• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal Indore (Madhya Pradesh) Rain News | Betul, Heavy Rain Alert In 16 Districts

भोपाल-नागपुर हाईवे बंद, राऊ में युवक बहा:MP में नदी-नाले उफनाए; हरदा में स्टेट हाईवे बंद, इंदौर में 3.6 और खंडवा में 2.6 इंच बारिश

भोपालएक महीने पहले

मध्यप्रदेश में मानसून एक्टिव होने के बाद से हो रही बारिश से छोटी नदियां और नाले उफान पर हैं। इंदौर में दोपहर में तेज बारिश शुरू हो गई। करीब तीन घंटे में 3.6 इंच बारिश दर्ज की गई। इससे सड़कों पर पानी भर गया। राऊ में एक लड़का पैर फिसलने से उफनते नाले में गिर गया। उसकी तलाश जारी है। खंडवा में 2.6 इंच बारिश दर्ज की गई। औबेदुल्लागंज में सुखतवा के नए पुल पर डेढ़ फीट पानी आने से भोपाल-नागपुर हाईवे बंद हो गया है। डेढ़ घंटे से वाहन चालक हाईवे के दोनों ओर पानी उतरने का इंतजार कर रहे हैं। बैतूल जिले में भौंरा नदी भी उफान पर है। उज्जैन में सुबह से रिमझिम बारिश के साथ मंगलवार दोपहर एक घंटे तक मूसलाधार बारिश हुई। इससे सड़कों पर पानी भर गया।

राजधानी में सोमवार रात गरज और चमक के साथ तेज बारिश हुई। रात 12.30 बजे तक 4 इंच बारिश हो चुकी थी। शहर में जगह-जगह सड़कों पर पानी भर गया। मौसम विभाग ने इंदौर-उज्जैन समेत 16 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

ओडिशा में बने सीजन के पहले लो प्रेशर एरिया और मप्र के ऊपर से गुजर रही मानसून ट्रफ लाइन के असर के कारण ऐसी तेज बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने बताया कि 5 जुलाई से 8 जुलाई तक प्रदेश भर में भारी से अति बारिश होगी। ग्वालियर, चंबल और इंदौर में हल्की से भारी बारिश हो सकती है। जबलपुर से लेकर भोपाल और नर्मदापुरम समेत बाकी मध्यप्रदेश में अति भारी बारिश के आसार बन गए हैं। अभी भी प्रदेश में कहीं-कहीं बहुत ज्यादा पानी गिर रहा है।

इंदौर के महू में भारी बारिश से अंडरब्रिज के नीचे पानी भर गया। जिससे स्कूली बच्चों को निकलने में खासी परेशानी हुई।
इंदौर के महू में भारी बारिश से अंडरब्रिज के नीचे पानी भर गया। जिससे स्कूली बच्चों को निकलने में खासी परेशानी हुई।

महू में मंगलवार सुबह तेज बारिश हुई। कई निचली बस्तियों में पानी भर गया। सड़कों पर राहगीरों के वाहन आधे तक डूब गए। रेलवे अंडर ब्रिज के नीचे से स्कूली बच्चे भी कमर तक भरे पानी में से निकलते नजर आए। बच्चों के कंधों पर किताबों से भरे बैग पानी में भीग गए। महू में आफत की बारिश

हरदा में सुबह से भारी बारिश का दौर जारी है। सड़कों पर घुटनों तक पानी भर गया है।
हरदा में सुबह से भारी बारिश का दौर जारी है। सड़कों पर घुटनों तक पानी भर गया है।

हरदा में सुबह से हो रही तेज बारिश से अजनाल नदी उफान पर आ गई है। तेजी से बढ़ रहे जलस्तर से नदी का पानी पुल से ऊपर आ गया है। जिसके चलते होशंगाबाद-खंडवा स्टेट हाईवे बंद हो गया है। पुल के दोनों ओर बड़ी संख्या में वाहनों की कतार लग गई है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पुलिस और प्रशासन ने सभी को पुल पार करने से रोक लिया है। हरदा में अजनाल नदी उफान पर

उज्जैन में मंगलवार दोपहर तेज बारिश हुई। इससे सड़कों पर पानी भर गया।
उज्जैन में मंगलवार दोपहर तेज बारिश हुई। इससे सड़कों पर पानी भर गया।

इस सीजन में पहली बार ऐसा हुआ, जब पूरे प्रदेश में एक साथ मानसूनी पानी बरसा। मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह के मुताबिक जब लो प्रेशर एरिया बंगाल की खाड़ी के नजदीक बनता तो इसका असर हमारे यहां ज्यादा होता और बारिश भी अधिक होती। सिंह ने बताया कि अभी अगले 3 दिन और ऐसी ही बारिश होने की संभावना है। आधे से ज्यादा प्रदेश में तेज बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

बैतूल में सुखतवा नदी पर बने नए पुल के डेढ़ फीट ऊपर से पानी बहा।
बैतूल में सुखतवा नदी पर बने नए पुल के डेढ़ फीट ऊपर से पानी बहा।

राजगढ़ में बिजली गिरी, 1 की मौत, 3 घायल
राजगढ़ के भण्डावद गांव में खेत पर काम करते समय बिजली गिरने से 4 लोग घायल हो गए। इनमें से एक शख्स की अस्पताल में समय पर इलाज नही मिलने से मौत हो गई, वहीं तीन का इलाज जारी है। जिसके बाद गुस्साए लोगों ने जीरापुर के इंदर चौराहे पर चक्काजाम कर दिया।

छिंदवाड़ा में जुन्नारदेव विकासखंड के टेमरू में नदी उफना गई। जुन्नारदेव SDM ने यहां मतदान केंद्र का निरीक्षण करने आए थे, लेकिन नदी में आई बढ़ की वजह से आगे नहीं बढ़ सके। 8 जुलाई को यहां पंचायत की वोटिंग है।
छिंदवाड़ा में जुन्नारदेव विकासखंड के टेमरू में नदी उफना गई। जुन्नारदेव SDM ने यहां मतदान केंद्र का निरीक्षण करने आए थे, लेकिन नदी में आई बढ़ की वजह से आगे नहीं बढ़ सके। 8 जुलाई को यहां पंचायत की वोटिंग है।
बैतूल जिले के बाटका गांव का युवक रामदास सेलूकर सोमवार दोपहर में मछली पकड़ने के लिए भडंगा नदी पर गया था। अचानक बाढ़ आने से बीच में एक चट्टान पर फंस गया। उसे रात पौने 8 बजे रेस्क्यू किया गया। 7 घंटे तक वह नदी के बीच फंसा रहा।
बैतूल जिले के बाटका गांव का युवक रामदास सेलूकर सोमवार दोपहर में मछली पकड़ने के लिए भडंगा नदी पर गया था। अचानक बाढ़ आने से बीच में एक चट्टान पर फंस गया। उसे रात पौने 8 बजे रेस्क्यू किया गया। 7 घंटे तक वह नदी के बीच फंसा रहा।

भोपाल के इन इलाकों में दो-दो फीट तक पानी भरा
भोपाल के लालघाटी, गुफा मंदिर रोड स्थित कॉलोनियां, मिसरोद थाना, भोपाल टॉकीज, सेफिया कॉलेज रोड, बैरागढ़ की कॉलोनियां, अयोध्या नगर की कॉलोनियां, सिंधी कॉलोनी, इब्राहिमगंज, शांति नगर, सेमरा, कटारा हिल्स, शाहपुरा, संजय नगर, कोहेफिजा कॉलोनी, बीडीए कॉलोनी सलैया में दो-दो फीट तक पानी भर गया। वीआईपी रोड, सिंधी कॉलोनी रोड, लिंक रोड नंबर 1, बाणगंगा चौराहा, बागमुगालिया रोड, ऑरा मॉल के सामने, बैरागढ़ से लालघाटी रोड, कोहेफिजा, हमीदिया रोड डूब गईं।

भोपाल की सबसे बिजी वीआईपी रोड भी जगह-जगह पानी में डूब गई।
भोपाल की सबसे बिजी वीआईपी रोड भी जगह-जगह पानी में डूब गई।

भोपाल में सबसे ज्यादा 4 इंच बारिश
सोमवार को एमपी के कई जिलों में बारिश हुई। सबसे ज्यादा बारिश भोपाल जिले में रात 12:30 तक 4 इंच बारिश हो चुकी थी।। इसके अलावा जबलपुर में 17 मिमी, गुना और पचमढ़ी में 15-15 मिमी, मंडला में 8 मिमी बारिश दर्ज की गई। ये आंकड़े सोमवार सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक की बारिश के है।

बारिश कराने वाले 3 सिस्टम एक्टिव
प्रदेश में मूसलाधार बारिश कराने वाले तीन सिस्टम एक्टिव हैं। ओडिशा में कम दबाव का क्षेत्र बना है। दक्षिणी झारखंड में भी हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात है। अरब सागर से भी नमी मिल रही है। इन तीनों वजह से अगले चार से पांच दिन तक भोपाल, इंदौर समेत दूसरे शहरों में भी बारिश होती रहेगी।

ईशानगर क्षेत्र के पचेर घाट स्थित एनीकट से छतरपुर शहर में वॉटर सप्लाई की जाती है। बारिश ने इस एनीकट का वॉटर लेवल बढ़ा दिया, इसलिए पानी ऊपर से बहने लगा।
ईशानगर क्षेत्र के पचेर घाट स्थित एनीकट से छतरपुर शहर में वॉटर सप्लाई की जाती है। बारिश ने इस एनीकट का वॉटर लेवल बढ़ा दिया, इसलिए पानी ऊपर से बहने लगा।

इंदौर पहली बार टूट के बरसे बादल:2 से 3 फीट पानी में BRTS पर मरीज को लेकर जा रही एंबुलेंस फंसी, मारना पड़ा धक्का

खबरें और भी हैं...