कार्रवाई का डर भी नहीं:भाजपा और कांग्रेस के बागी बिगाड़ेंगे समीकरण

मंडीदीप2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगर सरकार के लिए बुधवार को नाम वापसी के बाद इस का काउंटडाउन शुरू हो चुका है। भाजपा और कांग्रेस दोनों ही प्रमुख राजनीतिक पार्टी के नेताओं ने टिकट वितरण को लेकर पार्टी में फैले असंतोष पर काफी हद तक काबू पा ही लिया।

बुधवार को नाम वापसी के अंतिम दिन पार्टी नेताओं के समझाने पर अधिकतर बागी प्रत्याशियों ने नाम वापस ले लिए। हालांकि, दोनों ही दलों की ओर से कई बागी अभी भी डटे हुए हैं। भाजपा के टिकट वितरण से नाराज होकर 11 कार्यकर्ताओं ने बागी प्रत्याशी के रूप में नामांकन भरे थे, लेकिन पार्टी पदाधिकारियों के मनाए जाने के बाद अब इनकी संख्या 6 रह गई है।

वहीं कांग्रेस की ओर से 6 नाराज नेताओं ने फॉर्म भरे थे। जिनमें से वरिष्ठ नेताओं के मनाने से 2 मान गए। हालांकि अभी भी 4 मैदान में डटे हुए हैं। दोनों ही दलों के ये बागी नेता पार्टी के लिए सिर दर्द बनने के साथ ही राजनीतिक समीकरण भी बिगड़ेंगे।

ना अपील काम आई ना अल्टीमेटम अब होगी निष्कासन की कार्रवाई: भाजपा ने पार्टी से बगावत कर नामांकन करने वाले नेताओं को मनाने के साथ ही पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित करने का अल्टीमेटम भी दिया था। लेकिन इसके बाद भी भाजपा की राह में 6 बागी उम्मीदवार मैदान में डटे हुए हैं।

ये नेता भाजपा के लिए सत्ता की राह में रोड़ा अटकाएंगे। इस संबंध में भाजपा जिला उपाध्यक्ष जीवन सिंह पाल का कहना है कि चेतावनी के बाद भी ना मनाने वाले इन नेताओं के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए पार्टी से निष्कासन की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...