पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jyotiraditya Scindia; Rajya Sabha MP Jyotiraditya Scindia On Congress Kamal Nath And Digvijaya Singh Over His Tiger Zinda Hai Statement

मध्यप्रदेश की सियासत:सिंधिया बोले- बहुत चील बैठे हैं मुझे नोचने के लिए, आओ मुझ पर हमला करो, जो अच्छा होता है उसी को निशाने पर लिया जाता है

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भाजपा के प्रदेश कार्यालय में वर्चुअल रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कमलनाथ पर हमला किया।
  • भाजपा कार्यालय में वर्चुअल रैली में शामिल होने के दौरान उपलब्धियां गिनाई और कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा
  • कहा- कोरोना के कारण मैंने बहुत भुगता है, 30 दिन लगे उबरने में, मेरे किसी दुश्मन को भी यह बीमारी न हो
Advertisement
Advertisement

मध्यप्रदेश में जुबानी सियासत तेज होती जा रही है। एक दिन पहले सिंधिया के टाइगर अभी जिंदा है वाले बयान को लेकर कांग्रेस नेताओं ने एक के बाद एक कई हमले किए। अब सिंधिया ने पलटवार करते हुए कहा- आज मेरे पास बहुत चील साइड- साइड बैठे हैं, मुझे नोचने के लिए। नोचा भी उसे जाता है, जिसमें कुछ अच्छा होता है। करो मुझ पर जितना हमला करना है। मैंने कल भी कहा था और आज भी कहता हूं- टाइगर अभी जिंदा है।

भोपाल में ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों ने उनके टाइगर अभी जिंदा हैं के पोस्टर लगा दिए।

दअरसल, सिंधिया ने भाजपा के प्रदेश कार्यालय में सरकार के 100 दिन पूरे होने के अवसर पर वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कमलनाथ सरकार पर एक के बाद एक कई हमले किए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, केंद्रीय मंत्री पहलाद पटेल और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने उपलब्धियों के लिए लगाई गई प्रदर्शनी का उद्धाटन किया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, केंद्रीय मंत्री पहलाद पटेल और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने उपलब्धियों के लिए लगाई गई प्रदर्शनी का उद्धाटन किया।

पीएम ने लॉकडाउन का फैसला नहीं लिया होता तो लाशों के ढेर लग जाते: ज्योतिरादित्य
सिंधिया ने कहा, 'मुझे कोरोना हो गया था। मानसिक तनाव काफी था। काफी कुछ भुगता है। उससे उभरने में मुझे 30 दिन लग गए। यह बीमारी घातक है। कामना करता हूं कि मेरे किसी दुश्मन को भी यह न हो। अभी यह खत्म नहीं हुई है। अभी दो से तीन महीने और हमें इससे बचना है। सावधानी बरतना जरूरी है। अपना और अपने परिवार का ख्याल रखें। प्रधानमंत्री के लॉकडाउन का विरोध करने वाले समझ लें, अगर हमारे प्रधानमंत्री ने यह निर्णय नहीं लिया होता तो लाशों के ढेर लग जाते।'

एक दल ने देश में आपातकाल लगाया
सिंधिया ने कहा- प्रधानमंत्री में दूरदर्शिता के साथ सही निर्णय लेने का साहस भी है। चीन के सैनिकों को हमारे जवानों ने धूल चटाई। आज हमारे प्रधानमंत्री लेह पहुंचकर जवानों का हौसला बढ़ा रहे हैं। ये है सशक्त नेतृत्व का परिणाम। एक दल जिसने आपातकाल इस देश में लगाया। कई लोग कहेंगे कि आपने पार्टी बदली है और इसलिए आप आज आपातकाल की बात कर रहे हैं। मैंने कांग्रेस में रहकर भी आपातकाल का विरोध किया था और आज भी उसका विरोध करता हूं। कल भी सच का साथ देता था और आज भी उसी के साथ हूं। जो सही है, वह सही है। जो गलत है, वह गलत है। 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में 'फोर डी' का बोलबाला था। यही उसके पतन का कारण था।

शिवराज - 'फोर डी' दलाल कांग्रेस सरकार के पतन का कारण 

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि राज्य की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में 'फोर डी' का बोलबाला था और यही तत्कालीन सरकार के पतन का कारण बना। फोर डी का मतलब दलाल, दंभ, दुर्भावना और दिग्विजय सिंह। उस समय राज्य मंत्रालय वल्लभ भवन को दलाली का अड्डा बना दिया गया था। सरकार के प्रमुख दंभ और अहंकार से भर गए थे। वे दुर्भावनावश कार्य कर रहे थे। इसके अलावा मिस्टर बंटाढार, दिग्विजय सिंह सरकार के पतन का कारण बने। 

जनता की उपेक्षा कर खुद के हित साधे
सरकार में जनहित की उपेक्षा कर नेताओं ने अपने हित साधे। किसान कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ सबसे बड़ा धोखा किया गया। किसान कर्जमाफी के लिए कम से कम 50 हजार करोड़ रुपयों की जरुरत थी, लेकिन मात्र छह हजार करोड़ रुपयों के किसान ऋण माफ किए गए और उसमें भी विसंगतियां हैं। मौजूदा सरकार ने किसानों संबंधी विभिन्न योजनाओं के तहत किसानों के खातों में 25 हजार करोड़ रुपए पहुंचाए। संबल योजना फिर शुरू कर दी गई है। हितग्राहियों के खातों में एक सौ दिनों के अंदर 40 हजार करोड़ रुपए पहुंचाए गए।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement