अनदेखी:चंपी चौराहे से होली खूंट वाली सड़क निर्माण शुरू होते ही उठे विवाद के सुर, हुआ हंगामा

नरसिंहगढ़15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एक बार फिर चंपी चौराहे से होली खूंट वाली सड़क को बनवाने का काम नगर पालिका ने रविवार को शुरू किया। लेकिन काम शुरू होने के साथ ही विवाद भी शुरू हो गए। स्थानीय लोगों का आरोप था कि नगर पालिका निर्धारित चौड़ाई की सड़क नहीं बना रही है। कुछ देर तक इसे लेकर हंगामा होता रहा। इसके बाद नगर पालिका के इंजीनियर कपिल मीणा मौैके पर पहुंचे। जहां लोगों ने उनसे कहा कि काम शुरू होने के पहले जब नगर पालिका ने सड़क चौड़ी करने के लिए लोगों के मकानों और दुकानों के अगले हिस्से तुड़वाए थे तब बताया गया था कि सड़क की कुल चौड़ाई 30 फिट रहेगी।

जिसमें 26 फीट की सड़क और दोनों और दो-दो फिट की नाली होगी। लेकिन अब सड़क कम चौड़ी बनाई जा रही है। जिससे लोगों के मकान और दुकान तोड़ने से नुकसान हो गया। क्योंकि नगर पालिका ने ज्यादा तुड़वा कर सड़क की चौड़ाई कम कर दी है। लोगों ने जब कहा कि उन्हें यह सारी जानकारी अखबारों के माध्यम से मिली थीं तो इस पर इंजीनियर ने कहा कि अखबार वाले तो कुछ भी छाप देते हैं। इसके बाद इंजीनियर का विरोध तेज हो गया। बाद में उन्होंने यूटर्न लेकर कहा कि सड़क की कुल चौड़ाई निर्धारित मान से ही रहेगी।

लेकिन इसमें अब नालियों के लिए ज्यादा जगह दी जाएगी। हालांकि इसी बीच इंजीनियर के प्रेस पर आरोप लगाने के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो जाने के बाद अलग-अलग मीडिया संगठनों ने इंजीनियर कपिल मीणा के विरुद्ध प्रशासनिक स्तर पर शिकायत करने की तैयारी शुरू कर दी है।

इस मार्ग पर अबतक पोल शिफ्ट नहीं करवाए
सड़क निर्माण को लेकर नगर पालिका शुरू से गंभीर नहीं रही है। जनवरी 2022 में इसका टेंडर स्वीकृत हो जाने के बाद लंबे समय तक अलग-अलग कारण बताकर काम को रोका गया। पूरी बारिश खुदी हुई सड़क और क्षतिग्रस्त सीवेज टैंक की वजह से लोग गड्ढे में गिरते पड़ते रहे और नलों का दूषित पानी पीते रहे। आखिर तंग आकर पिछले महीने स्थानीय लोगों ने सड़क बनवाने के लिए धरना दिया। तब कहीं जाकर नगरपालिका ने काम जल्दी करवाने का आश्वासन दिया। लेकिन तब भी नगर पालिका की ओर से यह बताया गया कि बिजली के पोल शिफ्ट ना होने की वजह से अभी सड़क नहीं बन पा रही है। दूसरी तरफ बिजली कंपनी का कहना था कि नियम के अनुसार शिफ्टिंग नगरपालिका को ही करवानी है। लेकिन इसके लिए नगरपालिका की डिमांड पर एस्टीमेट बिजली कंपनी देगी। इसी दौरान यह बात भी खुली कि 8 महीनों में नगर पालिका ने कभी भी पोल शिफ्टिंग का एस्टीमेट बनवाने के लिए बिजली कंपनी को कोई लिखित डिमांड भेजी ही नहीं थी।

आखिर तक डीपीआर नहीं लाए
जब मौके पर विवाद चल रहा था तो लोगों ने इंजीनियर से कहा कि वह सड़क की डीपीआर दिखा दे। जिससे सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा। लेकिन आखिर तक इंजीनियर ने डीपीआर नहीं दिखाई। इस मौके पर सड़क निर्माण के लिए लगातार पिछले कई महीनों से सक्रिय रहे युवा व्यवसाई धर्मेंद्र सिंह पवार ने कहा कि वे शासन से स्वीकृत काम को सही स्तर से करवाने के लिए डटे रहेंगे। पिछले 3 महीनों में नगर पालिका कई बार काम को शुरू करवाने की खानापूर्ति करती रही है। जिसमें एक आध दिन काम होता है और फिर बंद हो जाता है।

किया जाएगा समाधान
"जनहित में सड़क जल्दी ही पूरी बनेगी। पूरे प्रकरण का समाधान किया जाएगा।"
-कविता लोकेंद्र वर्मा , नगर पालिका अध्यक्ष , नरसिंहगढ़।

खबरें और भी हैं...