पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Total Figures Exceeded 4 Lakhs, 1 Lakh Patients Increased In 17 Days, 70 Days Were Engaged In First Wave Peak

MP में कोरोना LIVE:भोपाल में वित्तमंत्री जगदीश देवड़ा समेत 5 सीनियर IPS संक्रमित; दमोह में चुनाव खत्म होने के 24 घंटे में लॉकडाउन का ऐलान

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 7 दिन में 1 लाख मरीज बढ़े

मध्यप्रदेश में कोरोना से हालात लगातार बिगड़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 12,248 नए संक्रमित मिले हैं। इस दौरान 66 मरीजों की मौत हुई है। संक्रमण की दर एक दिन में सबसे ज्यादा 22.83% हो गई है। यानी जांच में हर चौथा व्यक्ति संक्रमित मिला। एक अप्रैल को संक्रमण की दर सिर्फ 10.4% थी। यही वजह है कि सरकार ने ज्यादातर जिलों में लॉकडाउन एक हफ्ते और बढ़ाने का फैसला लिया है। अब दमोह में चुनाव हो चुका है, तो सरकार ने यहां भी 19 अप्रैल रात 10 बजे से 26 अप्रैल सुबह 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू लगा दिया है। वहीं, देवास में भी 26 तक लॉकडाउन घोषित किया गया है।

रतलाम में कांग्रेस के पूर्व विधायक पारस सकलेचा के खिलाफ कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन करने के लिए केस दर्ज किया गया है। उनकी पत्नी और बेटा संक्रमित होते हुए भी वह मेडिकल कॉलेज में मीटिंग में शामिल हुए थे।

कोरोना से उज्जैन के महाकाल मंदिर के पुजारी महेश गुरु की मौत हो गई। दो दिन पहले भी एक पुजारी की मौत हुई थी। अब वित्तमंत्री जगदीश देवड़ा की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी है। वहीं, पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी संक्रमित हो गए हैं। वे दमोह उपचुनाव के प्रचार में शामिल हुए थे। दमोह उपचुनाव प्रचार में शामिल पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समेत अब तक भाजपा और कांग्रेस के 100 से ज्यादा नेता-कार्यकर्ता संक्रमित हो चुके हैं। अब यहां हर दिन सौ से ज्यादा कोरोना संक्रमित मिलने लगे हैं।

भोपाल में 5 सीनियर IPS अफसर संक्रमित हो गए हैं। संक्रमित अफसरों में एडीजी भोपाल सांई मनोहर, पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन के एमडी उपेंद्र जैन, लोक अभियोजन के संचालक अनवेष मंगलम, स्पेशल डीजी फायर शैलेष सिंह, ईओडब्ल्यू डीजी अजय शर्मा शामिल हैं। वहीं रिटायर्ड डिप्टी कलेक्टर उमर फारुख खट्टानी (69) का रविवार सुबह कोरोना से मौत हो गई। भोपाल के हमीदिया अस्पताल में एक सप्ताह में 70 जूनियर डॉक्टर संक्रमित हुए हैं।

गुजरात से आए ऑक्सीजन टैंकर का इंदौर में इस तरह से स्वागत किया गया।
गुजरात से आए ऑक्सीजन टैंकर का इंदौर में इस तरह से स्वागत किया गया।

प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का कुल आंकड़ा 4 लाख 8 हजार 80 हो गया है। कोरोना का पहला पीक सिंतबर 2020 में आया था। तब एक लाख केस 70 दिन में मिले थे। कोरोना की दूसरी लहर में एक लाख केस सिर्फ 17 दिन में आ गए। आंकड़े बता रहे हैं कि कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण की रफ्तार 6 गुना ज्यादा है।

एक्टिव केस 68,576 हुए
प्रदेश में एक्टिव केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में एक्टिव केस 68,576 हैं। यह आंकड़ा दिल्ली से सिर्फ 1,223 कम है। दिल्ली में एक्टिव केस 69,799 हैं। मध्यप्रदेश में संक्रमण की दर 22.83% पहुंच गई है। जबकि दिल्ली में यह 24% है।

7 दिन में 373 मरीजों की मौत
सरकारी आंकड़ों के मुताबिक मध्यप्रदेश में पिछले 7 दिनों में 373 मरीजों की मौत हुई है, लेकिन श्मशान में इससे कई गुना ज्यादा शवों का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल से किया जा रहा है। ज्यादा मौतों की वजह यह है कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी है। गंभीर मरीजों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं मिल रहे हैं। हालत ये है कि मरीज को लेकर परिजन भटक रहे हैं, लेकिन अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहे।

इंदौर में फिर भोपाल से ज्यादा केस
दो दिन से भोपाल में कोरोना के सबसे ज्यादा केस आ रहे थे, लेकिन बीते 24 घंटे में इंदौर में सबसे ज्यादा 1,692 संक्रमित मिले। यहां 7 लोगों की जान भी गई है। वहीं भोपाल में 1,679 नए केस मिले हैं और 3 की मौत हुई है। इंदौर में एक्टिव केस 10,605 और भोपाल में 8,593 हैं।

शनिवार रात 10.30 बजे जामनगर से इंदौर के लिए 30 टन ऑक्सीजन लेकर पहला टैंकर पहुंचा। इसका पूरे शहर को इंतजार था। पहले टैंकर के आगमन पर भाजपा नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे ने चंदन नगर में टैंकर का स्वागत किया।

ग्वालियर: यही रफ्तार रही तो बेड कम पड़ने लगेंगे
ग्वालियर में हर दिन रिकॉर्ड संख्या में नए मरीज मिल रहे हैं। इसी तरह संक्रमण बढ़ता रहा तो जल्द ही जिले में कोविड बेड कम पड़ जाएंगे। ग्वालियर में 24 घंटे में 1,058 संक्रमित सामने आए और 5 लोगों की मौत भी हुई। ये सभी दो दिन पहले ही संक्रमित हुए थे। जिले में कुल एक्टिव केस बढ़कर 5,664 हो गए हैं।

जबलपुर : 19 दिन बाद नए केसों में कमी
राहत की बात ये है कि जबलपुर में शुक्रवार की तुलना में शनिवार को 11 केस कम आए। 19 दिनों बाद ऐसा हुआ, जब संक्रमितों की संख्या में कमी आई है। इससे पहले 30 मार्च से लगातार मरीजों की संख्या बढ़ रही थी। शनिवार को 2,875 सैंपल की जांच में 787 नए केस आए। 585 मरीज ठीक होकर घर भी गए। यहां एक्टिव केस 5,314 हैं। सरकारी रिकॉर्ड में पिछले 24 घंटे में कोरोना से 7 लोगों ने दम तोड़ा है। अब तक कुल मरने वालों की संख्या 325 हो गई है। रिकवरी रेट भी घटकर 82.17% हो गया है।

खबरें और भी हैं...