• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Niwari
  • After Reaching The SDOP Office, The Mother Said, "Sir, Beat Him A Lot Before Putting Him In Jail".

नहीं चाहिए शराब बेचने वाला बेटा:SDOP कार्यालय पहुंचकर मां बोली- साहब इसे जेल में डालने से पहले खूब पीटना

निवाड़ी2 महीने पहले

नशा के दुष्परिणाम जानकर शराब बेचने वाले बेटे की शिकायत करने के लिए पुलिस की चौखट पर पहुंच गई। मां ने कहा कि बेटे से अवैध शराब बेचने के लिए मना किया तो उसने मारपीट की। बुधवार को पुलिस उसके घर जांच करने पहुंची तो बेटे फिर से मारपीट की। इसके बाद भी वह बेटे की शिकायत करने पहुंची।

अछरू माता दुर्गापुर क्षेत्र में रहने वाली वृद्धा राजा बेटी कुशवाह गुरुवार शाम करीब 5 बजे ​​​​​​​पृथ्वीपुर एसडीओपी कार्यालय पहुंची। यहां उन्होंने एसडीओपी संतोष पटेल को बताया कि बुधवार को पुलिस उसके छोटे बेटे रविन्द्र के घर दबिश देने गयी थी। बेटे को शक हुआ है कि मैंने पुलिस को बुलाया है। इस बात पर बेटे ने मेरी मारपीट कर दी। एसडीओपी कार्यालय में महिला ने कहा कि मेरा बेटा अवैध शराब बेचता है, आप इस पर कार्रवाई करें और इसे जेल भेजें।

शराब बेचने वाला बेटा नहीं चाहिए

SDOP ने कहा कि हम आपके बेटे को जेल भेजेंगे तो आपको कष्ट नहीं होगा। राजा बेटी ने कहा कि सिर्फ जेल ही नहीं भेजना उसे पीटना भी, ताकि भविष्य में वह शराब न बेचे। शराब के कारण कई लोगों के घर उजड़ गए। मुझे ऐसा लड़का नहीं चाहिए, जो शराब बेचे। 20 मिनट बाद एसडीओपी पृथ्वीपुर संतोष पटेल अपने दलबल के साथ रविंद्र कुशवाहा निवासी के निवास पर पहुंचे। पुलिस की गाड़ी देखकर रविन्द्र फरार हो गया। पुलिस को मौके से 15 लीटर अवैध शराब मिली। पुलिस ने शराब जब्त कर आबकारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई।

बेटे के कारण पिता ने छोड़ा घर

महिला के साथ आए धनीराम कुशवाहा ने बताया कि इनका पति हेड मास्टर है। छोटे बेटे रविन्द्र व बहू शराब बेचते हैं। इस कारण मास्टर जी घर में नहीं रहते हैं। वे अछरू माता मंदिर परिसर के लव-कुश मंदिर के संत व पुजारियों के साथ रात गुजारते हैं। दिन में स्कूल पढ़ाने जाते हैं। कार्रवाई में एसडीओपी संतोष पटेल के साथ सहायक उपनिरीक्षक उमेश मिश्रा, सहायक उपनिरीक्षक लक्ष्मी प्रसाद अनुरागी, आरक्षक कुमार शानू, आरक्षक राहुल, आरक्षक सजेश की सराहनीय भूमिका रही।

खबरें और भी हैं...