दूसरे फेज को तैयार कर शुरू करने की प्लानिंग है। कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देशन में व्यवस्था बनाई गई है। धार्मिक कार्यक्रम और आईपीएल भी स्क्रीन पर दिखाते हैं। यहां तक कि भाप के लिए भी व्यवस्था बनाई गई है, जिससे सभी को अच्छा लग रहा है। सेंटर में अलग-अलग एक्टिविटी कराई जा रही हैं ताकि पेशेंट के लिए अच्छा वातावरण बना रहे। नोडल अधिकारी अमित मालाकार ने बताया कि मैं खुद राउंड लेकर पेशेंट से वन टू वन चर्चा करता हूं कि उन्हें किसी तरह की समस्या तो नहीं है। सेंटर में सभी उम्र के लोग आए हैं और तेजी से अच्छे हो रहे हैं।

सभी से वन टू वन चर्चा
सभी से वन टू वन चर्चा

लोग एक-दूसरे का बढ़ा रहे आत्मविश्वास

कोविड केयर सेंटर में आत्मविश्वास बनाए रखने में खासा ध्यान दिया गया है। यहां सभी ए सिम्टोमेटिक पेशेंट एक जैसे हैं इसीलिए लोग एक-दूसरे का आत्मविश्वास बढ़ा रहे हैं। एक अच्छा माहौल बना है, सभी एक दूसरे का हौसला बढ़ा रहे हैं। हंसते-खेलते और मुस्कराते एक-दूसरे का हौसला बढ़ रहे हैं और कोरोना से लड़ रहे हैं। ये सबसे बड़ा जरिया है, दवाई और इलाज तो अपनी जगह है। आदमी एक-दूसरे का हौसला बढ़ा रहा है तो इससे ये लड़ाई लड़ने में आसानी हो रही है। अब लोगों के ठीक होकर घर जाने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। इसका श्रेय सीईओ विवेक श्रोत्रिय व उनकी टीम को जाता है। इनके बेहतर मैनेजमेंट का रिजल्ट है कि पेशेंट ठीक होकर अपने घर जा रहे हैं।

भाप देने का इंतजाम
भाप देने का इंतजाम

कोविड को हराकर बनेंगे नंबर वन

सुबह से पेशेंट के लिए भजन संध्या। इसमें कॉलेज के बच्चों से लेकर बड़े और बुजुर्गों को लाभ मिलता है। भजन सुनकर सभी एंटरटेनमेंट करते हैं। इसके अलावा जो जीता, वही सिकंदर गीत पर सभी ने मिलकर डांस भी किया। पूरे कैम्पस में ऐसा वातावरण दिया जाता है। ऐसे में अगर कोई दूसरे पेशेंट जो घबराहट में रहते हैं, वो भी एंटरटेनमेंट करते हैं। इसके साथ ही उन्हें बताया जाता है कि कैसे उन्हें स्वास्थ्य होना है, सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बताया जाता है। इसके अलावा स्वच्छता के पंच पर गाना गाया और सभी ने डांस भी किया। यहां संदेश दिया गया कि स्वच्छता में नंबर वन हैं, उसी तरह कोविड को हराकर भी हम नंबर वन बनेंगे। इस पर सभी पेशेंट रिएक्ट भी करते हैं। यहां परिसर में ही घूम सकते हैं और भाप लेने की व्यवस्था की गई।

सभी बिस्तरों के पास साफ पानी की व्यवस्था
सभी बिस्तरों के पास साफ पानी की व्यवस्था

रामायण, महाभारत के साथ आईपीएल का मजा

कोविड केयर सेंटर में रामायण, महाभारत के साथ आईपीएल का मजा भी पेशेंट ले रहे हैं। इसमें जो लोग घबराहट में आए थे और डरे हुए थे, वो भी अब ठीक हो गए हैं। इसीलिए सेंटर में भजन, योगा के साथ ही डॉक्टर कंसल्टेंसी कर रहे हैं। भजन कीर्तन, आईपीएल का मैच, रामायण- महाभारत सहित आस्था चैनल चल रहा है। हनुमान चालीसा का पाठ चलता है। साथ ही शाम को रोज एक्टिविटी होती हैं। कभी डांस तो कभी गाने गए जाते तो कभी ग्रुप एक्टिविटी कराई जाती हैं। सभी को मोटिवेट करने के लिए एक्टिविटी होती है। मोटिवेट रहें, एक्टिव रहें इसलिए ह्यूमन मेट्रिक्स के एमडी कैप्टन सनप्रीतसिंह नेगी ने व्यवस्था संभाल रखी है, वो पूरी टीम को रोजाना मोटिवेट करते दिखाई देते हैं।

इंदौर विकास प्राधिकरण के सीईओ विवेक श्रोत्रिय ने बताया कि पेशेंट के लिए डाइट चार्ट प्लान है। उसी हिसाब से उन्हें चाय-नाश्ते से लेकर भोजन और दूध की व्यवस्था रहती है।

खबरें और भी हैं...