• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Panna
  • There Was A Lot Of Uproar In The Election Of Red Cross Society, Opposition Leaders Accused The Administration Of Bias

पन्ना में रेडक्रॉस सोसाइटी की आम बैठक में हंगामा:रेडक्रॉस सोसाइटी के चुनाव में हुआ खूब हंगामा, विपक्ष के नेताओं ने प्रशासन पर लगाए पक्षपात का आरोप

पन्ना4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पन्ना जिला रेड क्रास सोसायटी की वार्षिक आम सभा का आयोजन आज पॉलिटेक्निक पन्ना में किया गया था। जिसमें बड़ी संख्या में रेड क्रास सोसाइटी के लोग भी चुनाव में हिस्सा लेने पहुंचे लेकिन चुनाव नहीं हो सका और चुनाव प्रक्रिया के दौरान खूब हंगामा हुआ।

आपको बता दें कि शुक्रवार के दिन पॉलिटेक्निक सभागार में रेड क्रास सोसाइटी के अध्यक्ष पद के चुनाव के लिये निर्वाचन प्रक्रिया को शुरु किया गया। जिसमें कलेक्टर पन्ना के प्रतिनिधि के तौर पर एडीएम जीपी धुर्वे, सचिव एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आर एस पांडे, एसडीएम सत्यनारायण दर्रो सिविल सर्जन डॉ एलके तिवारी ने पीठासीन मंच पर बैठकर विधिवत निर्वाचन प्रक्रिया प्रारंभ की। तभी उपस्थित सभी सदस्यों ने प्रस्ताव पर हाथ उठाकर ध्वनि मत से कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री मुकेश नायक को रेड क्रॉस सोसाइटी का प्रदेश प्रतिनिधि निर्वाचित करने की सहमति दी और इसे ध्वनि मत से पारित भी कर दिया गया। मुकेश नायक के विरोध में कोई प्रत्याशी नहीं आया तभी एडीएम ने मुकेश नायक को अनुपस्थित बताकर उनकी उम्मीदवारी को निरस्त कर दिया।

जिसके बाद आम सभा में भ्रम की स्थिति बन गई। अधिकांश सदस्य केदार कुररिया को राज्य प्रतिनिधि बनाने की सहमति देने लगते हैं। इसी बीच भाजपा नेता रामअवतार उर्फ बबलू पाठक पहुंचते हैं और वे लिखित में अपनी उम्मीदवारी जताकर फार्म जमा करते हैं, तभी केदारपुर कुररिया भी अपना फार्म जमा करते है और तीसरा फार्म माखन पटेल का जमा होता है। जिसमे माखन लाल पटेल के फॉर्म बापीसी के बाद रामअवतार पाठक एवं केदार कुररिया दो ही उम्मीदवार बचते है। लिहाजा वोटिंग प्रारंभ करने के बजाय आपत्ति लगाई जाती है और प्रशासन मतदान निरस्त कर चुनाव पोस्टपोन कर देता है। जिससे हंगामे की स्थिति बन जाती है।

वहां मौजूद समस्त सदस्य चुनाव कराने के पक्ष में थे। भाजपा नेता रामअवतार पाठक सूचना न देने की बात कर चुनाव टलवाना चाहते थे। विरोध के बीच प्रशासन ने चुनाव टाल दिए। जिससे लोग हंगामा करने लगे। खूब नारेबाजी की गई। मीडिया से बात करते हुए निर्वाचन अधिकारी एवं एडीएम जेपी दुर्वे ने बताया कि आपत्ति आई थी कि सभी सदस्यों को सूचना नहीं दी गई। इसलिए चुनाव टाल दिए गए हैं। अब फिर से प्रक्रिया कर चुनाव कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...