• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • What Is Panchayat, How It Works, How To Choose Panch, Sarpanch And Janpad Members, See In VIDEO

MP पंचायत चुनाव प्रोसेस पर A to Z:क्या है पंचायत, कैसे काम करती है, कैसे चुनते हैं पंच, सरपंच और जनपद सदस्य, VIDEO में देखिए

भोपाल6 महीने पहले

मध्यप्रदेश में आठ साल बाद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव हो रहे हैं। प्रत्याशी पूरे जोर-शोर से प्रचार में लगे हैं। वे वोटर्स को रिझाने में लगे हैं। वैसे, क्या आप जानते हैं कि आखिर पंचायत क्या है? इसके चुनाव होते कैसे हैं? क्या प्रक्रिया अपनाई जाती है? पंचायत काम कैसे करती है? इसे त्रिस्तरीय क्यों कहते हैं? पंच, सरपंच, जनपद और जिला पंचायत सदस्य और अध्यक्ष कैसे चुने जाते हैं? अगर नहीं, तो वीडियो में पंचायत चुनाव के बारे में सिलसिलेवार पूरी जानकारी बताते हैं…।

सबसे छोटी यूनिट ग्राम पंचायत

त्रिस्तरीय पंचायतराज व्यवस्था में तीन लेयर होती हैं। पहली ग्राम पंचायत, जो सबसे छोटी यूनिट होती है। यह 2 से 3 गांवों को मिलाकर बनती है। दूसरी, जनपद पंचायत। यह ब्लॉक स्तर की यूनिट है। और सबसे बड़ी इकाई होती है जिला पंचायत। यह तीसरी और सबसे बड़ी यूनिट होती है।

तीनों यूनिट कैसे काम करती हैं…
ग्राम पंचायत गांव के विकास और समस्याओं का समाधान करती है। ग्राम पंचायत में पॉलिटिकल बॉडी का चुनाव होता है। यहां दो पद चुने जाते हैं पंच और सरपंच। सरपंच पंचायत का मुखिया कहलाता है यानी प्रथम नागरिक। हर पंचायत में 10 से 15 तक छोटे-छोटे वार्ड होते हैं। सरपंच और पंचों काे जनता सीधे मतदान करके चुनती है। इनका कार्यकाल पांच साल का होता है।

जनपद पंचायत 80 से 100 ग्राम पंचायतों का समूह होता है। इसका ऑफिस ब्लाॅक मुख्यालय पर होता है। इस पर भी पॉलिटिकल बॉडी का नियंत्रण होता है। हर जनपद पंचायत में भी 10 से 15 वार्ड होते हैं। हर एक वार्ड 8 से 10 ग्राम पंचायतों को मिलाकर बनता है। यहां से जनपद पंचायत के सदस्य पब्लिक सीधे मतदान कर चुनती है। जब सभी 10 से 15 जनपद सदस्य चुन लिए जाते हैं, तो ये सब मिलकर जनपद अध्यक्ष चुनती है। हर जिले में 5 से लेकर सात जनपद पंचायतें होती हैं। यह सबसे बड़ी यूनिट जिला पंचायत और ग्राम पंचायत के बीच सेतु का काम करता है।

अब बताते हैं जिला पंचायत। इसका ऑफिस हर जिला मुख्यालय पर होता है। जनपद की तरह जिला पंचायत बॉडी का भी चुनाव करके गठन होता है। यहां जिला पंचायत सदस्य चुने जाते हैं। यह मिलकर जिला पंचायत अध्यक्ष चुनते हैं।

खबरें और भी हैं...