राहुल को उड़ाने की धमकी, इंदौर में संदिग्ध हिरासत में:इसी के नाम से आई थी चिट्‌ठी

इंदौर2 महीने पहले

इंदौर में एक दुकान पर डाक से चिट्‌ठी भेजकर राहुल गांधी को उड़ाने की धमकी देने से जुड़े एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया गया है। इसे कुछ देर पहले इंदौर के ही अन्नपूर्णा इलाके से उठाया गया है। उससे गोपनीय स्थान पर पूछताछ की जा रही है।

कमिश्नर हरिनारायणाचारी मिश्रा ने दैनिक भास्कर को बताया अन्नूपर्णा क्षेत्र से संदिग्ध को हिरासत में लिया है। यह वह व्यक्ति है जिसके नाम से चिट्‌ठी भिजवाई गई थी। युवक सिख समाज का है। विस्तृत जानकारी अलग से दी जाएगी।

कमिश्नर ने यह भी कहा कि अभी ऐसा नहीं लग रहा है कि यह हरकत इसी ने की होगी। लग रहा है कि किसी ने इसे फंसाने के लिए इसके नाम का उपयोग किया है। वह कौन हो सकता है, इसका पता लगा रहे हैं।

गौरतलब है इंदौर की एक होटल पर सनसनीखेज लेटर पहुंचा था। इसमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी की खालसा कॉलेज में होने वाली सभा पर हमले की धमकी दी गई। इसी के साथ पूरे इंदौर को बम विस्फोट से दहला देने की धमकी भी दी है। लिफाफे पर लेटर भेजने वाले की जगह रतलाम के भाजपा विधायक चेतन कश्यप का नाम लिखा है।

इस मामले में पुलिस CCTV फुटेज के आधार पर जांच में जुटी है। एडिशनल DCP प्रंशात चौबे का कहना है कि धमकी देने वाले अज्ञात आरोपी की तलाश की जा रही है। बता दें, राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा 23 नवंबर को MP में प्रवेश कर रही है। उनकी 28 नवंबर को इंदौर में सभा होगी।

पत्र कुछ इस तरह है...

पत्र में सबसे ऊपर वाहे गुरु लिखा है। फिर नीचे लिखा है... 1984 में पूरे देश में भयंकर दंगे हुए। सिखों का कत्लेआम किया गया। किसी पार्टी ने इस जुल्म के खिलाफ आवाज नहीं उठाई। (इसके बाद यहां कांग्रेस नेता कमलनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक शब्द लिखे हैं...)

लेटर में आगे लिखा है... नवंबर के आखिरी महीने में इंदौर में जगह-जगह भयानक बम विस्फोट होंगे। बम विस्फोटों से पूरा इंदौर दहल उठेगा। बहुत जल्द ही राहुल गांधी की इंदौर यात्रा के समय कमलनाथ को भी गोली मार दी जाएगी। राहुल गांधी को भी राजीव गांधी के पास भिजवा दिया जाएगा।

एक अन्य पेज में लिखा है... नवंबर 2022 के आखिरी सप्ताह में बम विस्फोटों से पूरा इंदौर दहल उठेगा। राजबाड़ा को खास निशाना बनाया जाएगा। लेटर में सबसे नीचे किसी ज्ञानसिंग का नाम लिखा है। साथ ही लेटर में कई मोबाइल नंबर भी दर्ज हैं। पत्र के साथ एक आधार कार्ड की फोटोकॉपी भी भेजी गई है।

इंदौर में एक दुकान पर ये लेटर मिला है। इसमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी और कमलनाथ को मारने की धमकी दी गई है।
इंदौर में एक दुकान पर ये लेटर मिला है। इसमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी और कमलनाथ को मारने की धमकी दी गई है।

चेतन कश्यप बोले- ये मुझे बदनाम करने की साजिश
राहुल गांधी के नाम धमकी वाले पत्र के लिफाफे पर प्रेषक के तौर पर बीजेपी विधायक चेतन कश्यप का नाम लिखा है। इस बारे में उन्होंने एक बयान जारी कर कहा है कि ऐसे किसी पत्र से मेरा कोई लेना-देना नहीं है | यह मुझे बदनाम करने षड्यंत्र है।

उन्होंने बताया कि वे मुंबई प्रवास पर हैं। सोशल मीडिया से इंदौर में धमकी भरा पत्र और उसके लिफाफे पर उनका नाम लिखा होने की जानकारी मिलते ही उन्होंने तत्काल रतलाम एसपी और इंदौर पुलिस कमिश्नर से चर्चा की। कश्यप ने बताया कि उन्होंने इस मामले की उच्च स्तरीय जांच कराने और तत्काल षड्यंत्रकारी को पकड़कर उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की।

कमलनाथ ने कहा- भाजपा हर हथकंडे अपना रही
राहुल गांधी और उनकी यात्रा को मिली धमकी पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का कहना है कि यात्रा की सुरक्षा राज्य सरकार की जिम्मेदारी है। इस मामले को लेकर मैं मुख्यमंत्री से मिल चुका हूं। ये पुलिस को देखना है पूरी सुरक्षा पुलिस प्रशासन के हाथ में है। BJP बौखलाई हुई है। हर हथकंडे अपना रही है।

अरुण यादव बोले- कांग्रेस पार्टी डरने वाली नहीं है
कांग्रेस नेता अरुण यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा- राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा देश की एकता, सद्भावना और भाईचारे को जोड़ने का काम कर रही है। देश को तोड़ने वाली ताकतें धमकी भरे पत्र से माहौल खराब करने की कोशिशें कर रही हैं, मगर कांग्रेस डरने वाली नहीं है। पुलिस प्रशासन धमकी भरे पत्र वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करे।

पटवारी ने इसे विपक्ष का षड्यंत्र बताया
पूर्व मंत्री और विधायक जीतू पटवारी ने ट्वीट करते हुए लिखा, देश में नफरत के माहौल को प्यार में परिवर्तित करने के संकल्प के साथ राहुल जी भारत जोड़ो यात्रा पर निकले हैं। जनता द्वारा अभूतपूर्व दुलार विपक्ष को सता रहा है। इसलिए कई प्रकार के षड्यंत्र रचे जा रहे हैं। लेकिन मप्र की जनता को राहुल जी का बेसब्री से इंतजार है।

चार अलग-अलग टीमों को जांच के लिए भेजा था

पुलिस सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी को मिली धमकी के बाद चार अलग-अलग टीमों को जांच के लिए भेजा गया है। इसमें से एक टीम को उत्तरप्रदेश रवाना किया गया है। उप्र भेजने के पीछे कारण स्पष्ट नहीं है। वहीं बाकी तीन टीमों के मूवमेंट के बारे में भी कोई जानकारी नहीं दी गई है। हालांकि माना जा रहा है कि पत्र में मिले मोबाइल नंबर को ट्रैक करने के आधार पर ही जांच दल भेजे जाने का अनुमान है। पत्र में दिए गए नंबरों की जब ट्रू कॉलर पर जांच की गई तो नंबर उसी नाम से मिले जो पत्र में दिए गए हैं। इसमें एक ज्ञानसिंग और बाकी नंबर मेहताब सिंह व एसआई एफपी डी जमरा और राम सिंह के नाम से आ रहे हैं। एसीपी जोन-4 दिनेश अग्रवाल के अनुसार जांच के लिए एक टीम उज्जैन भी भेजी गई है।

खबर आगे पढ़ने से पहले आप इस पोल पर राय दे सकते हैं...

ऐसा है इंदौर में राहुल गांधी का कार्यक्रम
इंदौर में 28 नवंबर को भारत जोड़ो यात्रा महू दशहरा मैदान ग्राउंड से शुरू होकर AU सिनेमा (इंदौर) आएगी। शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के मुताबिक यात्रा यहां से चोइथराम अस्पताल के सामने से होते हुए माणिकबाग से कलेक्टर चौराहे पर जाएगी। कलेक्टर चौराहे से यात्रा कांग्रेस कार्यालय के सामने से होकर गुजरते हुए राजबाड़ा पहुंचेगी। यहां पर राहुल गांधी की नुक्कड़ सभा होगी। नुक्कड़ सभा के बाद राहुल गांधी कार से खालसा कॉलेज जाएंगे। यहां पर राहुल गांधी रात रुकेंगे।

29 नवंबर को यात्रा का ब्रेक रहेगा। 30 नवंबर को बड़ा गणपति चौराहे से यात्रा शुरू होगी, जो जिंसी चौराहे से होकर किला मैदान होते हुए मरीमाता चौराहे पहुंचेगी। यहां से यात्रा बाणगंगा रोड पर आगे बढ़ेगी और कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला के घर के सामने से गुजरेगी। यहां से यात्रा आगे बढ़कर अरबिंदो अस्पताल से होते हुए सेंट्रल जेल के सामने रुकेगी। यहां मॉर्निंग ब्रेक होगा। इसके बाद यात्रा यहां से आगे बढ़ेगी। खास बात यह है कि राहुल गांधी की यात्रा जब कांग्रेस कार्यालय से गुजरेगी, तब राहुल गांधी कुछ देर के लिए कांग्रेस कार्यालय में आएं या फिर कांग्रेस कार्यालय के बाहर ही कुछ देर के लिए रुक जाएं, इसके लिए भी कांग्रेस नेता प्रयास कर रहे हैं।

इंदौर में शहर कांग्रेस कमेटी भारत जोड़ो यात्रा को लेकर तैयारी कर रही है। विधानसभा के अनुसार प्रभारी बनाए गए हैं। पार्टी के जीते-हारे पार्षदों को, मंडलम और ब्लॉक अध्यक्षों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके साथ ही शहर कांग्रेस कमेटी ने भारत जोड़ो यात्रा को लेकर मैपिंग की है, जिसमें कौन-कहां राहुल गांधी का स्वागत करेगा, ये शामिल है।

- खबर लगातार अपडेट हो रही है।

राहुल की यात्रा व कमलनाथ के विवाद से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें...

उज्जैन में दाल-बाफले खाएंगे राहुल-प्रियंका: MP में भारत जोड़ो यात्रा का तलवार पर डांस से होगा वेलकम

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की मध्यप्रदेश में एंट्री 23 नवंबर को होगी। महाराष्ट्र में जलगांव के जामोद से होते हुए यात्रा बुरहानपुर के बोदरली गांव पहुंचेगी। यात्रा 15 दिन में प्रदेश के 6 जिले बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, इंदौर, उज्जैन और आगर-मालवा में घूमेगी। मप्र में यात्रा 399 किलोमीटर चलेगी। पहले यात्रा 20 नवंबर को मध्यप्रदेश आना तय था। बुधवार को राहुल गांधी और कांग्रेस नेताओं की बैठक के बाद शेड्यूल में बदलाव किया गया। पढ़ें पूरी खबर...

इंदौर के खालसा कॉलेज में कमलनाथ की एंट्री पर बवाल: कीर्तनकार बोले- शर्म करो, 1984 में सिखों को बर्बाद करने वाले का गुणगान बंद करो

इंदौर के खालसा कॉलेज में गुरुनानक जयंती पर आयोजित कीर्तन कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पहुंचे और मत्था टेका। इस पर पदाधिकारियों ने उन्हें सरोपा सौंपा और सम्मान किया। उनके जाते ही यहां बवाल मच गया। यहां भरी सभा में पंजाब से आए कीर्तनकार मनप्रीत सिंह कानपुरी ने समाज के सचिव राजा गांधी को जबर्दस्त आड़े हाथों लिया। उन्होंने हजारों लोगों की उपस्थिति में उन्हें कहा कि शर्म करो गांधी, जिसने सिखों घर बर्बाद कर दिए, जो 1984 का दोषी हो तुम उसके गुणगान गा रहे हो हो। पूरी खबर पढ़ें...