क्राइम सीरियल सावधान इंडिया देखकर दिया वारदात को अंजाम:सेठ ने नहीं दिए रुपए तो नौकर व साथियों ने चुरा ली तिजोरी

दलौदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दीपावली की रात किराना दुकान में चोरी की वारदात का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया। इसमें से एक उसी दुकान पर काम करता था। प्रारंभिक पूछताछ में उसने वारदात जरूरत के समय सेठ द्वारा रुपए नहीं देने की बात से नाराज होकर करना स्वीकार किया। उसने यह भी स्वीकार किया कि चोरी का तरीका उसने क्राइम सीरियल सावधान इंडिया में देखकर सीखा था।

एसडीओपी सौरभ कुमार ने बताया गुरुवार रात को बदमाशों ने किराना व्यवसायी काईद जाैहर की किराना दुकान में चोरी की। दुकान की तिजोरी ले गए। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने दुकान में काम करने वाले धंधोड़ा के बद्रीलाल सूर्यवंशी से पूछताछ की।

उसने दो साथी योगेश सूर्यवंशी एवं बबलू उर्फ असलम शाह के साथ वारदात को अंजाम देना स्वीकारा। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर चोरी तिजोरी और उसमें रखे 3 लाख 10 हजार रुपए, वारदात के समय प्रयुक्त मास्क व कपड़े के जले अवशेष एवं वारदात में प्रयुक्त बाइक जिसे दुकान संचालक ने ही बद्रीलाल को घर जाने के लिए दी थी, जब्त की।

इस तरह हुआ पुलिस को बद्रीलाल पर शक :
एसडीओपी के अनुसार हर दिन दुकान अन्य कर्मचारी बंद करते थे। वारदात की रात बद्रीलाल दुकान की चाबी ले गया था। सीसीटीवी फुटेज में भी वारदात को अंजाम दे रहा बदमाश ताले खोलते दिखा। बदमाशों ने गुल्लक व किसी अन्य चीज को हाथ नहीं लगाया। उन्होंने पीछे कमरे की दीवार पर लगी तिजोरी ही चोरी की जबकि गुल्लक में उस समय करीब एक लाख रुपए थे जो पुलिस को सुरक्षित मिले।

बदमाशों ने तिजोरी ले जाने के लिए दुकान के पास स्थित इलेक्ट्रॉनिक शोरूम के पीछे का रास्ता जो कि किराना दुकान से जुड़ा है चुना। शोरूम के दरवाजे बंद होने के चलते आरोपियों ने फर्नीचर की प्लाई काटकर रास्ता बनाया। इसकी जानकारी सिर्फ दुकान के कर्मचारियों को ही थी।

बीमारी में सेठ ने नहीं दिए रुपए इसलिए नाराज हो गया आरोपी : जानकारी के अनुसार कुछ समय पूर्व आरोपी बद्रीलाल ने सेठ से 10 हजार रुपए मांगे लेकिन सेठ ने उसे केवल 500 रुपए ही दिए। इससे नाराज हाेकर बद्रीलाल ने अपने साथियों के साथ मिलकर चोरी की साजिश रची।

जमीन में गाड़ दी थी तिजोरी : चोरी के बाद आरोपियों ने तिजोरी अपने गांव ले जाकर जमीन में गाड़ दी। उन्होंने मौका देखकर तिजोरी काटने की योजना बनाई थी। इसके पहले ही पुलिस ने मामले को ट्रेस कर आरोपियों को गिरफ्तार किया।

खबरें और भी हैं...