• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Jaora
  • Neither The Fair Was Held Nor The Procession Of The Signs Came Out, The Aarti Took Place At 12 O'clock, The Devotees Saw From Afar

तेजादशमी पर कोरोना इफेक्ट:न मेला लगा, न निशानों का जुलूस निकला, 12 बजे हुई आरती, भक्तों ने दूर से किए दर्शन

जावराएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस बार सब समारोह हो गए निरस्त

नगर सहित ग्रामीण अंचल में शुक्रवार को तेजादशमी मनाई गई। मंदिरों पर सत्यवीर तेजाजी महाराज की कथा हुई। कई स्थानाें पर निशान निकले। दोपहर में आरती के बाद प्रसादी बांटी। मन्नत वालों ने तांतियां उतारीं। इस बार कोविड-19 का असर तेजादशमी पर दिखा। गांव आक्यादेह में लगने वाला मेला भी नहीं लगा। वहीं जहां हर साल 20 हजार श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते है, वहां कम श्रद्धालु पहुंचे।
गांव आक्यादेह स्थित तेजाजी मंदिर पर दोपहर 12 बजे पं. युगलकिशोर भट्‌ट ने महाआरती कराई। कोरोना प्रोटोकॉल के तहत न मेला लगा और न भंडारा हुआ। भक्तों के दर्शन के लिए फिजिकल डिस्टेंसिंग रखी गई। हर बार आसपास ग्रामीण क्षेत्रों से हजारों की तादाद में भक्त जुटते हैं, इस बार संख्या कम रही। तेजाजी मंदिर भक्तों की आस्था का केंद्र है। जहां पर जहरीले जीव-जंतुओं के दंश से पीड़ितों की तांतियां उतारी जाती हैं। इस बार आक्यादेह में मेला नहीं लगने से रौनक फीकी रही।
मन्नत के निशान चढ़ाए : बड़ावदा | सुबह तेजाजी मंदिर पर फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ भक्तों ने दर्शन किए। मन्नत के निशान चढ़ाए। हर साल अखाड़े, डीजे व बैंडबाजों के साथ निशान निकलते हैं। कोरोना के चलते इस बार कोई आयोजन नहीं हुआ।

जुलूस में गिने-चुने लोग हुए शामिल
केरवासा | तेजादशमी पर हर साल गांव भूतेड़ा में चल समारोह अश्वमेघ पर व बग्घी में निकलता है। इस बार थैला गाड़ी में निकला। नागदेवता मंदिर पर भक्त पहुंचे, फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ पूजा व दर्शन किए। मन्नत पूरी होने वाले लोग ढोल-ढमाकों के साथ निशान लेकर मंदिर पहुंचते हैं। मंदिर में सिर्फ नारियल का प्रसाद चढ़ाकर लौट आए। चल समारोह में गिने-चुने लोग ही शामिल हुए।

बिना ढोल-ढमाकों के निशान निकले और तांतिया चढ़ाईं
रोजाना | तालाब किनारे स्थित वीर तेजाजी मंदिर पर यज्ञ हुआ। गोविंदराम जाट, भंवरलाल जाट ने तांतिया चढ़ाईं। बिना ढोल-ढमाकों के साथ निशान निकाले गए। मंदिर पर दर्शन के लिए भाजपा नेता केकेसिंह कालूखेड़ा, डॉ. दिलीप शाकल्य, कानसिंह चौहान, सुनील भावसार, विवेक पोरवाल, राजाराम जाट आदि पहुंचे।

तेजाजी महाराज की प्रतिमा स्थापित की, हवन हुआ
बड़ायला चौरासी | हनुमान मंदिर प्रांगण स्थित तेजाजी मंदिर तेजाजी महाराज की प्रतिमा को क्रेन के माध्यम से स्थापना की गई। इसे राजस्थान के गांव सिकंदरा से मंगवाया गया। शुक्रवार सुबह मंदिर पर हवन की पूर्णाहुति हुई।

मार्च तक रहेगा कोरोना, नवरात्रि से तीन माह होगी बारिश
बरेछा स्थित नागदेवता मंदिर पर पंडा मंागीलाल शर्मा ने भविष्यवाणी की। बताया कि कोरोना मार्च 2021 तक रहेगा। अप्रैल से यह बीमारी खत्म होने लगेगी। 30 अगस्त से 8 सितंबर के बीच भारी बारिश होगी। लगातार 12 दिन पानी गिरेगा। फसलें खराब होने के आसार हैं। नवरात्रि से लेकर तीन माह तक भी बारिश होगी। दीपावली के आसपास देश में युद्ध की अाशंका है। पाैष माह में खड़ी फसल में हानि होगी। दाह पड़ेगा, ओलावृष्टि भी होगी। माघ में पानी के साथ संक्रमण बढ़ेगा। लहसुन के भाव अच्छे रहेंगे।

खबरें और भी हैं...