• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Madhya Pradesh Rain News; IMD Warning In Bhopal Indore, Gwalior Chambal, Bundelkhand

मैहर माता मंदिर में 2 घंटे लटके रहे 80 श्रद्धालु:रास्ते में अटका रोपवे, जबलपुर-रीवा समेत कई जिलों में आंधी-बारिश; सतना में 3 मौतें

भोपाल3 महीने पहले

मध्यप्रदेश में मौसम बदलने के साध ही आंधी-पानी का दौर शुरू हो गया। इस दौरान सोमवार को मैहर में माता शारदा के दर्शन करने आए श्रद्धालुओं की जान आफत में पड़ गई। शारदा मंदिर का रोपवे बीच रास्ते में ही रुक गया और उसमें सवार श्रद्धालु हवा में झूलने लगे। बताया जाता है कि मौसम बिगड़ते ही बिजली गुल हो गई। इस वजह से रोपवे की ट्रॉलियां बीच रास्ते में अटक गईं। इस दौरान 28 ट्रॉलियों में करीब 80 श्रद्धालु दो घंटे तक फंसे रहे।

यहां दोपहर करीब 3 बजे आंधी व बारिश होने से लाइट गई और ट्रॉलियों का संचालन बंद हो गया था। श्रद्धालुओं को ट्र्रॉलियों से सुरक्षित निकाल लिया गया है। यहां कुल 32 ट्रॉलियां हैं, जिनमें से 2-2 ट्रॉली हमेशा स्टेशन पर रहती हैं, जबकि बाकी ट्रॉलियां चलती रहती हैं। वहीं सतना में तीन लोगों की मौत हो गई।

मध्यप्रदेश में बीते चौबीस घंटे से चल रहीं तेज हवाओं और आंधी ने मौसम में ठंड से तो घोल दी लेकिन परेशानी भी बढ़ा दी। रीवा में तेज आंधी के कारण वाहन चालकों को अपने वाहन तक छोड़कर भागना पड़ा। हवाएं इतनी तेज थीं कि दो पहिया वाहन चालकों को काफी दूर तक धकेल दिया। सतना में 11 मिमी, खजुराहो में 8 मिमी, रीवा में 7 मिमी, मंडला में 5 मिमी , ग्वालियर में 4 मिमी, टीकगमढ़ में 2 मिमी और सागर में भी हल्की बारिश हुई। इधर, शिवपुरी में बारिश के साथ ओले भी गिरे।

शिवपुरी में बारिश के साथ ओले गिरे।
शिवपुरी में बारिश के साथ ओले गिरे।

सतना में छज्जा राहगीर पर गिरा, पेड़ के नीचे दबी दो लड़कियां

सतना में बारिश के चलते तीन लोगों की मौत हो गई। भैंसाखाना में एक पुराने मकान का छज्जा गिरने से एक राहगीर उसकी चपेट में आ गया। इससे उसकी मौत हो गई। मरने वाले का नाम गुड्‌डा यादव है। वह पन्ना जिले के ककरहटी गांव का रहने वाला था। वहीं ताला थाना क्षेत्र के ग्राम धतुआ में बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे खड़ी दो लड़कियों की मौत हो गई। वहीं चार अन्य घायल है। ग्राम सदर निवासी महिलाएं और बच्चियां सोमवार को खेत से प्याज निकालने गई थीं। पेड़ के नीचे दबने से सीमा कोल(15) और मनीषा कोल (18) की मौत हो गई। शोभा रावत (18), दुईजी रावत (40), ज्योति रावत (14) और विमला रावत (15) घायल हो गईं। घायलों को अमरपाटन अस्पताल लाया गया है। खबर मिलने पर राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल भी अस्पताल पहुंचे।

मौसम विभाग ने अगले कुछ घंटों के दौरान कई इलाकों में 90 किलो मीटर प्रति घंटा की रफ्तार से भी ज्यादा हवाएं चलने का अलर्ट जारी किया है। यह इलाके हैं पन्ना, सतना, कटनी, रीवा और उमरियां हैं। यहां पर हल्की बारिश से लेकर ओले तक गिर सकते हैं। गुना, अशोक नगर, नीमच, सीहोर, विदिशा और रायसेन में कहीं बूंदाबांदी और हवाएं 20 किलो मीटर प्रति घंटो की रफ्तार से चल सकती हैं।

यहां हवाओं की रफ्तार 60 किलो मीटर प्रति घंटा तक
भिंड, दतिया, निवाड़ी, टीकमगढ़, सागर, दमोह, सिंगरौली, जबलपुर, शहडोल और सीधी में हवाओं के साथ हल्की बारिश और धूल भरी हवाएं चल सकती हैं।

यहां हवाओं की रफ्तार 40 किलो मीटर प्रति घंटा तक

मुरैना, ग्वालियर, श्योपुरकलां, शिवपुरी, अनूपपुर, सिवनी, मंडला, डिंडोरी और बालाघाट में धूल भरी हवाएं और हल्की बारिश के साथ गरज-चमक हो सकती है।

अन्य शहरों में भी हुई हल्की बारिश
मध्यप्रदेश के कई शहरों में पिछले 24 घंटे में हल्की बारिश हुई है। ग्वालियर-चंबल, जबलपुर और बुंदेलखंड में बौछारें पड़ी हैं। आज सुबह 8.30 बजे तक रीवा में 4.6 मिमी, सीधी में 2.4, उमरिया में 2.1, टीकमगढ़ में 2 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई है। मलाजखंड, जबलपुर, ग्वालियर, शिवपुरी, सतना और खजुराहो में कहीं-कहीं बारिश हुई। इसे प्री मानसून एक्टिविटी के तौर पर देखा जा रहा है।

भोपाल में कल तक तो इंदौर में बुधवार तक बारिश हो सकती है। 25 मई से नौतपा शुरू हो रहा है। इस बार नौतपा नरम-गरम रहेगा। अंतिम दो से तीन दिन जरूर पारा चढ़ सकता है, लेकिन बहुत ज्यादा गर्म होने के आसार कम ही हैं। मौसम विभाग की मानें तो अब पारा बहुत ज्यादा जाने की संभावना नहीं है। नौतपा भी कम तपाएगा।

अधिकतम तापमान 44 डिग्री के नीचे आया
प्रदेश में गर्मी के तेवर भी नरम पड़ने लगे हैं। अधिकतम तापमान 44 डिग्री के नीचे आ गया है। सबसे ज्यादा सिवनी में 43.8 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया। इसके अलावा प्रदेशभर में यह 43 से नीचे ही रहा। भोपाल में 39.8, इंदौर में 37.8, जबलपुर में 38.8 और ग्वालियर में अधिकतम पारा 36.9 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

शिवपुरी में रात 8 बजे के बाद बारिश हुई।
शिवपुरी में रात 8 बजे के बाद बारिश हुई।

नौतपा से पहले बारिश के आसार
मध्यप्रदेश में नौतपा (25 मई) से पहले ही भीषण गर्मी का दौर खत्म हो गया है। अब अगले 24 घंटे में भोपाल समेत प्रदेश के 12 जिलों में बारिश के आसार हैं। कुछ शहरों में गरज-चमक के साथ तेज हवाएं भी चल सकती हैं। इंदौर में 25 मई तक हल्की बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार एक और पश्चिमी विक्षोभ (पाकिस्तान से आ रही हवाएं) एक्टिव हो गया है। इस कारण तापमान में गिरावट आई है। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार से प्रदेशभर में प्री मानसून की हल्की बारिश शुरू हो जाएगी। इसका प्रभाव पूरे प्रदेश पर रहेगा।

अभी यहां प्री-मानसून एक्टिविटी ज्यादा
भोपाल, रीवा, सागर, चंबल, जबलपुर, कटनी, उमरिया, बालाघाट, अनूपपुर, शहडोल, ग्वालियर, दतिया और शिवपुरी में शाम तक हल्के बादल और गरज-चमक हो सकती है। अगले 24 घंटे में हल्की बौछारें पड़ सकती हैं। तीन से चार दिन तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश के आसार हैं। पिछले 24 घंटे में भिंड, श्योपुरकलां, शिवपुरी, मुरैना, ग्वालियर, दतिया, गुना, कटनी, पन्ना, उमरिया, बालाघाट, रीवा, सतना, सीधी, दमोह, शहडोल, सागर, अमरकंटक और बांधवगढ़ में हल्की बारिश हुई है।

ग्वालियर में आंधी के साथ हल्की बूंदाबांदी हुई। इससे मौसम सुहाना हो गया।
ग्वालियर में आंधी के साथ हल्की बूंदाबांदी हुई। इससे मौसम सुहाना हो गया।

आज भी तेज हवाएं चलेंगी
मध्यप्रदेश से भीषण गर्मी की अब छुट्‌टी हो गई है। प्री मानसून के पहले 44 किलो मीटर प्रति घंटा से भी ज्यादा रफ्तार से हवाएं चलने से प्रदेश के कई इलाकों में हल्की बौछारें पड़ी। जबलपुर, ग्वालियर, चंबल और सागर के इलाकों में हल्की बारिश होने से मौसम बदल गया। मौसम विभाग ने आज भी तेज हवाएं चलने की संभावना जताई है। कुछ इलाकों में तो यह 60 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चल सकती हैं। ऐसे में पेड़ आदि उखड़ सकते हैं। अगले चौबीस घंटों के दौरान सागर और ग्वालियर समेत कई इलाकों में हल्की बारिश हो सकती है।

इन इलाकों में राहत की बारिश
अगले कुछ घंटों के दौरान भिंड, श्योपुरकलां, मुरैना, ग्वालियर, दतिया, छतरपुर, पन्ना, सतना, शहडोल, सीधी, सिंगरौली, शिवपुरी, निवाड़ी, टीकमगढ़, पन्ना, गुना, अनूपपुर और सागर में कहीं-कहीं 20 किमी प्रतिघंटा से लेकर 60 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

रीवा-उमरिया में 2-2 मिमी बरसात, जबलपुर-शिवपुरी और ग्वालियर भीगे; 44 के नीचे आया अधिकतम तापमान...

भोपाल में भीषण गर्मी से राहत पाने के लिए बड़े तालाब के किनारे लोग नजर आ जाते हैं। कल तक राजधानी में बारिश हो सकती है। इससे लोगों को थोड़ी राहत मिलेगी।
भोपाल में भीषण गर्मी से राहत पाने के लिए बड़े तालाब के किनारे लोग नजर आ जाते हैं। कल तक राजधानी में बारिश हो सकती है। इससे लोगों को थोड़ी राहत मिलेगी।

MP में 15 जून तक मानसून की एंट्री

मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह के अनुसार मानसून के केरल के तट तक 27 या 28 मई तक पहुंचने की संभावना है। इस स्थिति में यह मध्यप्रदेश में यह 13 से 15 जून के बीच पहुंच जाएगा। इसके बाद यह 20 जून तक पूरे प्रदेश में सक्रिय हो सकता है। इस बार प्रदेश भर में अच्छी बारिश होगी। इस बार मध्यप्रदेश के कुछ इलाकों जैसे इंदौर-उज्जैन में सामान्य और भोपाल, नर्मदापुरम, ग्वालियर-चंबल और जबलपुर में सामान्य से ज्यादा बारिश होने की संभावना है।

छतरपुर और आसपास के इलाकों में भी बारिश हुई।
छतरपुर और आसपास के इलाकों में भी बारिश हुई।