आजादी का अमृत महोत्सव:आनंदम का सुख स्वयं उठाएं और दूसरों को भी आनंदम बनाएं विधायक यादव

पृथ्वीपुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आजादी का अमृत महोत्सव के तहत विकासखंड स्तरीय आनंदम उत्सव का आयोजन नगर के मनमोहन कम्यूनिटी हॉल में किया गया। जिसमें सभी विभागों के अधिकारी और कर्मचारियों ने प्रदेश स्तर से आए मास्टर ट्रेनरों से आनंदम उत्सव के गुण सीखकर आनंद उठाया।

मप्र सरकार के द्वारा आनंदम उत्सव विभाग का गठन किया गया। जिसमें पिछले तीन महीने से निरंतर अधिकारी और कर्मचारियों की आनंदम उत्सव के तहत वर्चुअल ट्रेनिंग दी गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक डाॅ. शिशुपाल यादव ने रहे।

उन्होंने कहा कि परम सुख आनंद की प्राप्ति के लिए हमें हर तरह की तपस्या कर भगवान का स्मरण भी करना है। जिससे हम जिस क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं। उस क्षेत्र में तो लोगों को आनंदम बनाना ही है। साथ ही स्वयं को आनंद मिले और दूसरों को भी आनंद दिलाने की दिशा में संकल्प लेना है।

प्रशासक एवं एसडीएम अंकिता जैन ने कहा कि आनंदम का मुख्य उद्देश्य यही है कि जो हम आज कर रहे हैं, उसको करना है और सुख आनंद उठाने के लिए हम सभी को प्रयास करना है कि हमारे जीवन में और ज्यादा महत्वपूर्ण और आनंदम कैसे बनायें।

साथ ही दूसरों को भी आनंदम बनाने में हर संभव प्रयास करना है। इस अवसर पर कार्यक्रम का संचालन डीके पुरोहित,रविशंकर बिलगैयां के द्वारा किया गया। इस दौरान जिला शिक्षा अधिकारी शैलेन्द्र नाथ नीखरा,बीईओ सीएल वंशकार, बीआरसीसी अनिल तिवारी, संजय त्रिपाठी, बबलेश खटीक, बबलू भारती, भगवानदास कोरी, संजय मिश्रा, अर्जुन यादव, आरपी भारती,कल्याणदास साहू सहित कई लोग माैजूद थे।

एसडीओपी ने थाने का वाक्या सुनाया
एसडीओपी संतोष पटेल ने हास्य अंदाज में थाने का वाक्या सुनाते हुए कहा कि एक दिन थाने पहुंचे और थाने के स्टाफ से कहा कि अगर आप लोगों को कोई समस्या हो तो मुझे बताया कीजिए तो एक पुलिस वाला आया और वह कहने लगा कि सर मुझे एक समस्या है कि आप थाने ना आया कीजिए। जिस पर लोगों ने खूब ठहाके लगाए। इनके अलावा अन्य लोगों ने भी अपनी बातें बताईं।

प्रोजेक्टर के माध्यम से प्रसारण दिखाया

खबरें और भी हैं...