• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ticket Tussle Continues In BJP Congress; Arun Yadav Said In The Style Of Poetry My Enemy Is Also My Admirer, Archana Chitnis's Supporters Camp In Bhopal

खंडवा लोकसभा उपचुनाव:BJP-कांग्रेस में टिकट पर घमासान; अरुण यादव का शायराना अंदाज- दुश्मन भी मेरे मुरीद..., चिटनीस के समर्थकों ने भोपाल में डाला डेरा

मध्य प्रदेशएक वर्ष पहले

जोबट विधानसभा सीट पर पिक्चर साफ होती दिखाई दे रही है, लेकिन खंडवा लोकसभा सीट पर बीजेपी और कांग्रेस में टिकट के लिए घमासान जारी है। दोनों ही दल अभी तक उम्मीदवारों का नाम तय नहीं कर पाए हैं, जबकि शनिवार रात तक एक तरफ मुख्यमंत्री निवास पर बीजेपी की बैठक चली। वहीं, कमलनाथ चुनाव प्रभारियों के साथ उम्मीदवार तय करने के लिए मंथन करते रहे।

खंडवा सीट से पूर्व मंत्री अरुण यादव प्रबल दावेदार हैं, लेकिन बुरहानपुर से निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा अपनी पत्नी जयश्री को टिकट देने के लिए कांग्रेस पर दबाव बनाए हुए हैं। यादव ने सोशल मीडिया पर शायराना अंदाज में अपना दर्ज बयां किया।

मुझे भी यकीन था हर शख्स की तरह यही।।
मेरी बर्बादी के पीछे हाथ मेरे दुश्मनों का था।
और पलट कर देखा जो मैंने बदन पर खाकर जख्म।।
फेंका हुआ तीर मेरे दोस्तों का था। https://t.co/H9tqg3BpbP

— Shiva (@Shiva59754844) October 3, 2021 >

बता दें कि यादव क्षेत्र में प्रचार के साथ बैठकें कर रहे हैं, लेकिन खंडवा से यादव चुनाव लड़ेंगे या फिर अन्य दावेदार को टिकट मिलेगी? कांग्रेस रविवार दोपहर तक यह तय नहीं कर पाई थी। बताया जाता है कि कमलनाथ शाम तक दिल्ली जाकर हाईकमान को खंडवा के अलावा जोबट और रैगांव सीट के लिए कराए गए सर्वे की रिपोर्ट सौपेंगे।

राजनीति के जानकारों का मानना है कि अरुण यादव ने शायरी के माध्यम से पार्टी को यह संकेत देने की कोशिश की है कि बीजेपी के लोग उनसे संपर्क कर रहे हैं। वहीं दूसरी और पार्टी के लोग ही उनके खिलाफ हैं, जबकि वे सार्वजनिक तौर पर समर्थन की बात कर रहे हैं।

BJP में टिकट की खींचतान, खंडवा से भोपाल पहुंचे भाजपा नेता
बीजेपी में भी टिकट को लेकर खींचतान चल रही है। खंडवा के बीजेपी के कुछ नेता शनिवार को प्रदेश कार्यालय पहुंचे थे। उन्होंने हर्षवर्धन सिंह चौहान की दावेदारी का विरोध किया। इस दौरान नारेबाजी भी की गई। हर्षवर्धन पूर्व सांसद स्व. नंदकुमार सिंह चौहान के पुत्र हैं और उन्हें खंडवा सीट से प्रबल दावेदार माना जा रहा है। इसी सीट से कृष्णमुरारी मोघे और अर्चना चिटनीस भी दावेदार हैं। विरोध जताने भोपाल आने वाले नेताओं को कुछ लोग कृष्णमुरारी मोघे तो कुछ लोग अर्चना चिटनीस के समर्थक बता रहे हैं।

प्रत्याशियों को लेकर लगातार हो रही है बात
मुख्यमंत्री, पार्टी प्रदेश अध्यक्ष सहित संगठन के अन्य वरिष्ठ लगातार बैठकें कर प्रत्याशी चयन को लेकर मंथन कर रहे हैं। शनिवार को भी देर रात तक मुख्यमंत्री के साथ भाजपा के वरिष्ठ नेताओं शिवप्रकाश, मुरलीधर राव, विष्णु दत्त शर्मा, सुहास भगत, हितानंद ने बैठक की। सूत्रों के अनुसार इस दौरान फोन पर पदाधिकारियों और दावेदारों से चर्चा की गई।

खबरें और भी हैं...