मांग:जावरा में शुरू की जाए कोरोना के आरटीपीसीआर सैंपल जांच की सुविधा

जावरा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जावरा में रतलाम जिले का उन्नयन श्रेणी का अस्पताल होने के बावजूद यहां कोरोना सैंपल की आरटीपीआर टेस्ट की सुविधा नहीं हैं। ऐसे में सैंपल देने के करीब 48 घंटे तक जांच रिपोर्ट पता नहीं चल पाता। कई बार तो 3 दिन बाद भी रिपोर्ट नहीं आती है।

कोरोना का सैंपल देने के बाद हल्के लक्षण वाले मरीज दो दिन तक रिपोर्ट नहीं आने पर खुद को निगेटिव मानकर घूमने लगते हैं। ऐसे में संक्रमण फैलने का डर रहता है।

कांग्रेस नेता वरूण श्रोत्रिय ने एसडीएम हिमांशु प्रजापति से जावरा के अस्पताल में भी आरटीपीसीआर जांच सुविधा शुरू कराने की मांग की। जांच की व्यवस्था ऐसी की जाए कि मरीजों को 24 घंटे में रिपार्ट मिल जाए। बीएमओ डाॅ दीपक पालडिया का कहना है कि आरटीपीसीआर सैंपल रोज जिला मुख्यालय भेजे जाते हैं। वहीं जांच होती है। जावरा में अभी जांच की सुविधा नहीं है।

खबरें और भी हैं...