पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shivraj Singh Chouhan Called For A High level Meeting; SIT Will Investigate Minor Girl Death Case

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्यारे मियां यौन शोषण मामला:नींद की गोलियां खाने के बाद नाबालिग की मौत की जांच SIT करेगी; कमलनाथ का तंज- राजधानी में बच्चियां सुरक्षित नहीं, कितना शर्मसार करोगे

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्यारे मियां यौन शोषण की शिकार नाबालिग की मौत मामले को लेकर मुख्मयंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  उच्चस्तीय बैठक बुलाई। - Dainik Bhaskar
प्यारे मियां यौन शोषण की शिकार नाबालिग की मौत मामले को लेकर मुख्मयंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उच्चस्तीय बैठक बुलाई।
  • मुख्यमंत्री ने कहा- भोपाल में बेटी को हम बचा नहीं पाए। यह साधारण घटना नहीं, यह दुर्भाग्यपूर्ण है
  • अंतिम संस्कार में अमानवीयता का आरोप, परिजन बेटी का शव घर ले जाना चाहते थे, पुलिस सीधे श्मशान घाट ले गई

भोपाल में प्यारे मियां यौन शोषण केस की शिकार नाबालिग की मौत की जांच SIT करेगी। घटना को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार सुबह 11 बजे एक उच्चस्तीय बैठक बुलाई। उन्होंने कहा, 'भोपाल में बेटी को हम बचा नहीं पाए। यह साधारण घटना नहीं, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। इसमें जो भी दोषी होगा,कार्रवाई की जाएगी।'

उधर, पूर्व सीएम कमलनाथ ने घटना को शर्मनाक बताते हुए कहा कि राजधानी में ही बच्चियां सुरक्षित नहीं है। यह सरकार और कितना शर्मसार करेगी...। वहीं, बैठक में डीजीपी विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव गृह राजेश राजौरा, सीएम के ओएसडी मकरंद देउसकर, आईजी भोपाल उपेंद्र जैन तथा भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया मौजूद थे।

पूर्व सीएम ने कहा, घटना बेहद निंदनीय व शर्मनाक
कमलनाथ ने घटना को बेहद निंदनीय व शर्मनाक बताया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा है कि प्रदेश की राजधानी में यौन शोषण की शिकार मासूम बच्चियां बालिका गृह में भी सुरक्षित नहीं है। पीड़िता और उसके परिवार के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार किया गया। कहां है जिम्मेदार ? प्रदेश को कितना शर्मसार करेंगे ?

अंतिम संस्कार: बेटी का शव घर नहीं ले जा पाए परिजन, हाथरस दुष्कर्म कांड जैसी अमानवीयता

यूपी के हाथरस दुष्कर्म कांड की पीड़िता के अंतिम संस्कार में पुलिस-प्रशासन ने जैसी संवेदनहीनता दिखाई थी, वैसी ही अमानवीयता भोपाल में भी की गई। प्यारे मियां यौन शोषण केस की शिकार नाबालिग बेटी की नींद की गोलियां खाने से बुधवार को मौत हो गई थी। गुरुवार को पुलिस की निगरानी में दोपहर 1:30 बजे उसका भदभदा विश्राम घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। परिजनों का आरोप है कि वे बेटी का शव घर लाना चाहते थे, उसे अंतिम सम्मान देकर विदा करना चाहते थे।

यह नाबालिग इस केस में पीड़िता और फरियादी थी, न कि आरोपी या अपराधी। फिर भी पुलिस शव को हमीदिया से सीधे श्मशान ले गई। पीड़िता की मां और परिजन घर पर बेटी के शव का इंतजार करते रहे, लेकिन पुलिस उन्हें शव नहीं सौंपा। मोर्चरी में पीड़िता के चाचा और पिता ने शव घर ले जाने की जिद भी की। इस बीच बैरागढ़ एसडीएम मनोज उपाध्याय ने हमीदिया पहुंचकर परिजनों को दो लाख रु. का चेक दिया।

मामले की सीबीआई जांच की मांग
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने इस घटना की सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि भोपाल पुलिस ने पीड़िता के साथ वैसी ही अमानवीयता की है, जैसा पिछले साल हाथरस दुष्कर्म कांड की पीड़िता के साथ उत्तर प्रदेश पुलिस ने की थी। इसलिए सीबीआई जांच कराई जानी चाहिए।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

और पढ़ें