पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shivraj Singh Chouhan Govt Political Appointments Pressure; Jyotiraditya Scindia Meets VD Sharma, Bhargava In Bhopal Today

लंच संगठन में, डिनर सरकार का:सिंधिया की समर्थक नेताओं को एडजस्ट करने की कोशिश; BJP और RSS के प्रमुख नेताओं से मुलाकात के बाद डिनर मंत्री भार्गव के घर

मध्य प्रदेश11 दिन पहले
भोपाल आए ज्योतिरादित्य सिंधिया CM से मुलाकात के बाद अकेले ही संघ कार्यालय गए

प्रदेश भाजपा में चल रही सरगर्मियों के बीच राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया बुधवार से तीन दिन के मध्य प्रदेश प्रवास पर हैं। CM सहित भाजपा नेताओं से हुई मुलाकात के बाद वे बुधवार देर शाम को RSS के भोपाल कार्यालय समिधा पहुंचे। अकेले ही अंदर गए। वहां मध्य क्षेत्र प्रचारक दीपक विस्पुते के साथ मुलाकात की। संगठन के साथ निगम मंडल में समर्थकों की भूमिका पर चर्चा की अटकलें हैं। इसके बाद रात को पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव के 74 बंगले स्थित निवास पर पहुंचे। डिनर भी किया। भार्गव ने मुलाकात की तस्वीर भी शेयर की हैं।

इससे पहले सिंधिया मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से मिलने CM हाउस पहुंचे। यहां एक घंटे तक मुलाकात की। सिंधिया ने कहा- सीएम के साथ कोरोना नियंत्रण और संभावित तीसरी लहर को देखते हुए वैक्सीनेशन और संगठन को मजबूत करने पर भी चर्चा हुई। निगम-मंडल में नियुक्तियों के लेकर कहा कि हमेशा पद के साथ राजनीति को नहीं जोड़ना चाहिए। कांग्रेस के बयानों पर सिंधिया ने कहा कि मुझे बीजेपी और प्रदेश की जनता से मतलब है। कांग्रेस क्या कर रही है, क्या बोल रही है? मैं इस बारे में नहीं सोचता। उन्होंने कहा कि बीजेपी में कोई मतभेद नहीं है। यह अनुशासित पार्टी है। इसी आधार पर चलती रहेगी। केंद्रीय मंत्री बनने के सवाल पर बोले कि मुझे जनसेवा से मतलब है।

सिंधिया की मुख्यमंत्री के साथ हुई बैठक में प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा,सह संगठन मंत्री हितानंद शर्मा मौजूद थे। नगरीय विकास व आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह बैठक के बीच में पहुंचे। सीएम हाउस में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, पूर्व मंत्री इमरती देवी सहित कई सिंधिया समर्थक पहुंचे थे।

इससे पहले सिंधिया नेतृत्व परिवर्तन और राजनीतिक बदलाव से इनकार करते हुए कहा कि कांग्रेस ऐसे सवाल उठाती है। यह उनका असली चेहरा है। कांग्रेस ने वैक्सीन को लेकर भी सवाल उठाए थे, लेकिन जनता ने जवाब दे दिया।

सुबह सिंधिया भोपाल आए और एयर पोर्ट से सीधे प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के घर पहुंचे थे। दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में मुलाकात की। लंच भी किया। इससे पहले सिंधिया ने अपने प्रवास को लेकर उन्होंने कहा कि BJP मेरा घर है, इसलिए मैं सबसे मिलने आया हूं। दिनभर में उनकी बीडी शर्मा, शिवराजसिंह चौहान और मंत्री भूपेंद्रसिंह से घर पर अलग-अलग मुलाकात हो चुकी है।

सिंधिया के विरोध में ग्वालियर में पोस्टरबाजी:पोस्टर में सोते हुए सिंधिया को दिखाया; लिखा- तुम लोगों ने जगाया क्यों नहीं, CM की दौड़ में नरोत्तम, कैलाश आगे निकल गए..

सिंधिया ने मुलाकात को बताया सामान्य, देखें वीडियो

राजनीतिक चश्मे से नहीं देखें इस मुलाकात को: सिंधिया

इससे पहले सिंधिया ने कहा कि सामान्य मुलाकात है। इसे राजनीतिक चश्मे से नहीं देखना चाहिए। मैं और वीडी शर्मा एक ही पृष्ठभूमि से हैं। हमारे निजी संबंध हैं। मेल मुलाकात से आपसी रिश्ते मजबूत होते हैं। जितिन प्रसाद के बीजेपी में शामिल होने पर सिंधिया ने कहा कि वे मेरे भाई हैं। जिस राजनीतिक दल ने देश के विकास में नई इबारत लिखी है, उस बीजेपी में उनका स्वागत है।

शर्मा बोले- रूटीन मुलाकात है

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने कहा कि हर मुलाकात को डिप्लोमैसी नहीं बताना चाहिए। यह रूटीन मुलाकात है। निगम मंडल और तमाम विषयों पर चर्चा वीडी शर्मा ने कहा कि जाहिर सी बात है, जब नेताओं का मिलाप होता है, तो कई बातों पर चर्चाएं होती हैं। बीजेपी में निर्णय सामूहिक होते हैं। उन्होंने सत्ता परिवर्तन की खबर को कांग्रेस की देन बताया। बीजेपी की नई कार्यसमिति पर उन्होंने कहा कि सभी मिलजुल कर काम करेंगे और पार्टी को मजबूत करेंगे। कार्यसमिति गठन में हर वर्ग और हर क्षेत्र का ध्यान में रखा गया है।

भोपाल में नेताओं से मुलाकात के सवाल पर कहा कि हम आपस में मिले तो आप (कांग्रेस) दुखी, ना मिले ताे सवाल उठाते हैं। वे ही बता दें कि हमें क्या करें, जिससे आप खुश हों? सिंधिया और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के बीच मुलाकात को लेकर ऐसा माना जा रहा है कि निगम-मंडलों में नियुक्तियों को लेकर इनके बीच चर्चा हुई।

सिंधिया के आने से ठीक एक दिन पहले प्रदेश कार्यसमिति की घोषणा होने के बाद अब मुख्यमंत्री मंत्री शिवराज सिंह चौहान पर सरकार में राजनीतिक नियुक्तियां करने का दबाव बढ़ रहा है। इसकी वजह यह है कि पिछले सप्ताह प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजय वर्गीय, नरोत्तम मिश्रा और केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल की बंद कमरों में मुलाकातें हुई। कहा जा रहा है कि इस दौरान प्रदेश कार्य समिति के अलावा निगम-मंडलों में नियुक्तियों को लेकर चर्चा हुई थी।

MP BJP कार्यसमिति का सूची विवाद:इंटरनल एनालिसिस के लिए गई थी लिस्ट, गलती से हो गई पब्लिश; भाजपा का लैटर पैड और किसी के हस्ताक्षर भी नहीं

पार्टी सूत्रों के मुताबिक प्रदेश कार्यसमिति की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निगम-मंडलों में नियुक्ति करने का दबाव बढ़ गया है। दरअसल, सिंधिया चाहते हैं कि उनके समर्थक नेताओं को निगम-मंडलों की कमान दी जाए। इसमें विधानसभा उप चुनाव हार चुकी इमरती देवी को महिला वित्त विकास निगम की कमान देने पर सरकार और संगठन दोनाें लगभग राजी हैं, लेकिन अन्य नेताओं को लेकर सहमति नहीं बन पाई है।

चुनाव में हारे समर्थकों के पुनर्वास पर जोर

ऐसा माना जा रहा है कि ऐदल सिंह कंषाना, मुन्नालाल गोयल व गिर्राज दंडोतिया का पुनर्वास हो जाएगा। इसको लेकर सिंधिया ने वीडी शर्मा से चर्चा की।

सोशल डिस्टेंसिंग नहीं दिखी

बुधवार दोपहर सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया दिल्ली से भोपाल पहुंचे। कार्यकर्ताओं ने उनके राजाभोज एयरपोर्ट पर स्वागत किया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग भूल गए। कोरोना में इस तरह की लापरवाही गलत है। अपना चेहरा दिखाने के लिए समर्थकों ने कोरोना गाइडलाइन को तोड़ने में संकोच नहीं किया। बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के ही समर्थक उनका स्वागत करते नजर आए। सिंधिया के एयरपोर्ट से सीधे अध्यक्ष वीडी शर्मा से मिलने के लिए रवाना होने के सियासी मायने लगाए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...