• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Self Motivation, Timing And Confidence Is Essential, Be Surrounded By Positive People; Work Hard Smart

UPSC के लिए सिलेक्टेड कैंडिडेट ने दिए टिप्स:सेल्फ मोटिवेशन और कॉन्फिडेंस बहुत जरूरी; एक ही लाइफ है, जितना बेहतर हो सके, उतना कर गुजरिए

मध्यप्रदेश8 महीने पहले

राज्य सरकार द्वारा आयोजित UPSC(संघ लोक सेवा आयोग) में सिलेक्टेड कैंडिडेट के सम्मान समारोह में UPSC-2020 में ओवरऑल सेकेंड रैंक हासिल जागृति अवस्थी समेत अन्य युवाओं ने सफलता हासिल करने के मंत्र दिए। जागृति समेत राधिका गुप्ता, ऋषभ रूणवाल, निमीषी त्रिपाठी और विनीत बंसोड़ ने देश की सबसे बड़ी परीक्षा को क्लियर करने के लिए सेल्फ मोटिवेशन, टाइमिंग और कॉन्फिडेंस होना बहुत जरूरी बताया। उन्होंने पॉजिटिव लोगों से घिरे रहने और हार्ड-स्मार्ट वर्क करने के लिए प्रेरित किया। चयनित उम्मीदवारों ने कहा कि एक ही लाइफ है। जितना बेहतर हो सके, उतना कर गुजरिए।

CM शिवराज सिंह चौहान ने भी सिविल सविर्सेस के लिए चुने गए युवाओं के बीच सोहनलाल द्विवेदी की कविता 'लहरों से डरकर नैया पार नहीं होती, मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती'... सुनाई। हालांकि, CM इस कविता को पूर्व PM अटल जी की कविता बता गए। UPSC क्लियर करने वाले युवाओं का CM शिवराज सिंह और उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने सम्मान किया।

मिंटो हॉल में चयनित युवा का सम्मान करते सीएम शिवराज सिंह चौहान और उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव।
मिंटो हॉल में चयनित युवा का सम्मान करते सीएम शिवराज सिंह चौहान और उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव।

असफलता से भी सीखें

  • सेकेंड रैंक जागृति अवस्थी ने कहा कि हिम्मत रखिए, यकीन रखिए। निरंतर प्रयास करेंगे तो आगे बढ़ेंगे। लक्ष्य के प्रति अपने रास्ते पर रूकिए मत। हर बाधा से लड़कर आगे बढ़ें। उठो, जागो और तब तक मत रूको जब तक सफलता की सीढ़ी न चढ़ जाओ।
  • 18वीं रैंक हासिल राधिका गुप्ता ने कहा धैर्य और संयम परीक्षा ने सिखाया है। असफलता भी बहुत जरूरी है, क्योंकि यह संवेदना सिखाती है।
  • महिदपुर उज्जैन के ऋषभ रूणवाल ने कहा कि खूब मेहनत करो। उन्होंने महाभारत के कुछ अंश भी सुनाए। जिसमें कहा कि कर्म किए जा, फल की चिंता मत कर।
  • 292 रैंक हासिल खरगोन की निमीषी त्रिपाठी ने कहा कि इंटर्नल मोटिवेशन होना बहुत जरूरी है। तभी आगे बढ़ सकेंगे। एक बार मुझे पिता ने बताया कि कलेक्टर ही जिले में चेंज ला सकते हैं। तभी मैंने ठान लिया कि सिविल सविर्सेस एग्जॉम देना है। सेल्फ मोटिवेशन, टाइमिंग और कॉन्फिडेंस रखना बहुत जरूरी है।
  • विनीत बंसोड़ बालाघाट ने कहा कि जो सफल हुए उनसे सीखना बहुत जरूरी है, लेकिन उनसे भी सीखें जो सफल नहीं हुए। यह देखें कि उनसे क्या गलतियां हुई हैं और आप उन्हें न दोहराएं। पॉजिटिव लोगों से घिरे रहें। हार्ड और स्मार्ट वर्क करें। एक ही लाइफ है। जितना बेहतर हो सके, उतना कर गुजरिए।
कार्यक्रम के दौरान मिंटो हॉल में मौजूद लोग।
कार्यक्रम के दौरान मिंटो हॉल में मौजूद लोग।

CM ने अफसरों की परिभाषा बताई, बोले- जनता की बेहतरी के लिए काम करें
CM चौहान ने सभी को नसीहत दी कि जनता की बेहतरी के लिए काम करें। मैं अफसरों को जानता हूं कि कौन कैसा है। अफसर 3 तरह के होते हैं। एक रूटिन के काम ही करते हैं। दूसरे वो होते हैं जिन्हें काम रोकने में मजा आता है। नियम-कानून का हवाला देकर अटकाते हैं और होने नहीं देते हैं। तीसरे ऐसे होते हैं, जो नियम-प्रक्रियाओं के बावजूद सही काम को कर देते हैं और जरूरतमंद की मदद करते हैं।

शिवराज ने कहा कि एक कलेक्टर यदि चाहे तो पूरे जिले को बदल सकता है। बुच साहब का नाम कोई भूल सकता है क्या? आज भी बैतूल में चर्चे होते हैं। मैं एक अफसर की बात नहीं कर रहा है। अनेक ऐसे हैं, जिन्होंने इतिहास रच दिया। प्रदेश का विकास तो किया ही, लोगों का भला भी किया है। लोग उन्हें देवता की तरह पूजते हैं। सिविल सविर्सेस में चयनित बेटा-बेटी ऐसा ही करें। अभाव में जीने वालों की जिदंगी में उजियारा लाएं। जनता के प्रति स्नेह का भाव रहे।

इनका किया सम्मान
CM ने सबसे पहले ओवरऑल सेकेंड एवं महिला कैटेगिरी में फर्स्ट आई भोपाल की जागृति अवस्थी का शाल, श्रीफल भेंट कर सम्मान किया। निमीषी त्रिपाठी खरगोन, उर्वशी सेंगर ग्वालियर, पल्लवी वर्मा इंदौर, ऋषभ रूणवाल महिदपुर उज्जैन, अर्थ जैन जबलपुर, आयुष गुप्ता देवास, कार्तिक श्रोत्रिय भोपाल, नरेंद्र रावत शिवपुरी, ऋषभ लालचंदानी भोपाल, सुमित कुमार सिंह इंदौर, श्रेयांस सुराणा बैतूल, रोहित नेमा जबलपुर, रोहित कुमार शाह सिंगरौली, दीपांशु भोपाल, अर्जित महाजन इंदौर, विशाल धाकड़ गुना, श्लोक वायकर इंदौर, राधिका गुप्ता अलीराजपुर, अहिंसा जैन, दामिनी सागर, जेबा खान गुना, विनायक सतना, शुभम अग्रवाल भोपाल, शुभम बजाज विदिशा, संदीप राजौरिया मुरैना, टी. प्रतीक राव भोपाल, प्रखर पांडे जबलपुर, चंद्रशेखर भेराजी नरसिंहपुर, विकास सेठिया भिंड और अभिषेक खंडेलवाल होशंगाबाद का सम्मान किया गया।

खबरें और भी हैं...