• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • The Body Trade Of Innocent Girls Is Happening In My Adopted Villages, After The Statement, The Opposition Surrounded Pragya

​​​​​​​'मेरे गोद लिए गांवों में बच्चियों को बेचा जा रहा':सांसद प्रज्ञा के बयान पर कांग्रेस ने पूछा- खुद की सरकार के खिलाफ आवाज उठाने का साहस है

भोपाल17 दिन पहले

सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोद लिए गांवों में अवैध शराब की बिक्री और आरोपियों को पुलिस से छुड़ाने के लिए बच्चियों को बेचने वाले बयान पर राजधानी की सियासी में उबाल आ गया है। विश्वकर्मा जयंती पर दिए गए साध्वी के बयान पर मंगलवार को कांग्रेस हमलावर हो गई। कांग्रेस प्रवक्ता संगीता शर्मा ने सांसद प्रज्ञा को प्रदेश में खुद की पार्टी की सरकार के खिलाफ आवाज उठाने का साहस दिखाने की चुनौती दी है।

शर्मा ने कांग्रेस दफ्तर में मीडिया से बात करते हुए कहा- सांसद प्रज्ञा को अव्यवस्थाओं का दुखड़ा रोने के बजाय खुद के गोद लिए गांवों की अव्यवस्थाओं के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई करनी चाहिए। शर्मा ने प्रदेश की बीजेपी सरकार पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा- प्रदेश में पिछले 18 साल से राज कर रही बीजेपी सरकार और 4 बार के सीएम शिवराज की सरकार बेटियों को बचाने में फेल हुई है। यहां अपराधों की संख्या लगातार बढ़ रही है और सरकार इन पर अंकुश लगाने में नाकामयाब है। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा भाजपा के भाषण में ही दिखता है। इसके साथ ही उन्होंने इस मामले में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और निर्मला सीतारमण की चुप्पी पर भी सवाल उठाए हैं।

बर्खास्त हो शिवराज सरकार, प्रदेश में लगे राष्ट्रपति शासन
कांग्रेस ने राज्यपाल मंगू भाई पटेल से शिवराज सरकार को बर्खास्त कर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है। सीएम शिवराज और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के इस्तीफे के साथ इस मामले में तुरंत कार्रवाई की भी मांग की है।

कांग्रेस प्रवक्ता संगीता शर्मा ने सांसद प्रज्ञा ठाकुर और सीएम शिवराज पर निशाना साधा है।
कांग्रेस प्रवक्ता संगीता शर्मा ने सांसद प्रज्ञा ठाकुर और सीएम शिवराज पर निशाना साधा है।

अपनी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने का साहस दिखाएं प्रज्ञा
संगीता शर्मा ने साध्वी प्रज्ञा से पूछा कि उन्होंने अभी तक इस मामले में चुप्पी क्यों साध रखी है। उन्होंने संसद में इन गांवों की स्थिति को लेकर आवाज क्यों नहीं उठाई? शर्मा ने कहा कि प्रज्ञा ने जब इन गांवों को गोद ले रखा है तो यहां ऐसी स्थिति क्यों हुई? सीएम की नाक के नीचे से गरीबों को बच्चियों की देह को बेचकर घर चलाना पड़ रहा है। जब 3 गांवों की यह स्थिति है तो प्रदेश के हालात कैसे होंगे? हर दिन मध्यप्रदेश में नाबालिग बच्चियों के साथ रेप और गैंगरेप की घटनाएं हो रही हैं। ऐसे में अगर साध्वी प्रज्ञा में थोड़ी भी संवेदना है तो अपनी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने का साहस दिखाएं। उन्होंने महिला आयोग से भी इस घटना पर संज्ञान लेकर जांच करने का आग्रह किया है।

सांसद साध्वी प्रज्ञा ने यह कहा था...

विश्वकर्मा जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रज्ञा ठाकुर ने यह बयान दिया था।
विश्वकर्मा जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रज्ञा ठाकुर ने यह बयान दिया था।

मैंने जिन 3 गांवों को गोद ले रखा है, उन गांवों की हालत खराब है। इन गांवों की बस्तियों के 250 से 300 बच्चों के पास पढ़ने के साधन उपलब्ध नहीं हैं। यहां के लोगों के पास कमाई का जरिया नहीं है और इनके पास खाने के पैसे तक नहीं है। अब यहां ज्यादातर लोग कच्ची शराब बनाकर अवैध तरह से बेचते हैं। जब पुलिस इन लोगों को पकड़ती है तो ये अपने परिजनों को छुड़ाने के लिए अपनी मासूम बच्चियों को बेच देते हैं।

खबरें और भी हैं...