पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shivraj Singh Chouhan Government On Coronavirus Death In Madhya Pradesh

कोरोना से मौतों पर सरकार की सफाई:स्वास्थ्य विभाग के ACS ने कहा- पिछले सप्ताह कोविड संदिग्ध को भी पॉजिटिव मानकर किया अंतिम संस्कार

भोपाल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 1 सप्ताह में 15 गुना केस बढ़े, औसत 19% पॉजिटव केस आए जो 24% होने की आशंका
  • प्रदेश में 60% मरीज होम आइसोलेशन में, 40% अस्पतालों में हो रहा है इलाज

मध्य प्रदेश में कोरोना से होने वाली मौतों को लेकर सरकार ने सफाई दी है। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने कहा है कि पिछले सप्ताह कोविड सस्पेक्ट (संदिग्ध) को भी कंफर्म्ड मानकर उनका अंतिम संस्कार किया गया है। उन्होंने कहा कि मैं मौतों के आंकड़ों की गारंटी नहीं लेता हूं, लेकिन सरकार कुछ भी नहीं छुपा रही है।

बता दें कि भोपाल में 27 मार्च से 1 अप्रैल में 102 शवों का अंतिम संस्कार कोरोना गाइडलाइन से किया गया है। इसमें से भोपाल के ही 55 संक्रमितों के शव थे। अकेले भदभदा विश्राम घाट पर 84 शव लाए गए थे, जिसमें भोपाल के 41 शव थे। दरअसल, यहां रोजाना 14 से 15 शव लाए जा रहे हैं, जबकि स्वास्थ्य विभाग की हेल्थ बुलेटिन के अनुसार इन 6 दिनों में भोपाल में सिर्फ 6 मौतें हुईं।

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य सुलेमान ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि कहा कि एक सप्ताह में कोरोना के 15 गुना केस बढ़े हैं। सबसे ज्यादा केस भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर सहित 10 जिलों में आ रहे हैं। यही वजह है कि 14 शहरों में रविवार का लॉकडाउन किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में एक सप्ताह में औसत 19% पॉजिटव केस आए। यह आंकड़ा 24% होने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक 5% से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

देश के आंकड़ों से तुलना करें तो मध्य प्रदेश में 3.5% केस हैं। यह अब तक का सबसे ज्यादा है। जनवरी के महीने में यह 1.1% रहा। वर्तमान में मध्य प्रदेश देश में 7वें स्थान पर है। सबसे चिंताजनक एक्टिव केस में लगातार बढ़ोत्तरी है। 4 अप्रैल को प्रदेश में एक्टिव केस का आंकड़ा 22, 654 पहुंच चुका है। इसको लेकर एसीएस सुलेमान ने कहा कि प्रदेश के प्रदेश में 60% मरीज होम आईसोलेशन में, 40% अस्पतालों में इलाज हो रहा है।

वैक्सीन लगाने के बाद कोरोना नहीं होगा, इसकी गारंटी नहीं
अपर मुख्य सचिव से पूछा गया कि क्या वैक्सीन लगाने के बाद कोरोना नहीं होगा? इस पर उन्होंने स्पष्ट किया कि वैक्सीन लगाने के बाद कोरोना नहीं होने की गारंटी नहीं है। लेकिन दो डोज लगने के बाद आफ सैफ रहेंगे। यानी कोरोना वायरस शरीर में प्रवेश करता भी है तो उसका असर नहीं होगा।

राजधानी में कोरोना से मौत के आंकड़े छुपा रही सरकार:भदभदा विश्राम घाट पर 27 मार्च से 1 अप्रैल तक 84 शव लाए गए, इसमें भोपाल के ही 41; फिर भी सरकार के रिकॉर्ड में सिर्फ 6 मौतें

14 शहरों में रविवार का लॉकाडाउन
अपर मुख्य सचिव गृह डा. राजेश राजौरा ने कोरोना गाइड लाइन का उल्लंघन करने वालों की जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में डेढ़ लाख लोगों पर मास्क नहीं पहनने पर कार्यवाही की गई है। ऐसे लाेगों से 1 करोड़ 50 लाख रुपए का जुर्माना भी वसूला गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 14 शहरों में लॉकडाउन है। स्कूल-कॉलेज फिलहाल 15 अप्रैल तक बंद रहेंगे।

खबरें और भी हैं...