पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • The Schools In MP Will No Longer Be 'garden Of The Mother'; Cook Sunita Told CM Mother Feels Familiar

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

CM की वर्चुअल कॉन्फ्रेंस:MP के स्कूलों में अब किचन गार्डन नहीं 'मां की बगिया' होगी; रसोइया सुनीता ने CM से कहा- मां से अपनापन लगता है

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल के फंदा की प्राथमिक शाला में किचन गार्डन को मां की बगिया नाम दिया गया है। - Dainik Bhaskar
भोपाल के फंदा की प्राथमिक शाला में किचन गार्डन को मां की बगिया नाम दिया गया है।
  • शिवराज ने 2500 नए किचन शेड और 7100 पोषण वाटिकाओं (मां की बगिया) का लोकार्पण किया
  • मनरेगा के कन्वर्जेंस से हर स्कूल में बनवाए जाएंगे किचन शेड और मां की बगिया

मध्य प्रदेश के सभी स्कूलों में किचन शेड और किचन गार्डन यानि 'मां की बगिया' खोली जाएगी। गुरुवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 2500 नए किचन शेड और 7100 पोषण वाटिकाओं (मां की बगिया) का मिंटो हाॅल से वर्चुअल लोकार्पण किया। CM ने कहा कि प्रदेश में मनरेगा के कन्वर्जेंस से हर स्कूल में बनवाए जाएंगे। किचन शेड और किचन गार्डन (मां की बगिया) बनाएंगे।

इस दौरान, भोपाल के फंदा की प्राथमिक शाला, सिकंदराबाद की स्व-सहायता समूह की रसोइया सुनीता मारन ने CM को बताया कि उन्होंने स्कूल में बनाई गई पोषण वाटिका का नाम 'मां की बगिया' क्यों रखा। सुनीता ने कहा कि मां से अपनापन लगता है और इसे लोग जल्दी समझ पाते हैं। इस पर मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यह उपयुक्त नाम है। अब प्रदेश की सभी पोषण वाटिकाओं को 'मां की बगिया' कहा जाएगा।

फंदा प्राथमिक शाला की रसोइया सुनीता से सीएम की चर्चा।
फंदा प्राथमिक शाला की रसोइया सुनीता से सीएम की चर्चा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं सीएम हाउस के किचन गार्डन का नाम भी 'मां की बगिया' रखूंगा। हर स्कूल के लिए पोषण वाटिका हो ये मैं चाहता हूं। हमारे बच्चे स्वस्थ्य रहें, इसके लिए जरूरी है कि उनको ताजी सब्जियां मिलें। सब्जियां कई पोषक तत्वों का खजाना हैं यदि उनका सही ढंग से खाएं।

सीएम ने कहा कि स्कूल की स्वच्छता व मां की बगिया के विकास एवं संरक्षण में विद्यार्थियों का पूरा योगदान लिया जाए। पहले बच्चे अपने स्कूल में स्वच्छता और स्कूल की तरक्की में अपना पूरा योगदान देते थे। हम तो अपने स्कूल में झाडू लगाते थे। स्कूल की स्वच्छता आदि के काम में शर्म नहीं है। विद्यार्थियों को यह काम करना चाहिए।

भोजन हित भुक, मित भुक और ऋतु भक हो

मुख्यमंत्री ने कहा कि भोजन हित भुक अर्थात शरीर के लिए लाभदायी, मित भुक अर्थात सीमित मात्रा में तथा ऋतु भुक अर्थात मौसम के अनुरूप होगा, तभी हमारा स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। स्कूल में पोषण वाटिका बनाने का उद्देश्य है बच्चों को ताजा व अच्छी सब्जियां मध्यान्ह भोजन के लिए मिल सकें।

सरपंच, रसोइये, शिक्षक पालक संघ से चर्चा

मुख्यमंत्री चौहान ने कार्यक्रम के दौरान बालाघाट जिले के ग्राम जंगल टोला की सरपंच गुणवंती बिसेन, ग्वालियर जिले के ग्राम उटीला (मुरार) के शिक्षक पालक संघ के अध्यक्ष देवेन्द्र बघेल तथा गायत्री देवी से वर्चुअल संवाद किया। मुख्यमंत्री ने अच्छा किचन शेड निर्माण के लिए उन्हें बधाई दी।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

और पढ़ें