• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Madhya Pradesh Guna Encounter; Jaivardhan Singh On Shivraj Singh Chouhan Minister, Jyotiraditya Scindia

गुना में 'पॉलिटिकल एनकाउंटर':जयवर्धन ने मंत्री सिसोदिया और शिकारी के फोटो जारी किए; लिखा- हिरण के शिकार के बाद दावत किसकी थी

भोपाल4 महीने पहलेलेखक: गिरीश उपाध्याय

गुना के आरोन में पुलिस और शिकारियों के बीच हुई मुठभेड़ और इसके बाद हुए एनकाउंटर पर सियासी मुठभेड़ जारी है। शुरुआत में दिग्विजय सिंह को घेरकर BJP अब शांत है। BJP ने शिकारियों का राघौगढ़ किले (दिग्विजय सिंह) से कनेक्शन निकाला तो इसके पलटवार में जयवर्धन सिंह ने शिवराज सरकार के मंत्री और सिंधिया समर्थक महेंद्र सिंह सिसोदिया के फोटो जारी कर दिए। फोटोज में मंत्री के साथ एनकाउंटर में मारा गया शिकारी शहजाद खान है।

दिग्विजय के राघौगढ़ से विधायक बेटे जयवर्धन सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को टैग करते हुए प्रशासन की जमकर तारीफ की। उन्होंने लिखा- अब तक जो कार्रवाई की है, उसकी प्रशंसा करता हूं, लेकिन आरोपियों की कॉल डिटेल निकाली जाए। काले हिरण के शिकार के बाद ये किसी की दावत का इंतजाम करते थे। 5 या 6 दिन पहले इन्होंने एक दावत सजाई थी। (यह इशारा महेंद्र सिंह सिसोदिया की तरफ है।)

नेता प्रतिपक्ष का कॉन्फिडेंस एक कदम आगे
कांग्रेस के सीनियर लीडर और नेता प्रतिपक्ष गोविद सिंह ने भोपाल में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा- गुना SP राजीव मिश्रा का भी संरक्षण शिकारियों के साथ है। इतना ही नहीं उन्होंने पुलिसकर्मी हत्याकांड में गुना BJP जिला उपाध्यक्ष हीरेन्द्र सिंह बंटी बना, मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के साथ अपनी ही पार्टी के दिग्विजय सिंह के फोन कॉल की डीटेल्स निकालने सहित सीएम से न्यायिक जांच की मांग कर दी।

14 मई की तड़के 3 बजे पुलिस और शिकारियों में मुठभेड़ हुई थी। SI राजकुमार जाटव, हेड कॉन्स्टेबल संतराम और कॉन्स्टेबल नीरज भार्गव की मौत हो गई थी। पुलिस ने इस मुठभेड़ में शिकारी नौशाद खान को मार गिराया था। बाद में उसका भाई शहजाद और छोटू पठान भी मारा गया। घटना में क्या पॉलिटिकल एक्शन हुए, किसने क्या कहा, जानते हैं सिलसिलेवार...

सबसे पहला बयान दिग्विजय का आता है
शनिवार सुबह 7.50 बजे सबसे पहले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्वियज सिंह का बयान आया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- घटना की निंदा करता हूं। पुलिस से अनुरोध करता हूं कि इन अपराधियों की जांच कर इन्हें कठोर सजा दिलवाएं।

गृहमंत्री बोले- ऐसी कार्रवाई करेंगे, जो नजीर बनेगी
दिग्विजय के बाद सुबह 8 बजे सबसे पहले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान सामने आता है। वह कहते हैं- ऐसी कार्रवाई होगी, जो नजीर बनेगी।

CM सुबह 9.30 पर आपात बैठक बुलाते हैं
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान CM हाउस में सुबह 9.30 बजे इमरजेंसी मीटिंग बुला लेते हैं। शिवराज आईजी ग्वालियर अनिल शर्मा को हटाने के निर्देश जारी कर देते हैं।

BJP विधायक रामेश्वर शर्मा और मंत्री सारंग हो जाते हैं एक्टिव
दूसरे दिन सुबह 10.18 बजे BJP विधायक रामेश्वर शर्मा के लगातार बयान सामने आने लगते हैं। शर्मा सोशल मीडिया पर लिखते हैं- खून की एक-एक बूंद का हिसाब किया जाएगा। सुबह 10.42 बजे दूसरी पोस्ट में लिखते हैं- एक आरोपी नौशाद खान को मार गिराया गया। बाकी भी नहीं बख्शे जाएंगे।

मंत्री विश्वास सारंग बयान जारी कर लिखते हैं- आपने शिवराज सिंह चौहानजी का सहज रूप देखा था, अब तांडव रूप देखिए।

वीडी शर्मा के बयान से चढ़ जाता है सियासी पारा
अभी घटना की निंदा और उस पर लिए गए एक्शन पर चल रही यह बयानबाजी दोपहर तक आरोप पर आ गई। दोपहर 1 बजे BJP प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हैं। वह सीधा दिग्विजय सिंह का नाम लेकर शिकारियों से उनका संबंध बता देते हैं। शर्मा आरोप लगाते हुए कहते हैं- अपराधियों को दिग्विजय का संरक्षण है। जांच होनी चाहिए।

दिग्विजय का जवाब- जांच करा लो
वीडी शर्मा के इसी बयान के बाद कांग्रेस और BJP नेता एक-दूसरे को घेरना शुरू कर देते हैं। उदयपुर में पार्टी के चिंतन शिविर में शामिल होने पहुंचे दिग्विजय दोपहर 3.07 बजे ट्वीट करते हैं- केंद्र में सरकार भाजपा की। मप्र में सरकार भाजपा की। भाजपा सरकार जांच करवाए। दिग्विजय के बेटे जयवर्धन सिंह भी आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग करते हैं।

रात 9 बजे कांग्रेस फोड़ती है 'फोटो बम'
14 मई की ही रात 9 बजे मध्यप्रदेश कांग्रेस फोटो जारी करती है। इसमें गुना BJP के उपाध्यक्ष हीरेंद्र सिंह बंटी हैं और उनके साथ एनकाउंटर में मारा गया नौशाद और भाई शहजाद भी।

जयवर्धन ने सीएम से की कॉल डिलेट निकालने की मांग
14 मई की रात 10.7 बजे जयवर्धन BJP प्रदेशाध्यक्ष से जवाब मांगते हैं। मुख्यमंत्री शिवराज से आरोपियों के कॉल डिटेल निकालने की मांग करते हैं। कहते हैं कि पता चल जाएगा किसका संरक्षण प्राप्त था।

दूसरे दिन कांग्रेस और आक्रामक हो जाती है
15 मई को कांग्रेस और आक्रामक हो जाती है। एक नया फोटो जारी करती है। इसमें शिकारी शहजाद के साथ मंत्री महेंद्र सिसोदिया और गुना BJP जिला उपाध्यक्ष हीरेंद्र सिंह नजर आ रहे हैं। जयवर्धन भी इसी फोटो को शेयर कर वीडी शर्मा से पूछते हैं- क्या हुआ? महाराज (सिंधिया) के आदमियों का नाम आते ही पूरी भाजपा को सांप क्यों सूंघ गया?

BJP की गलत फोटो के जरिए घेरने की कोशिश
17 मई को BJP के ट्विंटर हैंडल से एक ट्वीट हुआ। दरअसल, इस दिन की सुबह एक और आरोपी छोटू पठान का एनकाउंटर हुआ था। BJP एक फोटो पोस्ट करती है। इसमें जयवर्धन के साथ नजर आ रहे युवक को एनकाउंटर में छोटू पठान बताकर लिखती है- ये तस्वीरें बता रही हैं कि अपराधी को किसका संरक्षण प्राप्त था। बाद में जब पता चलता है कि ये वो छोटू पठान नहीं है तो BJP ये ट्वीट डिलीट कर देती है।

यह ट्वीट बाद में बीजेपी ने डिलीट कर दिया।
यह ट्वीट बाद में बीजेपी ने डिलीट कर दिया।

गलत ट्वीट पर घिर जाती है BJP
गलत ट्वीट पर BJP को कांग्रेस फिर घेर लेती है। दिग्विजय सिंह ट्वीट में लिखते हैं- शिवराज जी, वीडी शर्मा जी, गृहमंत्री जी अपनी फौज को संभालिए। महाराज की फौज को बचाते-बचाते आप खुद फंसते जा रहे हैं।

पीसी शर्मा का ट्वीट आता है- वाहवाही लूटने के चक्कर में किसी निर्दोष की हत्या करवा दी शिवराज सरकार ने।

ये भी पढ़ें:-