पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shivraj's Charge Kamal Nath Canceled Chhatarpur Medical College, Will Start Construction Work Soon

शिवराज का आरोप:कमलनाथ ने छतरपुर मेडिकल कॉलेज निरस्त किया, जल्द शुरू कराएंगे निर्माण कार्य

छतरपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री और उमा भारती ने एक दूसरे की जमकर प्रशंसा की।
  • बड़ामलहरा क्षेत्र में 544 करोड़ रुपए की लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण
  • सीएम ने कहा- 18 सितंबर को 20 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा की 4600 करोड़ की राशि डाली जाएगी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ामलहरा क्षेत्र में 544 करोड़ रुपए की लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया। उन्होंने 394 करोड़ रुपए की काठन सिंचाई परियोजना का भूमिपूजन भी किया। इस परियोजना से 74 गांव के 15 हजार हेक्टेयर भूमि में सिंचाई होगी। मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि उनके कार्यकाल में स्वीकृत मेडिकल काॅलेज को कमलनाथ ने निरस्त कराया है, पर वे जल्द निर्माण शुरू कराएंगे।

सीएम ने कहा है कि जिन किसानों की फसलें खराब हुई हैं, उनका सर्वे करके राहत राशि दी जाएगी। केन बेतवा लिंक परियोजना को स्वीकृत कर छतरपुर जिले के प्रत्येक खेत तक पानी पहुंचाया जाएगा। क्षेत्र में विकास के जो कार्य ठप हो गए थे, उन्हें पुनः प्रारंभ किया जाएगा।

स्थानीय उद्योगों, जिले की हीरा की खदान में 75 प्रतिशत नौकरियां बुंदेलखंड के युवाओं को मिलेंगी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने 2018 में छतरपुर में मेडिकल कॉलेज की सौगात दी। इसके लिए बजट स्वीकृत किया था, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने साठगांठ करके इसे निरस्त कर दिया था। पर अब छतरपुर वासियों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे, मेडिकल कॉलेज का कार्य जल्द शुरू किया जाएगा।

18 सितंबर को 20 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा की 4600 करोड़ की राशि डाली जाएगी: सीएम

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के साथ अब न्याय होगा। 18 सितंबर को 20 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा की 4600 करोड़ की राशि डाली जाएगी। वहीं 16 सितंबर को प्रदेश के 37 लाख लोगों को 1 रुपए प्रति किलो की दर से गेहूं मिलना शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आर्शीर्वाद से छतरपुर जिले के 88 हजार 773 गरीबों को सस्ता खाद्यान्न मिलना शुरू हो जाएगा। जल-जीवन मिशन के तहत प्रत्येक गांव को टोंटी वाले नल का पानी मिलेगा।

पर्यटक स्थल की सूची में शामिल होगा भीमकुंड
मुख्यमंत्री चौहान ने मंच से कहा कि लिधौरा में सर्वसुविधायुक्त स्टेडियम बनाया जाएगा। यहां के हाईस्कूल का उन्नयन होगा। घुवारा में अगले सत्र से डिग्री कॉलेज शुरू होगा। वहीं क्षेत्र के भीमकुंड को विकसित कर पर्यटन स्थल की सूची में शामिल किया जाएगा। इसके साथ बड़ामलहरा के अस्पताल का 100 बिस्तर वाले अस्पताल में उन्नयन किया जाएगा।

मुख्यमंत्री और उमा भारती ने एक दूसरे की जमकर की प्रशंसा
कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक दूसरे की जमकर प्रशंसा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश को मॉडल प्रदेश बनाने में दीदी उमाजी की महती भूमिका रहेगी। मैं जो भी काम करता हूूं, उमा दीदी से पूछ कर ही करता हूूं।

उनके आशीर्वाद से ही मेरी सरकार चलेगी। वहीं उमा भारती ने कहा कि शिवराज सिंह में गंभीरता, परिपक्वता, सहनशीलता और शालीनता हैै। जितने अच्छे तरीके से वह सरकार चला रहे हैं, उतने अच्छे से मैं भी नहीं चला पाती। उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह एक गृहस्थ संत की तरह लोगों की सेवा कर रहे हैं।

आत्मनिर्भर देश बनाने मेें मध्यप्रदेश एक मॉडल स्टेट के रूप में कार्य करेगा। यहां सारे संसाधन उपलब्ध हैं। परिश्रम करने वाले लोग हैं। प्राकृतिक संपदा है। अब विकास के मामले में बुंदेलखंड पीछे नहीं रहेगा। बांध के बन जाने से सिंचाई परियोजना के पूर्ण होने पर बुंदेलखंड की गरीबी और भुखमरी दूर होगी। सभा का संचालन आकाशवाणी के उद्घोषक राकेश खरे ने और आभार प्रदर्शन भाजपा नेता जयराम चतुर्वेदी ने किया।

काठन परियोजना से खुलेंगे विकास के नए रास्ते
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने क्षेत्र के विकास का जो संकल्प लिया है उसे राज्य सरकार पूरा करेगी। आज 394 करोड़ की काठन वृृहद सिंचाई परियोजना का भूमिपूजन हुआ है। इससे विकास के नए रास्ते खुलेंगे।

पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि विकास के मामले में यह क्षेत्र अब पीछे नहीं रहेगा। 2003 के बाद इस क्षेत्र के विकास के लिए लगातार कार्य किए जा रहे हैं। डाकू समस्या का उन्मूलन हुआ है। क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग द्वारा सभी आवश्यक निर्माण कार्य कराए जाएंगे।

  • खराब फसल हाथ में लेकर किसानों ने किया प्रदर्शन : जैसे ही मंच पर मुख्यमंत्री का भाषण शुरू हुआ, सामने पांडाल में कुछ किसान हाथों में खराब फसलें लेकर हो हल्ला करने लगे। किसान खराब हुई फसलों का सर्वे कराकर मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। इस पर मुख्यमंत्री ने मंच से ही कलेक्टर को खराब फसलों का जल्द सर्वे करवा कर मुआवजा की सूची भेजने के लिए कहा।
  • मुख्यमंत्री और नेताओं काे जवाब देते रहे कलेक्टर : पूरी सभा के दौरान मंच पर कलेक्टर शीलेंद्र सिंह एक फाइल लिए खड़े रहे। कभी वह मुख्यमंत्री के बुलाने पर उनके सवालों के जवाब देते, कभी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के पास जाकर तो कभी मंत्री गोपाल भार्गव के पास जाकर उनके सवालों के जवाब देते रहे।
  • घुवारा में कृषि कॉलेज खोलने की मांग : खाद्य निगम अध्यक्ष प्रद्युम्न सिंह ने मंच से घुवारा में कृषि कॉलेज खोलने की मांग की। लिधौरा, घुवारा और बकस्वाहा में स्टेडियम बनाए जाने की मांग की। रामटौरिया पंचायत को उन्नयन कर नगर परिषद बनाए जाने के साथ बड़ामलहरा को जिला बनाए जाने की मांग रखी।
  • हंगामा कर रहे ओबीसी नेता गिरफ्तार : इसके बाद पिछड़ा वर्ग महा सभा के करीब एक दर्जन से अधिक युवक हाथों में तख्तियां लेकर नारेबाजी करने लगे। यह युवा सरकारी नौकरियों में एवं योजनाओं में आरक्षण की मांग कर रहे थे। पुलिस ने हंगामा कर रहे 3-4 युवाओं को गिरफ्तार कर लिया।

झलकियां

पानी की बोरियां सिर पर रखकर ले गए लोग
पानी की बोरियां सिर पर रखकर ले गए लोग

मुख्यमंत्री की सभा में आए लोगों के पीने के लिए ठंडे पानी के पाउच की बोरियां ट्रकों में आई थीं। लेकिन भीषण गर्मी व उमस में लोगों को पीने के लिए तो पानी कम मिला लेकिन करीब 50 से अधिक लोग पानी के पाउचों की बोरियां सिर पर रखकर ले गए। कई लोग अपनी मोटर साइकिलों में पानी की बोरियां ले जाते दिखे।

जान जोखिम में डालकर पहुंची महिलाएं
जान जोखिम में डालकर पहुंची महिलाएं

मुख्यमंत्री की सभा में भीड़ जुटाने के लिए जहां यात्री बसों, निजी वाहनों को लगाया गया था। वहीं टैक्सियों में वृद्ध महिलाओं को भर कर सभा स्थल लाया गया। टैक्सियों में यह महिलाएं अपनी जान जोखिम में डालकर पहुंची।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें