पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हाल-ए-सकारी अस्पताल:हफ्तेभर से एक्सरे फिल्म की कमी, अब मशीन खराब, निजी लैब में लग रहे रुपए

जावरा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सरकारी अस्पताल की एक्सरे मशीन के बाहर लगा मशीन खराब का बोर्ड। - Dainik Bhaskar
सरकारी अस्पताल की एक्सरे मशीन के बाहर लगा मशीन खराब का बोर्ड।
  • इधर कायाकल्प जारी, उधर सुविधा के लिए मरीज लगा रहे हैं चक्कर

सरकारी अस्पताल में मरीज का इलाज तो हो रहा है लेकिन हड्‌डी संबंधी बीमारी या गंभीर चोट पर मिलने वाली एक्सरे की सुविधा हफ्तेभर से बंद है। अब मशीन भी खराब हो गई। अस्पताल में राेज ओपीडी में 250 से अधिक मरीज आते हैं, जिनमें से 15-20 मरीज एक्सरे के लिए आते हैं।

अस्पताल में एक्सरे मशीन बंद होने से किसी को भी सुविधा नहीं मिल रही। एक्सरे की सबसे ज्यादा जरूरत घायल मरीजों का होती है, साथ में कुछ पुराने मरीज भी होते हैं। ओपीडी में चेकअप के दौरान डॉक्टर उन्हें एक्सरे के लिए लिख तो देते हैं लेकिन जब एक्सरे करवाने जाते हैं तो मना कर दिया जाता है। कर्मचारी की मजबूरी कि एक्सरे फिल्म की शार्टेज होने के कारण उसे मना करना पड़ता है। हफ्तेभर से मरीजों को एक्सरे के लिए परेशानी उठाना पड़ रही है। अस्पताल प्रबंधन के अनुसार फिल्म के लिए अवगत करा चुके हैं।

कई बार एक साइज की एक्सरे फिल्म उपलब्ध होती है लेकिन अन्य साइज की एक्सरे फिल्म उपलब्ध नहीं होने के कारण मरीजों को मना करना पड़ता है। ये सुनकर मरीजों को बिना एक्सरे करवाए ही वापस लौटना पड़ रहा है।

मरीजों की सुविधा की तरफ किसी का ध्यान नहीं

सरकारी अस्पताल का लाखों रुपए से कायाकल्प हो रहा है, जिसमें रंगरोगन से लेकर वार्ड, लाइट फिटिंग सहित अन्य काम करवाए जा रहे है। इसमें पानी की तरह पैसा बहाया जा रहा है लेकिन मरीजों को दी जाने वाली एक्सरे सुविधा की तरफ किसी का ध्यान नहीं। मरीजों का कहना है कि सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए आते हैं ताकि यहीं पर दवा मिल जाए और एक्सरे भी हो जाए। बाद में मना करने पर गुस्सा आता है कि मशीन की सुविधा होने के बाद भी खाली लौटना पड़ा।

फिल्म खत्म होने का ये भी है एक कारण

अस्पताल में एक्सरे की सुविधा सभी को दी जाती है लेकिन कई बार फिल्म गिनती की रहती है। कई बार मरीज अनावश्यक रूप से भी एक्सरे लिखवा लेते हैं। इनमें से अधिकतर अपने एक्सरे लेकर भी नहीं जाते। ऐसे में उक्त एक्सरे फिल्म का उपयोग नहीं हो पाता। अस्पताल में डॉक्टर जरूरी होने पर की एक्सरे लिखें तो एक्सरे फिल्म की किल्लत पर कुछ हद तक नियंत्रण किया जा सकता है। ऐसे में दुर्घटना में घायल होकर अस्पताल पहुंचे गंभीर मरीजों का भी एक्सरे नहीं हो पाता है।

एक्सरे मशीन एक-दो दिन में चालू करवा देंगे

बीएमओ डॉ. दीपक पालड़िया ने बताया कि फिल्म की तो कमी है और मशीन से जुड़े तार में कोई टेक्नीकल मिस्टेक की जानकारी मिली है। एक-दो दिन में जो भी समस्या है उसे दूर कर देंगे। सभी के एक्स-रे जल्द शुरू होंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें