बाजारों में सन्नाटा पसरा:असर ग्रामीण अंचलों में प्रत्याशियों के प्रचार में व्यस्त होने से बाजार में सन्नाटा

देवरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इन दिनों ग्राम पंचायत, जनपद, जिला पंचायत के चुनावों में प्रत्याशियों के साथ साथ उनके समर्थक भी पूरी तरह से व्यस्त हो चुके हैं, जिसके चलते बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। जहां व्यापारी दुकानें खोलकर बैठे हैं, लेकिन बाजार में मंदी बनी हुई है। सिर्फ जरूरत का सामान खरीदने ही एक दुक्का लोग बाजार में दिखाई दे रहे हैं।

प्रत्याशी एवं गांव के लोग अपने-अपने प्रत्याशी रिश्तेदारों को जिताने के लिए पूरी तरीके से ताकत झोंकने में लगे हुए हैं। इसके अलावा कई लोग खरीफ बोवनी करने में जुटे हुए हैं, लेकिन मजदूर नहीं मिलने से धान की फसल नहीं लगा पा रहे हैं। जिससे खेती किसानी कार्य बाधित हो रहा है।

अगस्त माह में रक्षाबंधन का त्यौहार होने के कारण व्यापारियों को चिंता सता रही है कि यदि यही स्थिति रही तो उन्हें नुकसान उठाना पड़ सकता है। 16 जुलाई तक चुनाव प्रतिक्रिया चलेगी, कपड़ा व्यापारी विपिन चौरसिया ने बताया कि रक्षाबंधन के चलते कपड़े की खरीदी की थी। बाजार में मंदी न होने के कारण चिंता सता रही है इस बार व्यापार कैसा चलेगा।

किराना व्यापारी विजय साहू ने बताया कि महंगाई को लेकर प्रतिदिन किराने के सामान का रेट बढ़ने के कारण एवं चुनावी माहौल होने कारण व्यापार कम होता जा रहा है। इलेक्ट्रिकल्स व्यापारी विपिन गुप्ता ने बताया कूलर, पंखे इनवर्टर एवं इलेक्ट्रिकल सामान स्टॉक कर लिया था कि व्यापार अच्छा चलेगा चुनाव होने के कारण सामान की बिक्री कम हो गई।

खबरें और भी हैं...