• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • MP Breaking Set Up A Company By Building A Call Center; Lured By The Lure Of More Profits In The Stock Market; Earned 30 Lakhs From More Than 60 People In 5 States Including Madhya Pradesh

MP में शेयर मार्केट के नाम पर ठगी:महिला ने फर्जी कॉल सेंटर बनाया; स्टॉक मार्केट में ज्यादा मुनाफे का लालच देकर फंसाते; 5 राज्यों में 30 लाख रुपए कमाए

भोेपालएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इस तरह से होशंगाबाद में फर्जी कॉल सेंटर चल रहा था। - Dainik Bhaskar
इस तरह से होशंगाबाद में फर्जी कॉल सेंटर चल रहा था।
  • आंध्र प्रदेश, गुजरात, तेलंगाना, महाराष्ट्र में भी लोगों को फंसाया
  • कस्टमर के रुपए मांगने पर नुकसान होने का देते थे हवाला

होशंगाबाद में एक महिला शेयर मार्केट के नाम फर्जी कॉल सेंटर संचालित कर रही थी। वह लोगाें को स्टॉक मार्केट में अधिक मुनाफा दिलाने का लालच देकर डीमैट अकाउंट खोलने के नाम पर रुपए ले लेती थी। इसके बाद जब कस्टमर रुपयों के बारे में पूछता, तो उसे नुकसान होने का कह दिया जाता था। पुलिस ने महिला समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

भोपाल साइबर सेल को स्वास्तिका एसएनसी नामक स्टॉक मॉर्केट की कंपनी के नाम से फर्जीवाड़ा किए जाने की शिकायत मिली थी। लोगों को स्टॉक मार्केट में इंवेस्टमेंट व डीमैट अकाउंट ओपन करने के लिए संपर्क किया जाता था। उसके बाद शेयर मार्केट में ज्यादा मुनाफा दिलवाने का झांसा देकर कस्टमर से स्वास्तिका एसएनसी के बैंक खाते में पैसा जमा करवाया जाता।

कस्टमर जब रुपए वापस मांगता, तो उसे शेयर में नुकसान होने का कहकर इंतजार करने को कहा जाता। भोपाल के भी एक ग्राहक से इसी तरह रुपयों की ठगी की। इसके बाद भोपाल की क्राइम ब्रांच ने बैंक खातों की मदद से कंपनी की पूरी जानकारी हासिल की।

पुलिस ने आरोपियों से 3 लेपटॉप, 19 मोबाइल फोन, 35 सिम कार्ड, 2 एटीएम कार्ड जब्त किए। पुलिस ने आरोपियों 3 लाख 15 हजार रुपए फ्रीज किए।
पुलिस ने आरोपियों से 3 लेपटॉप, 19 मोबाइल फोन, 35 सिम कार्ड, 2 एटीएम कार्ड जब्त किए। पुलिस ने आरोपियों 3 लाख 15 हजार रुपए फ्रीज किए।

लोगों को फंसाने का तरीका

पूरा फर्जीवाड़ा एक महिला संचालित कर रही थी। ममता नाम की यह महिला मुख्य आरोपी अभिषेक गौर से विवाद के चलते अलग हो गई। उसने होशंगाबाद में खुद का फर्जी कॉल सेंटर बनाया। इसके लिए युवाओं और युवतियों को जॉब पर रखा। उसने सलमान मंसूरी के साथ मिलकर स्वास्तिका एसएनसी का संचालन शुरू किया। ममता ने फिशिंग के दौरान ठगे जाने वाले लोगों की लिस्ट अभिषेक गौर के पास से चुरा ली थी। इसी लिस्ट से उसने लोगों से संपर्क कर उन्हें स्टॉक मार्केट में पैसा लगाने की जानकारी देना शुरू कर दिया।

वह अकाउंट खुलने का झांसा देकर रुपए सीधे कंपनी के बैंक खातों में जमा करवा देती थी। लोगों से लिया गया पैसा वह स्टॉक मार्केट में कभी नहीं लगाती थी, बल्कि अपने पास रख लेती थी।

पांच राज्यों में 60 से अधिक लोगों को शिकार बना चुकी

ममता और सलमान मंसूरी कंपनी का संचालन, प्रबंधन के साथ जाल में फंसे ग्राहकों से फोन पर बात करते थे। यह अब तक मध्यप्रदेश के अलावा महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्र प्रदेश, और तेलंगाना में जाल फैला चुके थे। अब तक आरोपियों ने करीब 60 लोगों से 30 लाख रुपए लेना बताया है।

खबरें और भी हैं...