पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मिठास का ट्रेंड:9 महीने में घटी मिठाई की बिक्री, संक्रांति पर 5% बढ़ी तिल-गुड़ की डिमांड

जावरा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब त्योहारों के प्रति दिखाई दे रहा लोगाें में उत्साह, आज घरों में घुलेगी तिल-गुड़ की मिठास

मार्च के बाद से हर त्याेहार कोरोना के कारण फीका पड़ गया था। इसके कारण बाजारों में मिठाइयों की बिक्री भी घट गई थी। नए साल की शुरुआत में मकर संक्रांति पर्व पर कोरोना का इफेक्ट नजर नहीं आया। बाजारोें में तिल-गुड़ की डिमांड 5 फीसदी तक बढ़ी है। चूंकि जावरा की गजक विदेश तक में प्रसिद्ध है। ऐसे में लोग स्नेहीजन के लिए स्पेशल आॅर्डर देकर बनवाते हँ। साल बदलते गए और पीढ़ियों के साथ ही गजक के आकार बदलते गए। आज बाजार में 10 से 12 तरह की गजक की वैरायटियां मौजूद हैं। नगर में गजक की 15 से 20 दुकानें हैं। कई दुकानदार हैं जो 70-80 साल से गजक का व्यवसाय कर रहे हैं। शुरुआत में तिल व मूंगफली की कुटी हुई गजक बनती थी और वहीं आज भी लोगों द्वारा पसंद की जाती है। गुड़ से बनी मूंगफली की गजक की डिमांड सऊदी अरब, पाकिस्तान, मुंबई, चित्तौड़गढ़, पूना, इंदौर तक है। हर साल गजक विदेशों तक पार्सल होकर पहुंचती है। परिवार के लोग अपनों को संक्रांति की शुभकामनाओं के साथ प्यार भेजते हैं। समय के साथ गजक में वैरायटियां भी आई हैं। इसमें तीसरी पीढ़ी में ड्रायफूट गजक, ड्रायफ्रूट बर्फी, ड्रायफूट समोसा, ड्रायफूट कटलस, बिस्किट वाली गजकों का ट्रेंड बढ़ा है। नए फ्लेवर के साथ लोग पसंद कर रहे हैं। गजक विक्रेता नितेश राठौर ने बताया क संक्रांति पर तिल के लड्डू, रेवड़ी, मूंगफली की बनी गजक डिमांड में रहती है। रोज सैकड़ों लोग खरीदते हैं। सक्रांति के आसपास के दिनों में बिक्री बढ़ जाती है। शुरुआत में लोग शौकियाना खरीदते हैं और पर्व नजदीक आते ही बल्क में खरीदी शुरू हो जाती है। इस बार भी बाजार में अच्छी ग्राहकी है।

-नई वैरायटी में गजक 250 से 400 रुपए किलो में बिक रही

नई वैरायटी की गजक में ड्रायफ्रूट समोसा गजक 400 रुपए किलो, ड्रायफ्रूट काजू कटलस 400 रुपए किलो, बर्फी गजक 300 रुपए किलो, गुड़ के बिस्किट 250 रुपए किलो, दाने की गजक 200 रुपए, गुड़ की गजक 200 रुपए किलो, शकर की गजक 250 रुपए किलो में बेची जा रही है।

डिजाइनर पतंगों का चलन बढ़ा
पतंगबाजी के लिए बार नई वैरायटी के साथ डिजाइनर पतंग बाजार में आई है। इसमें देशभक्ति से लेकर पॉलीटिकल चेहरे, कार्टून के साथ सिम्बोलिक पतंगें शामिल हैं। पतंग विक्रेता योगेश (राजू) परिहार ने बताया कि पिछले साल तक एक-दो रुपए की पतंग भी बिकती थी और महंगी पतंग 20 रुपए तक की थी। अब 3 से लेकर 40 रुपए तक की पतंगें बिक रही हैं। इसे बच्चे ज्यादा पसंद कर रहे हैं। बाजार में घरों की सजावट के लिए भी छोटी पतंगे हैं जो 3 रुपए की एक और 5 रुपए में दो बिक रही है। संक्रांति पर्व को मनाने के लिए दिनभर बाजारों में चहल-पहल रही। कुछ युवाओं का कहना है कि इस बार वे मकर संक्रांति का पर्व अपने परिवार के साथ मनाएंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser