• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shivraj Singh Chouhan Government's Gift Before Holi; 4.37 Lakh Employees Get 75 Percent Of Arrears

होली से पहले CM का तोहफा:4.37 लाख कर्मचारियों के खाते में आएगी 75% एरियर की राशि, दिवाली से पहले 25% राशि का हो चुका है भुगतान

भोपाल10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राष्ट्रीय पेंशन योजना के तहत कर्मचारियों को एरियर से 20% अंशदान काटने के बाद शेष राशि का भुगतान होगा
  • वित्त विभाग ने जारी किया आदेश, सरकार को आएगा करीब 1400 करोड़ का भार

मध्यप्रदेश में होली से ठीक पहले शिवराज सरकार ने कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया हैl प्रदेश के 4.37 लाख कर्मचारियों को सातवें वेतनमान की एरियर की तीसरी व अंतिम किस्त की 75% राशि जारी कर दी गई है। यह राशि जल्द ही कर्मचारियों के खाते में आ जाएगी। वित्त विभाग ने मंगलवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। इसके मुताबिक सरकार पर करीब 1400 करोड़ रुपए का भार आएगा।

जानकारी के मुताबिक सरकार ने कोविड 19 के कारण 1 मई 2020 से देय एरियर की तीसरी व अंतिम किस्त का भुगतान कर्मचारियों को नहीं किया था। सरकार ने दीपावली से पहले अक्टूबर 2020 में 25% राशि का भुगतान कर्मचारियों को किया था। हालांकि इसके साथ सरकार ने अब सरकार ने सातवें वेतनमान के एरियर की अंतिम किस्त की 75% राशि का नगद भुगतान करने का आदेश जारी कर दिया है।

सातवें वेतनमान के एरियर की तीसरी व अंतिम किस्त की 75% राशि का भुगतान करने वित्त विभाग का आदेश।
सातवें वेतनमान के एरियर की तीसरी व अंतिम किस्त की 75% राशि का भुगतान करने वित्त विभाग का आदेश।

बता दें, अक्टूबर माह में तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को एरियर की राशि का 50% नगद भुगतान किया था, जबकि शेष 50% राशि भविष्य निधि खाते में जमा की थी। इसके अलावा प्रथम एवं द्वितीय श्रेणी के अधिकारियों की 100% राशि उनके भविष्य निधि खाते में जमा कराई गई थी, लेकिन अब सरकार ने पूरी राशि नगद देने का निर्णय लिया है। बता दें, सरकार सातवें वेतनमान की वार्षिक किस्त की राशि का भुगतान 2 पार्ट 1 मई 2018 और 1 मई 2019 को कर चुकी है।

वित्त विभाग के आदेश के मुताबिक राष्ट्रीय पेंशन योजना के अंतर्गत आने वाले कर्मचारियों को एरियर से 20% अंशदान काटने के बाद शेष राशि का भुगतान होगा। बता दें कि प्रदेश में वर्ष 2005 के बाद भर्ती कर्मचारियों को पेंशन नहीं दी जाती है। ऐसे कर्मचारियों को राष्ट्रीय पेंशन योजना का लाभ दिया जाता है। राज्य स्कूल शिक्षा सेवा के नए कैडर में शामिल किए गए करीब 2.37 लाख अध्यापक इस योजना के अधीन हैं।

खबरें और भी हैं...