• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rajgarh
  • The Beauty Has Increased But The Service Lane And Bus selter Of The Highway Are Not Yet Approved

जाली लगाकर पौधे रौपे:सुंदरता बढ़ी पर हाईवे के सर्विस लेन व बस-सेल्टर की अबतक स्वीकृति नहीं

राजगढ़22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हाई-वे के किनारे ब्यावरा नाका क्षेत्र में इस तरह खड़े रहते हैं चार पहिया वाहन - Dainik Bhaskar
हाई-वे के किनारे ब्यावरा नाका क्षेत्र में इस तरह खड़े रहते हैं चार पहिया वाहन

जयपुर-जबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर राजगढ़ के रिहायशी इलाके में मछली मार्केट से लेकर कलेक्टोरेट तक हाई-वे के विकास कार्यों को स्वीकृति नहीं मिली है। विधायक बापूसिंह तंवर ने भी इस मामले में बीते साल पहल की थी, वे मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से भी मिले थे व राजगढ़ में बायपास मार्ग बनाने के लिए मांग की थी। तत्कालीन समय में मध्यप्रदेश सड़क विकास प्राधिकरण के अफसरों ने मौका मुआयना कर करीब साढ़े 3 करोड़ रुपए की लागत से विकास कार्य प्रस्तावित किए थे।

ये प्रस्ताव केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय को करीब डेढ़ साल पहले स्वीकृति के लिए भेजा था, अब तक इन कार्यों की स्वीकृति नहीं मिली है। अलबत्ता शहरी हाई-वे पर प्रस्तावित 5 कार्यों में से सिर्फ चेनलिंग वायरनेस जाली लगाकर पौधरोपण किया गया है। इससे शहरी हाई-वे की सुंदरता तो बढ़ गई है, पर बस सेल्टर, फोरलेन के विस्तार जैसे कई अहम काम अभी भी शुरू नहीं किए जा सके हैं।

प्रस्तावित हैं ये 5 काम, नहीं होने से परेशानी

1. 150 मीटर सर्विस रोड : श्मशान, कलेक्टोरेट, संकट मोचन बस्ती सहित अन्य सर्विस मार्ग।

अभी ये परेशानियां : सर्विस रोड खस्ताहाल हैं, गलत दिशा में सफर करने से हादसों का डर है।

2. मछली बाजार फोरलेन को नेवज के बड़े पुल तक 250 मीटर दायरे में विस्तार करना है।

अभी ये परेशानियां : यहां टू-लेन मार्ग है। पैदल राहगीर व दो-पहिया चालकों को दिक्कतें।

3. डिवाइडर में पौधरोपण के साथ ही चेनलिंग वायरनेस जाली लगाकर पौधों की सुरक्षा।

अभी से स्थिति : डिवाइडर में पौधे रोपे हैं, लाइटिंग के भी समुचित इंतजाम, सुंदरता बढ़ी।

4. बस स्टैंड पर यात्री बसों के लिए बस सेल्टर, ताकि हाईवे से वे सुरक्षित दूरी पर रहें।

अभी ये परेशानियां : बस स्टैंड के बाहर हाईवे पर बसें रुक रही, यहीं यात्रियों की भीड़ रहती।

5. खिलचीपुर नाके से ब्यावरा नाके के मध्य 1 किमी के क्षेत्र में सुरक्षित स्थान पर सर्किल निर्माण।

5. खिलचीपुर नाके से ब्यावरा नाके के मध्य 1 किमी के क्षेत्र में सुरक्षित स्थान पर सर्किल निर्माण।

2 किमी, बीते 2 साल में हाईवे पर हुए ये बड़े हादसे

साल 2020 : 6 दिसंबर को संस्कृति होटल के पास गलत दिशा से आ रही एक बाइक को बचाने के चक्कर में चूने से भरा कंटेनर 50 फीट गहरे नाले में गिरा, इसमें बाइक सवार गंभीर रूप से घायल हुआ। कंटेनर के परिचालक की माैत हो गई थी।

साल 2021 : 16 सितंबर को ऑटो पलटने के बाद कार की टक्कर से भीषण हादसे में पिता-पुत्र सहित 5 ग्रामीणों की मौत हो गई थी। इसी साल राजगढ़ के पूर्व पार्षद सतीष दशेहरिया, 4 दिसंबर को रावतपुरा के बाइक सवार गुलाबसिंह की मौत हुई थी।

ये 4 वजह, इसलिए जरूरी है प्रस्तावित कार्यों की मंजूरी
1. दुर्घटनाएं : रिहायशी क्षेत्र में सड़क दुर्घटनाएं हो रही है।
2. श्मशान घाट : नेशनल हाईवे से आवागमन किया जा रहा।
3. सार्वजनिक स्थल : अंजनीलाल मंदिर, बैंकों की शाखाएं हैं।
4. मेडिकल कॉलेज की प्रस्तावित जगह भी हाई-वे से संबद्ध है।

पुरानी फाइल देखकर पता करूंगा

"अभी इस प्रकार की कोई स्वीकृति की जानकारी मुझे नहीं है। पुरानी फाइल देखकर पता करूंगा कौन-कौन से काम प्रस्तावित किए थे व उनकी स्थिति क्या है, विभागीय पत्राचार भी करेंगे।"
-डीके स्वर्णकार, संभागीय प्रबंधक, एमपीआरडीसी।

खबरें और भी हैं...