• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sunshine Will Bloom For The Next 5 Days Across The State Including Indore And Bhopal; Light Drizzle On August 15, Light Rain Expected In Evening And Night

MP में मानसून का दूसरा ब्रेक:इंदौर और भोपाल समेत प्रदेशभर में अगले 5 दिन खिलेगी धूप, 15 अगस्त तक शाम के समय बूंदाबांदी की संभावना

भोपाल4 महीने पहले
भोपाल में गुरुवार को ईदगाह हिल्स के पास इंद्रधनुष नजर आया।

मध्यप्रदेश में मानसून ने फिर ब्रेक ले लिया है। जुलाई के बाद यह दूसरी बार है, जब मानसूनी एक्टिविटी रुकी है। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि सिस्टम के हिमालय के तराई के इलाकों में जाने के कारण भोपाल और इंदौर समेत पूरे मध्यप्रदेश में बारिश का दौर अभी थम गया है। अगले चार-पांच दिन तक इसी तरह धूप निकलेगी और शाम और रात में हल्की बारिश होगी। इस बार मानूसन के उत्तर की तरफ जाने से इंदौर में कम बारिश हुई, जबकि ग्वालियर-चंबल में जमकर पानी गिरा। भोपाल में भी इस बार तेज बारिश नहीं हुई, लेकिन रिमझिम फुहारों ने बारिश का कोटा पूरा कर दिया।

15 अगस्त के बाद दूसरा सिस्टम बनने की उम्मीद
वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि फिलहाल मौसम साफ हो चुका है और अभी कोई भी एक्टिव सिस्टम नहीं बन रहा है। ऐसे में आसमान साफ तो रहेगा, लेकिन हल्की बूंदाबांदी और धूप-छांव होती रहेगी। इस बार 15 अगस्त के दिन सिर्फ हल्की-फुल्की बारिश हो सकती है, कहीं तेज बारिश की संभावना अभी तक नहीं है। अगला सिस्टम 15 अगस्त के बाद ही बनने की उम्मीद है। यह बंगाल की खाड़ी की तरफ से ही हो सकता है, क्योंकि सितंबर में अधिकांश सिस्टम बंगाल की खाड़ी में ही बनते हैं।

इंदौर में महीने के अंत तक अच्छी बारिश की संभावना
साहा ने बताया कि इस बार सिस्टम के उत्तर की तरफ रहने के कारण इंदौर में अच्छी बारिश नहीं हो सकी है। इस कारण बारिश के कोटे से करीब 20% कम हुई है। इंदौर में अब तक करीब 16 इंच बारिश हुई है, जबकि 20 इंच होनी चाहिए थी। यह सामान्य से 4 इंच कम है। अब अगस्त के अंत तक अगर मानसूनी गतिविधियां नीचे रहती है, तो फिर इंदौर में भी अच्छी बारिश होने की उम्मीद है।

भोपाल में अभी तेज बारिश नहीं
मौसम विभाग के अनुसार भोपाल में अब तक करीब 26 इंच बारिश हो चुकी है, जबकि इस दौरान सामान्य कोटा 23 इंच का होता है। यह सामान्य से 3 इंच ज्यादा है। भोपाल में तेज बारिश रिकॉर्ड नहीं की गई है। रिमझिम फुहारों के कारण बारिश का कोटा पूरा हुआ है। अब अगला सिस्टम बनने के बाद हो सकता है कि भोपाल में भी तेज बारिश हो जाए।

मध्यप्रदेश में बारिश की स्थिति।
मध्यप्रदेश में बारिश की स्थिति।

बीते 24 घंटे में यहां बारिश हुई
प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान झाबुआ, देवास, अनूपपुर, शहडोल, सिंगरौली, सीधी, रीवा और पन्ना समेत कुछ जगहों को छोड़कर अधिकांश जगह सूखे रहे। सबसे ज्यादा पानी अमरकंटक में करीब 2 इंच तक गिरा है। अगले 24 घंटे के दौरान प्रदेश भर में बूंदाबांदी होने की संभावना है, तेज बारिश का अलर्ट कहीं नहीं है।

भोपाल बॉर्डर लाइन पर इंदौर रेड जोन में
मध्यप्रदेश में बीते दो से तीन दिन से मानसूनी गतिविधियां कम होने का असर अब दिखने लगा है। जून में रिकॉर्ड बारिश होने के बाद भी भोपाल अब बार्डर पर आ गया है। यहां पर अभी कोटे से सिफ 6% ज्यादा ही बारिश हुई है, जबकि इंदौर फिर से रेड जोन में आ गया है। यहां पर सामान्य से 20% तक बारिश कम हुई है। अगर इसी तरह मानसूनी एक्टिवी थमी रहती हैं, तो भोपाल में भी चिंता की लकीरें खिंच सकती हैं।

खबरें और भी हैं...