• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Water Will Fall From September 12 To 16 After A Break Of One Day; There Will Be Light To Moderate Rain Across The State Including Bhopal, Indore

MP के कई इलाकों में जबर्दस्त बारिश:पार्वती नदी फिर उफान पर, श्योपुर-कोटा मार्ग का पुल डूबा; नरसिंहगढ़ में तालाब की मेढ़ फूटी, 16 सितंबर तक भीगता रहेगा पूरा प्रदेश

भोपाल3 महीने पहले
होशंगाबाद में तेज बारिश।

बंगाल की खाड़ी में बन रहे एक और लो प्रेशर एरिया के कारण प्रदेश में 12 सितंबर से बारिश का एक और स्पेल मिलेगा। इस दौरान भोपाल और इंदौर समेत प्रदेश भर में हल्की से मध्यम बारिश होगी। कुछ जगहों पर भारी बारिश हो सकती है। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि शनिवार शाम से लो प्रेशर एरिया के बनते ही 16 सितंबर तक प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में पानी गिरेगा। इधर, शुक्रवार को तेज बारिश से श्योपुर में पार्वती नदी फिर उफान पर आ गई है। यहां श्योपुर-कोटा मार्ग पर मौजूद पुल डूब गया है। प्रशासन के अधिकारियों ने आसपास के गांवों में अलर्ट जारी किया है।

मध्यप्रदेश-राजस्थान बॉर्डर पर स्थित खतौली पर पार्वती नदी में शुक्रवार देर शाम अचानक पानी बढ़ गया। पानी पुल के ऊपर से होकर बहने लगा। इस वजह से श्योपुर होकर कोटा जाने वाला रास्ता बंद हो गया है। पार्वती नदी में पानी मालवा क्षेत्र में हुई तेज बारिश के कारण बढ़ा है। बताया जा रहा है कि पानी पुल से 4 फीट ऊपर बह रहा है। इस कारण लोगों को बारां होकर कोटा जाना पड़ रहा है।

प्रदेश में अभी यह स्थिति
भोपाल में सुबह से शाम तक रुक-रुक कर बारिश जारी है। सागर और उज्जैन में बादल छाए हैं। सुबह कुछ समय के लिए बारिश हुई थी। खंडवा में तेज बारिश हो रही है। गुना में सुबह से मौसम साफ है। छिंदवाड़ा और होशंगाबाद में भी धूप खिली हुई है। बादल छाने से उमस भी परेशान कर रही है।

यह सिस्टम बन रहा
पीके साहा ने बताया कि अगले 36 घंटों में एक और लो प्रेशर एरिया बंगाल की खाड़ी में बन रहा है। उसके सक्रिय होने से 12 सितंबर से प्रदेश भर में बारिश होगी। कुछ जगहों को छोड़कर प्रदेश के अधिकांश इलाकों में पानी गिरेगा। कहीं भी तेज बारिश नहीं होगी। प्रदेश भर में हल्की से मध्यम बौछारें पड़ेंगी। पांच दिन यानी 16 तक रिमझिम रहेगी।

खंडवा में तेज बारिश।
खंडवा में तेज बारिश।

नीमच के मनासा के गांव में घुसा पानी
नीमच जिले में शुक्रवार सुबह 4:00 बजे से बारिश का दौर जारी हुआ, जो दोपहर 3:00 बजे तक लगातार जारी रहा। इससे मनासा तहसील के हल्हेड़ में नाला उफान पर आ गया। इससे गांव में पानी घुस गया। कई घरों में दो से 3 फीट तक पानी पहुंच गया। शहर में बरसाती नाले समेत प्रमुख नाले उफान पर हैं। इससे पुलिया दो से 3 फीट पानी में जलमग्न हो गई। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने और जिन क्षेत्रों में बाढ़ जैसे हालात बनने की संभावना है, वहां नजर रखने के निर्देश दिए हैं।

नीमच के मनासा में हल्हेड़ गांव में पानी भर गया।
नीमच के मनासा में हल्हेड़ गांव में पानी भर गया।

रायसेन में तेज बारिश के बाद सड़कों पर भरा पानी
एक बार फिर सिस्टम सक्रिय होने के बाद लगातार 2 दिनों से रायसेन में 24 घंटे में 13.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज की जा चुकी है। शुक्रवार को सुबह से ही रिमझिम बारिश के बाद दोपहर 3 बजे हुई तेज बारिश से सड़कों पर पानी भर गया जिससे वाहन चालकों को परेशानी हुई।

रायसेन जिले में अब तक 891 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है।
रायसेन जिले में अब तक 891 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है।

नरसिंहगढ़ में तालाब की मेढ़ क्षतिग्रस्त
राजगढ़ के नरसिंहगढ़ से 2 किलोमीटर दूर नेशनल हाईवे पर स्थित बांडा वेदरा तालाब की मेढ़ अचानक क्षतिग्रस्त हो गई। इससे आसपास के इलाकों में जलभराव की स्थिति बन गई है। साथ ही खेतों में पानी भर जाने से किसानों की फसल को भी नुकसान पहुंचा है। तालाब से निकलने वाली नहर को भी चालू कर दिया गया।

नेशनल हाईवे पर स्थित बांडा वेदरा तालाब की मेढ़ फूट गई।
नेशनल हाईवे पर स्थित बांडा वेदरा तालाब की मेढ़ फूट गई।

देर शाम तक इन इलाकों में बारिश होगी
मौसम विभाग के मुताबिक, अगले कुछ घंटों के दौरान होशंगाबाद, रायसेन, मंदसौर, विदिशा, नीमच, दमोह, भिंड, जबलपुर, कटनी, पन्ना, दतिया, ग्वालियर, मुरैना, निवाड़ी, टीकमगढ़ में कहीं-कहीं तेज बारिश हो सकती है। इसके अलावा झाबुआ, रतलाम, उज्जैन, इंदौर, अगर-मालवा, गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, श्योपुर, रायसेन, सीहोर, रतलाम, भोपाल, देवास, राजगढ़, धार, बैतूल, छिंदवाड़ा, रीवा, पन्ना, मंडला, छतरपुर, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, सतना, उमरिया और डिंडौरी में हल्की बारिश होगी।

अगले 24 घंटों के दौरान लगातार बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग के अनुसार, अगले 24 घंटों के दौरान पूर्वी मध्यप्रदेश, दतिया, शाजापुर, अशोक नगर, गुना, साउथ श्योपुर, राजगढ़, झाबुआ और साउथ एमपी में लगातार बारिश होगी। इलाके अलावा छतरपुर, उमरिया, रीवा, टीकमगढ़ और पूर्वी मध्यप्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश होगी।

मध्यप्रदेश की स्थिति सुधरी
प्रदेश में अब सामान्य कोटा की बारिश पूरा करने के लिए करीब 7% और पानी की दरकार है। प्रदेश में अब तक करीब 31.5 इंच बारिश हो चुकी है, जबकि अब तक सामान्य बारिश के लिए करीब 34 इंच पानी गिरना चाहिए।

पिछले 24 घंटों में यहां पानी गिरा
मंदसौर के सुवासरा में 3 इंच, दतिया के भांडेर में 3 इंच, श्योपुर कलां के बड़ौदा में 2.5 इंच, शाजापुर के गिरवर, शहर, अशोकनगर के आंवरी, शहर, गुना के आरोन, चचौड़ा, राजगढ़ के खिलचीपुर, झाबुआ के थांदला, मेघनगर, विदिशा के शमशाबाद, रायसेन के गैरतगंज, छतरपुर के नौगांव, गौरिहार , उमरिया सिटी, रीवा के गुढ़, टीकमगढ़ के पलेरा, डिंडोरी के बजाग, करांजिया, पन्ना के अमानगंज, रैपुरा, सतना के उचेहरा, सिवनी के घनसौर, मंडला के नारायणगंज और रतलाम के रावटी में 2-2 इंच पानी गिरा।

बड़वानी के पानसेमल, ग्वालियर के डबरा, बैतूल के शाहपुर, भोपाल के कोलार, नीमच के मनासा, आगर के बड़ौद, होशंगाबाद सिटी और सीहोर के बुधनी में करीब 1-1 इंच बारिश हुई। कटनी के विजयराघवगढ़ में 3 इंच तो सागर के देवरी में भी करीब 2.5 इंच तक बारिश हुई। प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में बीते चौबीस घंटों के दौरान 1 इंच तक बारिश हुई।

खबरें और भी हैं...