पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Jaora
  • A Half And A Half Meter Space Is Required On Both Sides From The Center Line, Only Then A Service Line And Drain Of 5 5 Meters Will Be Made.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बिजली खंभे शिफ्टिंग:सेंटर लाइन से दोनों तरफ साढ़े 10-10 मीटर जगह चाहिए तभी 5-5 मीटर की सर्विसलेन व नाली बनेगी

जावरा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

चौपाटी रोड पर ओवरब्रिज के साथ ही सर्विसलेन, नाली निर्माण और बिजली खंभे शिफ्टिंग के लिए सेंटर लाइन से साढ़े 10-10 मीटर जगह दोनों तरफ चाहिए। 8.4 मीटर चौड़ाई का ब्रिज बनेगा। इसके दोनों तरफ 5-5 मीटर की सर्विसलेन बनेेगी। फिर एक-एक मीटर की नाली बनेगी। इसके बाद आधा मीटर में बिजली खंभे शिफ्ट होंगे। इस तरह कुल 21 मीटर जगह चाहिए। सोमवार को जब तहसीलदार व लाइन शिफ्टिंग एजेंसी के अधिकारी चौपाटी रोड पर साढ़े 10-10 मीटर साइड क्लियर करवाने पहुंचे तो प्रभावितों ने ये कहते हुए विरोध कर दिया था कि पहले तो सिर्फ 10 मीटर तोड़ने की बात हुई थी।

उस अनुसार हमने तोड़फोड़ करके नया निर्माण कर लिया। अब आधा मीटर आगे बढ़ेंगे तो डबल नुकसान होगा, इसकी भरपाई कौन करेगा। इसी मसले पर मंगलवार को सेतु निगम एसडीओ आर.पी. गुप्ता व इंजीनियर एमएल श्रीवास्तव ने मौका देखकर स्पष्ट किया कि जगह तो साढ़े 10-10 मीटर ही चाहिए। इसके नोटिस दिए और मुआवजा भी उसी मान से दिया है।

जिसने कम तोड़ा उसे दाेबारा तोड़ना होगा या प्रशासन उतना हिस्सा तोड़कर जगह क्लियर करेगा। साइड देखने के बाद सेतु अधिकारी भोपाल से आई ऑडिट टीम को थाना रोड पर निर्माणाधीन ब्रिज की जानकारी देने चले गए। इधर तहसीलदार बीएल बामनिया का कहना है कि यदि साढ़े 10 मीटर जगह चाहिए तो उसी अनुसार साइड क्लियर करवाने की कार्रवाई करेंगे। किसी को कम मुआवजा मिलता है तो वह अपील करेगा। कानूनी कार्रवाई करते हुए जल्द साइड क्लियर करेंगे और काम शुरू करवा देंगे।

इधर विधायक ने अफसरों से कहा - काम रुकने नहीं दें

विधायक डॉ. राजेंद्र पांडेय ने देर शाम सेतु निगम अफसरों और ब्रिज निर्माण कांट्रेक्टर देवांग भावसार की बैठक ली। कहा कि कोई भी दिक्कत हो तो बताएं ताकि निराकरण कर सकें लेकिन अब काम को रुकने ना दें। विधायक ने कहा कि वैकल्पिक रोड के लिए प्रशासन से बात कर ली है। जरूरी हुआ तो विधायक निधि से राशि देकर ये काम करवाएंगे।

रेलवे ट्रैक के ऊपर जो 70 मीटर का हिस्सा रेलवे इंजीनियर की देख-रेख में बनना है, उसके भी टेंडर हो चुके हैं। साथ ही अंडरब्रिज के टेंडर भी हो गए, इसलिए सेतु निगम अंडरब्रिज की एप्रोच रोड बनाने की तैयारियां भी समानांतर शुरू कर दें। विधायक ने बताया कि वैसे तो एक बार मुआवजा तय हो चुका। ज्यादातर को भुगतान कर दिया। कुछ में सम्मिलित खाते और टाइटल विवाद होने से रिजर्व कर दिया लेकिन बंटना बाकी है। फिर भी एसडीएम से कहा है कि वे पुन: परीक्षण करवा लें ताकि कोई विसंगति हो तो उसे दूर करवा सकें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें