नगरपालिका / बाजारी शुल्क 5 से 12 रुपए करने पर दुकानदार में नाराजगी

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

जावरा. नगरपालिका ने लॉकडाउन के दौरान पारित बजट 2020-21 में तेज बाजारी शुल्क यानी रोड किनारे अस्थायी दुकान लगाने वाले पथ विक्रेता, फुटकर दुकानदारों से लिया जाने वाला शुल्क बढ़ा दिया है। पहले यह 5 रुपए प्रति दुकानदार था लेकिन अब इसे 10 रुपए कर दिया है और जीएसटी मिलाकर 12 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से वसूली हो रही है। नपा हर साल इसकी वसूली के लिए ठेका देती है लेकिन इस बार नया ठेका होना बाकी है। तब तक नपाकर्मी ही तेजबाजारी शुल्क वसूल रहे हैं। दोगुना बढ़ोतरी के साथ शुल्क वसूली अप्रैल से शुरू भी कर दी गई है। इससे पथ विक्रेता में नाराजगी है। पथ विक्रेता कन्हैयालाल हाड़ा ने बताया कि पहले ही लॉकडाउन में बमुश्किल तो धंधा शुरू हुआ है और ऐसे में नपा ने राहत की बजाय मनमानी वसूली शुरू कर दी है। पुराने 5 रुपए रसीद वाले कट्टे पर ही 12 रुपए वसूले जा रहे हैं। जबकि नपा को इसमें छुट देना थी। मामले में नपा सीएमओ डॉ. केएस सगर ने बताया पथ विक्रेता शुल्क बढ़ोतरी के आगे से निर्देश थे। इसके बदले नपा सफाई व अन्य सुविधा मुहैया करवाती है। लॉकडाउन में नए रसीद कट्टे नहीं बने थे, इसलिए कुछ दिन पुराने रसीद कट्टे पर बढ़ोतरी वाले शुल्क की मुहर लगाकर वसूली की जा रही है। शुक्रवार को नई रसीदें छपवा ली हैं, अब नई रसीद दी जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना