पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rahat Indori Death News Update | Urdu Language Poet Rahat Indori Passes Away In Madhya Pradesh Indore

राहत इंदौरी डॉक्टरों पर पत्थरबाजी से दुखी हुए थे:रातभर पूछता रहा वह घर किसका है, जहां डॉक्टरों पर थूका गया, ताकि उनके पैर पर माथा रगड़कर कहूं कि बिरादरी और मुल्क पर रहम खाएं

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राहत इंदौरी कोरोना संक्रमित थे। वे इंदौर के अस्पताल में भर्ती थे। शाम को हार्टअटैक आने के बाद निधन हो गया।- फाइल फोटो।
  • राहत इंदौरी का कोरोनावायरस से 70 साल की उम्र में निधन हो गया
  • राहत ने आज सुबह ट्वीट कर कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी थी

कोरोनावायरस से मशहूर शायर राहत इंदौरी का मंगलवार शाम 70 साल की उम्र में निधन हो गया। उन्हें दो बार हार्टअटैक आया। इससे पहले सुबह राहत ने खुद ट्वीट करके कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी थी। राहत के निधन के बाद उनके फैंस शोक संवेदनाएं प्रकट कर रहे हैं। राहत साहब हाल ही में इंदौर में कोराेना के दौरान डॉक्टरों पर पत्थरबाजी से काफी दुखी हुए थे। उन्होंने एक शायरी के जरिए अपना दर्द बयां किया था।

चार महीने पहले यहां टाटपट्टी बाखल में स्वास्थ्य विभाग की टीम पर लोगों ने पथराव किया था। राहत इंदौरी को इस घटना का बहुत दर्द हुआ था। उन्हें भीड़ का ये कदम जायज नहीं लगा था। राहत ने कहा था- "कल रात 12 बजे तक मैं दोस्तों से फोन पर पूछता रहा कि वह घर किसका है, जहां डॉक्टरों पर थूका गया है, ताकि मैं उनके पैर पकड़कर माथा रगड़कर उनसे कहूं कि खुद पर, अपनी बिरादरी, अपने मुल्क और इंसानियत पर रहम खाएं। यह सियासी झगड़ा नहीं, बल्कि आसमानी कहर है, जिसका मुकाबला हम मिलकर नहीं करेंगे तो हार जाएंगे।

उन्होंने कहा था- ज्यादा अफसोस मुझे इसलिए हो रहा है कि रानीपुरा मेरा अजीज मोहल्ला है। 'अलिफ' से 'ये' तक मैंने वहीं सीखा है। उस्ताद के साथ मेरी बैठकें वहीं हुईं। मैं बुजुर्गों ही नहीं, बच्चों के आगे भी दामन फैलाकर भीख मांग रहा हूं कि दुनिया पर रहम करें। डॉक्टरों का सहयोग करें। इस आसमानी बला को फसाद का नाम न दें। इंसानी बिरादरी खत्म हो जाएगी। जिंदगी अल्लाह की दी हुई सबसे कीमती नेमत है। इस तरह कुल्लियों में, गालियों में, मवालियों की तरह इसे गुजारेंगे तो तारीख और खासकर इंदौर की तारीख जहां सिर्फ मोहब्बतों की फसलें उपजी हैं, वह तुम्हें कभी माफ नहीं करेगी।''

फेफड़ों में निमोनिया के चलते आईसीयू में रखा गया था
राहत इंदौरी के बेटे और युवा शायर सतलज राहत ने सुबह बताया था कि पिता चार महीने से सिर्फ नियमित जांच के लिए ही घर से बाहर निकलते थे। उन्हें चार-पांच दिन से बेचैनी हो रही थी। डॉक्टरों की सलाह पर फेफड़ों का एक्सरे कराया गया तो निमोनिया की पुष्टि हुई। इसके बाद सैंपल जांच के लिए भेजे गए, जिसमें वे संक्रमित पाए गए थे। राहत को दिल की बीमारी और डायबिटीज थी। डॉक्टर रवि डोसी ने बताया था कि उन्हें दोनों फेफड़ों में निमोनिया था। सांस लेने में तकलीफ के चलते आईसीयू में रखा गया था।

दिल का दौरा पड़ने से हुआ निधन
अरविंदो अस्पताल के डायरेक्टर विनोद भंडारी ने बताया कि राहत के इलाज के दौरान कई प्रकार की दिक्कतें होने का पता चला। जिसमें पायलेटर निमोनिया, 70 प्रतिशत लंग खराब, कोविड पॉजिटिव, हाइपर टेंशन, डायबिटिक होना प्रमुख था। इसके अलावा वे रविवार रात को किसी प्राइवेट अस्पताल से आए थे। शाम को उन्हें दिल का दौरा पड़ा और सिवियर अटैक आया। उसके बाद एक बार रिवाइव भी हुए पर अभी उनका देहांत हो गया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें