नकली नोट छापने का मामला:यू-ट्यूब से सीखा नोट बनाना, पकड़े ना जाएं इसलिए छापते थे 100- 100 के पुराने नोट

गरोठ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपियों से जब्त कलर प्रिंटर व नकली नोट। - Dainik Bhaskar
आरोपियों से जब्त कलर प्रिंटर व नकली नोट।
  • 4 आरोपी गिरफ्तार, एक फरार, एक कलर प्रिंटर और 25200 रुपए के नकली नोट जब्त

नकली नोट छापने के मामले में पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनसे पुलिस ने एक कलर प्रिंटर व 25200 रुपए के नकली नोट जब्त किए हैं। आरोपियों ने 3 माह पहले ही यूट्यूब से नोट बनाना सीखा था। किसी को शंका ना हो इसलिए आरोपी पुराने 100 रुपए के नकली नोट बनाते थे। मामले में फिलहाल एक आरोपी फरार है। उसकी तलाश की जा रही है।

गरोठ थाना प्रभारी शिवांशु मालवीय ने बताया कि मुखबिर सूचना पर 29 जुलाई को ग्राम खड़ावदा पंचायत के आगे नदी वाले रास्ते पर 2 व्यक्तियों को पकड़ा। दोनों ने पहचान ग्राम अल्हेड़ थाना मनासा हालमुकाम ग्राम खड़ावदा निवासी कचरूलाल पिता जेतराम मेघवाल (35) और ग्राम साठखेड़ा निवासी शरीफ पिता मोहम्मद सलीम (22) बताई। कचरूलाल की तलाशी लेने पर उसकी जेब से 100 के नोट वाले 6300 रुपए मिले। शरीफ की तलाशी लेने पर 5300 रुपए मिले। एक जैसे सीरियल नंबर होने पर दोनों को गिरफ्तार किया। पूछताछ पर आरोपियों ने साथी खड़ावदा निवासी मंगल पिता रामलाल बागरी, ईश्वर पिता रामचंद्र मेघवाल व अनिल पिता राजू चौहान के साथ मिलकर नकली नोट रंगीन प्रिंटर पर प्रिंट कर बाजार में चलाना बताया। आराेपियों की निशानदेही पर घर से मंगल व ईश्वर मेघवाल को पकड़ा। उनके कब्जे से रंगीन प्रिंटर तथा दोनों की तलाशी पर मंगल की पेंट की जेब से 100 रुपए के नोट की गड्डी निकली। कुल 7000 रुपए मिले। ईश्वर मेघवाल तलाशी लेने पर 6600 रुपए मिले। नोट जब्त कर आरोपियों को गिरफ्तार किया। मामले में खड़ावदा निवासी अनिल पिता राजू चौहान फरार है। नकली नोट के आरोपियों में से तीन का घर और दुकान पास-पास हैं जबकि दो एक ही जाति के होने के कारण साथ रहते थे। इस दौरान उन्होंने प्लानिंग की।

3 आरोपियों के घर व दुकान पास-पास, 2 आरोपी एक ही जाति के

इस तरह मिले नकली नोट

नाेटों के सीरियल संख्या 5 जीएन 703462 -95 7 क्यूजी 628697- 98 ओईयू 593732- 15 8 के के 919921 -12 1 जीवी 225816- 10 6 जीई 280246 -9 3 डीएम 061869 -9 ओबीएस 922825- 2 3 डीक्यू 469293 -2

कोई पंक्चर बनाता तो कोई एमपी ऑनलाइन पर काम करता है

थाना प्रभारी मालवीय ने बताया मंगल पंक्चर बनाता है। ईश्वर व अनिल खेती, कचरू हम्माली, शरीफ एमपी ऑनलाइन का काम करता है। इन्होंने 3 माह पूर्व ही यूट्यूब से नोट बनाना सीखा। वे 100 रुपए के नोट बनाते थे ताकि किसी को शंका ना हो और नोट आसानी से चल सकें।

खबरें और भी हैं...