कूनो के चीतों का भोजन बनेंगे राजगढ़ के चीतल:181 चीतल पहले ही पहुंचे कूनो, 1500 और भेजे जाएंगे, हिरन की भी डिमांड

राजगढ़2 महीने पहले

MP के कूनो वन अभयारण्य में नामीबिया से चीते बुलाए गए हैं। इन चीतों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर श्योपुर के जंगल में छोड़ा जाएगा। आने वाले चीतों के भोजन में असुविधा न हो इसके लिए राजगढ़ के जंगल से 181 चीतल श्योपुर भेजे गए हैं।

श्योपुर के कूनो वन्य अभयारण्य में आने वाले चीतों को आसानी से भोजन उपलब्ध हो और उनके भोजन के लिए चीतलों का प्रजनन भी होता रहे इसके लिए 1500 चीतल छोड़े जाएंगे।

राजगढ़ के चिड़ी खो अभयारण्य से 200 चीतल की मांग की गई थी। इसके बदले राजगढ़ वन विभाग ने 181 चीतल श्योपुर भेजे हैं। विभाग द्वारा बताया जा रहा है कि यह चीतल अगस्त में ही राजगढ़ से ले जाकर कूनो वन्य अभयारण्य में छोड़ दिए गए हैं।

500 चीतल भेजे गांधी सागर

कूनो वन्य अभयारण्य के बाद चीतों का अगला पड़ाव गांधी सागर अभयारण्य रहेगा। गांधी सागर अभयारण्य के लिए राजगढ़ से 500 चीतल भेजे गए हैं। राजगढ़ जिले के वन क्षेत्र में कुछ दिन पहले हिरन, चीतल की धमा चौकड़ी देखने को मिलती थी। अचानक इतनी बड़ी संख्या में चीतल बाहर भेजे जाने से अब पर्यटकों को चीतल की धमा चौकड़ी देखने को नहीं मिल रही है।

खबरें और भी हैं...