पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सौंदर्यीकरण:पीलियाखाल का पानी गंदा हो रहा था, किसी ने बोरी बंधान हटा दिया, 3 फीट पानी बहा, 5 फीट ही बचा

जावरा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीलियाखाल स्टॉपडेम से आसपास के निजी व सार्वजनिक जलस्रोत रिचार्ज होते हैं, रहेगी समस्या

नगर के मध्य बहने वाले पीलियाखाल में शंकर मंदिर के सामने स्टापडेम है। जहां पर सितंबर में नगरपालिका ने बोरीबंधान करके पानी रोका था। यह स्टापडेम लबालब हो गया और इससे आसपास के जलस्रोत रिचार्ज हाेते हैं लेकिन किसी ने तीन दिन पहले एक जगह से बोरी बंधान हटा दिया। करीब तीन फीट पानी बह गया। यह बोरी बंधान किसने हटाया ये नपा भी पता नहीं लगा पाई लेकिन ऐसा लग रहा है कि डेम का पानी गंदा हो रहा था। इससे परेशानी किसी क्षेत्र के व्यक्ति ने गुस्से में पानी बहाने के लिए बोरियां हटाई ताकि खाली हो जाए। हालांकि डेम का पानी खाली हो जाता है तो दिक्कत होगी। आसपास के जल स्त्रोत समय से पहले दम तोड़ देंगे। गर्मियों में जलसंकट की समस्या हाेगी। इससे अच्छा है नपा इसकी सफाई करवा दें और यहां कचरा या गंदगी डालने पर रोक लगाएं। जुर्माने के साथ सख्त मॉनीटरिंग करें तो पानी साफ रहने पर किसी को दिक्कत नहीं होगी।

सौंदर्यीकरण प्रोजेक्ट मंजूर लेकिन इसमें लेतलाली
वैसे तो 10.49 करोड़ लागत का पीलियाखाल सौंदर्यीकरण प्रोजेक्ट मंजूर है। वित्तीय स्वीकृति के लिए पत्र भेजा है। इसमें लेतलाली हो रही है। इस प्रोजेक्ट के तहत पीलियाखाल में मिलने वाले 28 गंदे नालों का पानी पाइप के जरिए नगर से बाहर किया जाना है। जब यह प्रोजेक्ट मूर्त रूप ले लेगा, तब समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी। सीएमओ डॉ. केएस सगर का कहना है बोरी बंधान किसने खोला, यह पता नहीं चला लेकिन उसे वापस सही कर दिया है, जो पानी खाली होना था, वह हो गया। अब इससे आगे नहीं होगा। पीलियाखाल सौंदर्यीकरण प्रोजेक्ट के लिए वित्तीय स्वीकृति का पत्र भेज दिया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser