पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Jaora
  • Small Farmers Are Upset Due To Not Being Able To Auction The Produce In The Heap, The Freight Being Expensive By Buying In The Trolley

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समस्या:ढेर-बोरी में उपज नीलामी नहीं होने से छोटे किसान हैं परेशान, ट्रॉली में खरीदी से महंगा पड़ रहा भाड़ा

जावराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिनके पास दो-तीन बोरी उपज है वे मंडी तक नहीं पहुंच पा रहे, औने-पौने दाम पर बेचने की मजबूरी

कोरोनाकाल में पहले लंबे समय तक मंडियां बंद रहने से किसान परेशान हुए। लॉकडाउन के बाद से मंडियां खुलीं लेकिन ढेर रूप में अथवा बारदान में नीलामी शुरू नहीं करने से कई छोटे किसान परेशान हैं। दोनों ही मंडियों में सारी उपज सिर्फ ट्रॉली या पिकअप समेत अन्य वाहनों में ही नीलाम की जा रही है। ऐसे में वे किसान जिनके पास एक-दो बाेरी उपज है वे मंडी तक नहीं जा पा रहे हैं। ग्रामीण व्यापारियों को ही मजबूरी में औने-पौने दाम पर उपज बेचकर खेती व घर खर्च चला रहे हैं। मंडियों में उपज नीलामी सिर्फ वाहनों में की जा रही और हर किसान के पास खुद के वाहन नहीं हैं। 65 फीसदी से ज्यादा किसानों को किराये के वाहन लेकर मंडी तक आना पड़ रहा है। जिनके पास 20 बोरी से ज्यादा उपज है, उन्हें वाहन से लाने में दिक्कत नहीं लेकिन कम उपज वाले किसानों को वाहन लेकर आना महंगा पड़ रहा है। 8-10 किमी दूर से भी यदि किसान ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर आए तो उसे एक हजार से 1500 रुपए तक भाड़ा देना पड़ता है। लहसुन में तो ज्यादा भाड़ा लग रहा क्योंकि वाहन एक दिन में फ्री नहीं हो रहा। लहसुन मंडी में सिर्फ एक दिन में 350 वाहन में उपज खरीदने की क्षमता है और रोज इससे दोगुने वाहन आ रहे हैं इसलिए किसानों की उपज दूसरे दिन नीलाम हो रही है। ऐसे में भाड़ा भी दो दिन का लग रहा है। ग्राम निपानियालीला निवासी जगदीशचंद शर्मा ने बताया कि मेरे सहित कई किसान हैं जिन्हें दो या तीन बोरी सोयाबीन बेचना है और मंडी करीब 45 किमी दूर है। इतनी दूर से एक वाहन में सभी उपज ले जाएं तो वहां ढेर या बोरी में नीलामी नहीं हो रही। ऐसे में सभी अलग-अलग वाहन से जाएं, यह संभव नहीं है। प्रशासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए। किसान नेता रमेश धाकड़ ने बताया कि पखवाड़ेभर पहले मंडी भारसाधक अधिकारी से मिलकर ढेर व बारदान में नीलामी करवाने की मांग की थी लेकिन अब तक व्यवस्था लागू नहीं हुई। इससे किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

कृषि मंडी में आज से 3 दिन छुट्‌टी, सब्जी मंडी चालू रहेगी
महाअष्टमी, नवमी और दशहरा होने से कृषि उपज मंडी में शनिवार से सोमवार तक तीन दिन छुट्‌टी रहेगी। मंडी निरीक्षक सुरेश शर्मा ने बताया जावरा, अरनियापीथा कृषि मंडी, बड़ावदा व पिपलौदा उपमंडी 3 दिन बंद रहेगी जबकि नगर में थोक सब्जी मंडी इस दरमियान चालू रहेगी।
दशहरे बाद ढेर में उपज की नीलामी शुरू कर देंगे
^कम उपज वाले किसानों की परेशानी जानकारी में आई है। अभी तीन दिन अवकाश है और दशहरे बाद मंगलवार से जब मंडी खुलेगी तो ढेर में नीलामी शुरू करवाएंगे। ऐसी व्यवस्था बनाएंगे कि एक शिफ्ट में ढेर में और दूसरी शिफ्ट में वाहनों में उपज की नीलामी करवाई जाएगी।
राजेश गोयल, सचिव कृषि मंडी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें