पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दीक्षा:पहले पढ़ाई सबकुछ थी, जब संयम जीवन में उतारने का सोचा तो आराधना-प्रतिक्रमण बन गई दिनचर्या

जावरा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 4 दिन बाद 18 वर्षीय मुमुक्षु इशिता संयम जीवन में रखेंगी कदम, 26 से होगी तीन दिवसीय दीक्षा महोत्सव की शुरुआत

कोटा के समीप रावतभाटा निवासी इशिता तिल्लानी सांसारिक मोहमाया का त्याग कर जैन साध्वी बनेंगी। दीक्षा लेकर संयम जीवन के मार्ग पर यात्रा शुरू करेंगी। मुमुक्षु 2020 में बेटमा साध्वी निर्मिताश्रीजी के चातुर्मास में शामिल हुईं और वहीं पर साध्वी सौम्यवंदनाश्रीजी से भेंट हुई। उनसे आध्यात्म ज्ञान मिला।

18 साल की इशिता शुरुआत से ही पढ़ाई में अच्छी थीं और सामाजिक-धार्मिक गतिविधियों में भी रुचि रही। यही कारण है कि इतनी कम आयु में धर्म से जुड़ीं। अब वे रिंगनोद में दीक्षा ग्रहण करेंगी। इशिता बताती हैं कि शुरुआत में पढ़ाई ही सबकुछ थी और सालभर पहले संयम मार्ग अपनाने की इच्छा हुई। चार महीने पहले जब से बेटमा में हुए चातुर्मास में साध्वी सौम्यवंदनाश्रीजी से मिली तो मेरी इच्छा दृढ़ हो गई। यहीं से मेरे जीवन का उद्देश्य बदल गया।

मेरे इस फैसले से माता-पिता को खुशी है और ये उनके लिए गौरव का क्षण है। मुमुक्षु इशिता ने रिंगनोद के पद्मावती धाम तीर्थ पर ही दीक्षा लेने का मन बनाया। यही कारण है कि दो महीने पहले साध्वी सौम्यवंदनाश्रीजी बेटमा से विहार कर रिंगनोद पहुंचीं और उनके साथ ही शिष्या बन इशिता भी रिंगनोद आ गईं और उनके सान्निध्य में रहकर धार्मिक शिक्षा प्राप्त कर रही हैं। अब आचार्य नरदेवसागर सूरीश्वरजी, आचार्य चंद्ररत्नसागर सूरीश्वरजी, आचार्य जिनरत्नसागर सूरीश्वरजी, आचार्य जितरत्नसागर सूरीश्वरजी की निश्रा में नगर में दीक्षा महोत्सव की शुरुआत होगी।

पहले दिन श्री पद्मावती आराधना व मणिभद्रवीर पूजन-हवन हाेगा- पार्श्व पद्मावती पावन धाम ट्रस्ट मंडल कोषाध्यक्ष दिनेश डूंगरवाल, सचिव मोहनलाल मेहता, उपाध्यक्ष विनोद श्रीमाल ने बताया 26 फरवरी से तीन दिनी दीक्षा महोत्सव की शुरुआत होगी। पहले दिन सुबह 8 बजे श्री पद्मावती आराधना, 9 बजे मणिभद्रवीर पूजन-हवन, दोपहर 12.39 बजे श्री सिद्धचक्र महापूजन होगा। शाम 7.30 बजे बहु-बालिका मंडल द्वारा नृत्य व धार्मिक प्रस्तुति दी जाएगी। संगीतकार नवीन डूंगरवाल, चेतन डूंगरवाल सुमधुर भजनों की प्रस्तुति देंगे।

27 काे वर्षीदान वरघोड़ा निकलेगा- 27 फरवरी को सुबह 8 बजे स्नात्र महोत्सव, 9 बजे चल समारोह सह मुमुक्षु के वर्षीदान वरघोड़ा निकलेगा। दोपहर 1 बजे सांझी गीत, मेहंदी व मुमुक्षु द्वारा वर्षीदान किया जाएगा। दोपहर 3 बजे डूंगरवाल परिवार द्वारा सौम्यवंदनाश्रीजी, राजीताश्रीजी, निर्मिताश्रीजी सहित साधु-साध्वियों की उपस्थिति में संयम जीवन में काम आने वाली सामग्री भेंट की जाएगी। 28 फरवरी को सुबह 7 बजे स्नात्र पूजा, 8 बजे दीक्षा प्रयाण वरघोड़ा, 9.13 बजे आचार्यश्री की निश्रा में मुमुक्षु इशिता तिल्लानी को दीक्षा प्रदान की जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें