धनतेरस के एक दिन पहले 'धन वर्षा':पन्ना के 8 खेतिहर मजदूरों को मिला 4.69 कैरेट का उज्ज्वल किस्म का हीरा

पन्ना2 महीने पहले

पन्ना की रत्नगर्भा धरती से धनतेरस और दीपावली के पहले 8 घरों में धन वर्षा हुई है। जिले ​​​​​​के ​जरुआपुर की उथली हीरा खदान से 8 खेतिहर मजदूरों को 4.69 कैरेट का बेशकीमती उज्ज्वल किस्म का हीरा मिला है। इस हीरे की अनुमानित कीमत 15 लाख रुपए बताई जा रही है, और सभी पार्टनरों ने हीरा कार्यालय में जमा करवा दिया है।

इन 8 मजदूरों ने लगाई खदान

पन्ना जिला मुख्यालय के नजदीकी ग्राम जरुआपुर एवं कुंजवन के निवासी प्रमोद राय, भीमप्रताप सिंह बुंदेला, किरण मिस्त्री, सेवक मिस्त्री, संजय अधिकारी, राकेश बढ़ई, छोटी सरकार और सुरंजन बाला ने डेढ़ माह पहले मिलकर हीरा कार्यालय से जरुआपुर के निजी खेत में पट्टा जारी करवाकर हीरा खदान लगाई। जिसमें इस सभी मिलकर मेहनत की, और उन्हें शुक्रवार के दिन एक चमचमाता हुआ 4.69 कैरेट का हीरा मिला है।

ग्राम जरुआपुर एवं कुंजवन के निवासी मजदूरों ने मिलकर हीरे निजी खेत में पट्‌टा जारी कर खदान लगाई। करीब डेढ़ महीने बाद उन्हें 15 लाख रुपए का हीरा मिला है।
ग्राम जरुआपुर एवं कुंजवन के निवासी मजदूरों ने मिलकर हीरे निजी खेत में पट्‌टा जारी कर खदान लगाई। करीब डेढ़ महीने बाद उन्हें 15 लाख रुपए का हीरा मिला है।

​​​​​​कहा-बच्चों की पढ़ाई पर करेंगे खर्च

खदान संचालक प्रमोद राय ने खुशी जाहिर करते हुए बताया कि हम लोगों को हीरा मिलने की खबर सुना करते थे, इसलिए मन में विचार आया कि हमें भी हीरे की तलाश करनी चाहिए। ऐसे में 8 लोगों ने मिलकर खदान लगाई। हम सभी किस्मत से 4.69 कैरेट का बेशकीमती हीरा मिला है। इस हीरे से मिलने वाले रुपए आपस में बांटकर कर बच्चों की पढ़ाई एवं रोजगार के साधन बनाने में खर्च करेंगे।

4.69 कैरेट का बेशकीमती हीरा दिखाते हुए।
4.69 कैरेट का बेशकीमती हीरा दिखाते हुए।

ये खबरें भी पढ़ें

1. नीलामी में रखे गए 204 नग हीरे

बेशकीमती हीरों के लिए विश्वविख्यात मध्यप्रदेश की हीरों की नगरी पन्ना में 18 अक्टूबर से शुरू हुई, तीन दिवसीय हीरा नीलामी में 355.96 कैरेट के 204 नग हीरे रखे गए थे। इनमें पहले दिन मात्र 12 नग हीरे ही नीलाम हो पाए थे। इनका वजन 14.70 कैरेट था। यह हीरे 24 लाख 7 हजार 5 सौ 26 रुपए में बिके थे। दूसरे दिन बुधवार को मात्र 7 हीरा नीलाम हुए हैं। इनका वजन 23.43 कैरेट है। यह हीरे 49 लाख 37 हजार 8 सौ 34 रुपए में नीलाम हुए थे। पूरी खबर पढ़ें...

नीलामी में हीरे की क्वालिटी चेक करते व्यापारी।
नीलामी में हीरे की क्वालिटी चेक करते व्यापारी।

2. रुंझ नदी में अब भी जुट रही लोगों की भीड़

पन्ना जिले की रुंझ नदी में बन रहे निर्माणाधीन डैम क्षेत्र और नदी के दोनों तरफ जंगल क्षेत्र में बड़ी संख्या में लोग किस्मत आजमाने में जुटे हुए हैं। यहां कुछ दिन पहले वन क्षेत्र में हीरे की चाह में पेड़ की जड़ों को खोखला करने का मामला सामने आया था। इसके बाद वन विभाग ने लगातार तीन-चार दिन तक लोगों को हटाने के लिए कार्यवाहियां भी की। बावजूद उसके लोगों की भीड़ मानने के लिए तैयार नहीं है। पूरी खबर पढ़ें...

पन्ना की रुंझ नदी में हीरे की तलाश में जुटी भीड़।
पन्ना की रुंझ नदी में हीरे की तलाश में जुटी भीड़।

3. हीरा कार्यालय में एक साथ 8 हीरे जमा कराए

इसके पहले ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है कि कार्यालय में एक साथ 8 हीरे जमा हुए हो। 13 अक्टूबर की शाम तक पन्ना के हीरा कार्यालय में अलग-अलग हीरा धारकों ने यह 8 हीरे जमा किए थे। पन्ना नगर के निवासी शमशेर खान को हीरापुर टपरियन की खदान से 4.14 कैरेट, 3.23 कैरेट के दो बड़े हीरे मिले हैं। पढ़ें पूरी खबर...

खबरें और भी हैं...