• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • MP Breaking Recommendation Of 3 MPs And One MLA Including Bhopal MP Sadhvi Pragya; Crime Branch Started Investigation, No FIR

CM शिवराज तक पहुंची ट्रांसफर की फर्जी नोटशीट:भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर समेत 3 सांसदों और एक MLA की अनुशंसा; क्राइम ब्रांच ने शुरू की जांच, फिलहाल FIR नहीं

भोपालएक वर्ष पहले
- प्रतीकात्मक फोटो

मध्यप्रदेश में मंत्री, सांसदों और विधायकों के नाम पर ट्रांसफर के फर्जीवाड़े का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। अब भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर समेत 3 सांसदों और विधायक की अनुशंसा की ट्रांसफर की फर्जी नोटशीट CM हाउस तक पहुंच गई।

संदेह होने पर संबंधित सांसदों और विधायक से बात की गई, तो मामले का खुलासा हुआ। इसके बाद CM हाउस से भोपाल क्राइम ब्रांच को शिकायत की गई। क्राइम ब्रांच ने मामले की जांच शुरू कर दी है। हालांकि गुरुवार देर रात तक एफआईआर दर्ज नहीं की जा सकी थी। इससे पहले उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव और नगरीय एवं प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह के नाम पर वसूली किए जाने का मामला सामने आ चुका है।

क्राइम ब्रांच के अनुसार CM हाउस से धोखाधड़ी किए जाने की शिकायत मिली है। इसमें स्वास्थ्य विभाग, स्कूल शिक्षा और राजस्व विभाग के करीब 12 कर्मचारियों के ट्रांसफर की नोटशीट भेजी गई। इसमें भोपाल सांसद प्रज्ञा, राजगढ़ सांसद रोडमल नागर, देवास सांसद महेंद्रसिंह सोलंकी और रायसेन जिले के सिलवानी विधायक रामपाल सिंह का नाम है।

CM शिवराज तक जता चुके है चिंता

मध्यप्रदेश में लगातार इस तरह के फर्जीवाड़े सामने आ रहे हैं। इसमें ट्रांसफर कराए जाने को लेकर कर्मचारी और अधिकारियों से पैसे लिए जा रहे हैं। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दो दिन पहले सभी अधिकारियों और कर्मचारियों से आग्रह किया था कि वह इस तरह के लालच में ना आएं। न ही इस तरह से किसी मंत्री, अधिकारी या किसी अन्य के नाम पर बहकावे में आएं।

जानकारी के अनुसार इसमें शिक्षक से लेकर क्लर्क और नायब तहसीलदारों के नाम सामने आए हैं। इस पूरे फर्जीवाड़े में विभाग के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत से इनकार नहीं किया जा सकता।

खबरें और भी हैं...